यों का मजा..तो इन छुट्टियों यहां जरुर जायें
सर्च
 
सर्च
 

चिदंबरम पर्यटन – भगवान नटराज का शहर

चिदंबरम एक मंदिरों का शहर है जो तमिलनाडु के कुड्डालोर जिले में स्थित है। यह शहर अपने अनोखे स्थलों, प्राचीन द्रविड़ वास्तुकला और भव्य गोपुरमों के लिए जाना जाता है। सुबह-सुबह मंदिर में बजती घंटियों की आवाज सुनते आप एक कप गर्म फिल्टर कॉफी पीने के लिए उठते हैं और चिदंबरम शहर एक यात्री को सब कुछ प्रदान करता है जो वे इस सर्वोत्कृष्ट तमिलनाडु के मंदिरों के शहर से उम्मीद करते हैं।

Chidambaram photos, Thillai Natarajar temple - Thillai Natarajar temple
Image source: www.wikipedia.org
सोशल नेटवर्क पर इसे शेयर करें

इस शहर के बारे में सोचते समय मन में कई विचार आते हैं। लेकिन उनमें सबसे पहला होगा शानदार चिदंबरम नटराजर मंदिर जिसके लिए यह शहर सुप्रसिद्ध है। इस मंदिर में पूजे जाने वाले प्रमुख देवता भगवान शिव हैं, जो इस शहर को शिव भक्तों के लिए एक पसंदीदा स्थान बनाता है।

यह मंदिर तमिलनाडु के 5 शिव मंदिरों यह पन्च भूत स्थलों में से एक है और प्रत्येक मंदिर 5 तत्वों (हिंदू अवधारणा के अनुसार, पन्च भूत तत्व वायु, जल, पृथ्वी, अग्नि और आकाश) में से एक के साथ जुड़ा हुआ है।

चिदंबरम और उसके आसपास के पर्यटन स्थल

अन्य मंदिरों में वायु तत्व के साथ जुड़ा कालहस्ती नाथर मंदिर, अग्नि तत्व के साथ जुड़ा थिरुवन्नमलाई अरुणाचलेश्वर मंदिर, पृथ्वी तत्व के साथ जड़ा कांची एकअंबरेश्वर मंदिर और पानी तत्व के साथ जुड़ा तिरुवन्नाइकवल जम्बूकेश्वर मंदिर शामिल हैं।

भले ही, यह एक मात्र ऐसा शिव मंदिर है जिसमें शिव को "नटराज", नृत्य के देवता के रूप में पूजा जाता है। लेकिन यह एक दिलचस्प बात है कि बाकी हर मंदिर में शिव भगवान को "शिवलिंग" के रूप में पूजा जाता है। यह शायद एक ऐसा प्रमुख मंदिर भी हो सकता है जहां भगवान शिव और महाविष्णु दोनों को एक साथ पूजा जाता हो।

इस मंदिर में जहां भगवान शिव को पूजा जाता है वहीं भगवान विष्णु को भगवान गोविन्दराज पेरूमल के रूप में पूजा जाता है। इस तरह चिदंबरम नटराजर मंदिर शैव तथा वैष्णव दोनों के लिए एक तीर्थ स्थान बना जाता है। दुनिया के और किसी भी एक स्थान से भक्त इन दोनों देवताओं की पूजा एक साथ नहीं कर सकते हैं।

मंदिरों और शैक्षिक संस्थानों का एक शहर

चिदंबरम में देखने के लिए केवल चिदंबरम नटराजर मंदिर ही नहीं बल्कि अन्य कई मंदिर भी हैं। विभिन्न युगों में विभिन्न राजवंशों द्वारा निर्मित किए गए ये मंदिर बीते समय की स्थापत्य उत्कृष्टता को दर्शाते हैं। इन में से कई मंदिरों की मरम्मत कर उन्हें सुधारा गया है और इन में चिदंबरम नटराजर मंदिर भी शामिल है।

यहां अन्नामलाई विश्वविद्यालय भी है जोकि देश के प्रमुख विश्वविद्यालयों में से एक है तथा इसके अंतर्गत सैकड़ों कॉलेज आते हैं। यह शहर अपने आभूषण उद्योग के लिए भी प्रसिद्ध है। यहां सोने और चांदी के गहने बनाने की कला को पीढ़ी से पीढ़ी को सौंपा गया है।

इस अनूठे मंदिरों के शहर के निकट नेवेली औद्योगिक नगर नामक उद्योग का एक विशाल क्षेत्र स्थित है। यह औद्योगिक क्षेत्र अपने लिग्नाइट खानों और विद्युत उत्पादन संयंत्रों के साथ, चिदंबरम से सिर्फ 30 किलोमीटर की दूर पर स्थित है।

चिदंबरम का मौसम

चिदंबरम एक ऐसा स्थान है जहां आप बिना किसी मौसमी परेशानी के साल के किसी भी समय में शहर की सैर का पूरा आनंद ले सकते हैं। चाहे गर्मियों का मौसम हो या सर्दियों का, चिदंबरम शहर अपने यात्रियों को एक जैसा अनुभव महसूस करता है। हालांकि, सुहावने मौसम में यात्रा करना उचित होगा।

कैसे पहुंचे चिदंबरम

चिदंबरम शहर अच्छी सड़कों के माध्य से पूरे तमिलनाडु से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। चेन्नई के निकट स्थित होने के कारण यह उन लोगों के लिए एक सहज स्थान है जो चेन्नई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरकर अन्य जगहों की यात्रा करना पसंद करते हैं।

चिदंबरम शहर खरीदारी के ढ़ेर सारे विकल्प को भी प्रदान करता है, वो भी तब जब बात देशी हस्तशिल्पों की हो जिसके लिए यह शहर प्रसिद्ध है। आप यहां इतिहास का एक टुकड़ा एवं विरासत का एक टुकड़ा खरीदने के लिए आ सकते हैं जोकि दुनिया में कहीं नहीं लेकिन यहां मिल सकता है। ऐसा करके आप उस संस्कृति का हिस्सा बन जाते हैं। आप चिदंबरम में स्मृति चिन्हों की खरीदारी नहीं; बल्कि कला से संबंधित अनमोल संग्रह की खोज करते हैं।

Please Wait while comments are loading...