यों का मजा..तो इन छुट्टियों यहां जरुर जायें
सर्च
 
सर्च
 

अल्मोड़ा...उत्तराखंड का खूबसूरत होलीडे डेस्टिनेशन

उत्तराखंड में स्थित अल्मोड़ा दूर दूर तक फैले बर्फ के पहाड़, उनपर बिखरी रुई की जैसी सफ़ेद बर्फ, फूलों से भरे हुए खुशबूदार पेड़ इन छुट्टियों आपको बुला रहें हैं..तो बिना देरी किये पहुंच जाइये अल्मोड़ा

Written by: Goldi
Updated: Thursday, May 4, 2017, 11:48 [IST]
Share this on your social network:
   Facebook Twitter Google+ Pin it  Comments

छुट्टियों का दौर शुरू हो चुका है..ऐसे में सभी अपनी छुट्टियाँ प्लान करने में लगे हैं कि, आखिर इस बार छुट्टियों में कहां जाया जाए..अगर अप भी इसी कशमकश है। तो डोंट वर्री क्यों कि आज हम आपको अपने लेख के जरिये आपको अवगत कराने जा रहें हैं उत्तरांचल के खूबसूरत होलीडे डेस्टिनेशन अल्मोड़ा के बारे में।

                        इन छुट्टियों दिल्ली के बच्चे होंगे..और भी स्मार्ट..जाने कैसे

उत्तराखंड में स्थित अल्मोड़ा दूर दूर तक फैले बर्फ के पहाड़, उनपर बिखरी रुई की जैसी सफ़ेद बर्फ, फूलों से भरे हुए खुशबूदार पेड़, नर्म मुलायम घास, कल कल करते चांदी की भांति गिरते झरने और मन को मोह लेने वाले मनोरम दृश्य को देख कर ऐसा महसूस होता है जैसे 'अल्मोड़ा' खूबसूरत विशाल पहाड़ों की गोद में आराम कर रहा हो।

                            ये है लेह लद्दाख का गहना..इन्हें घूमना बिल्कुल भी ना भूले

वाकई इसके सौंदर्य की जितना भी व्याख्या की जाये उतनी ही कम है। अल्मोड़ा में मकान लकड़ी के बनाये जाते हैं जो कि पहाड़ियों की ढलान पर होते हैं। तो इतना सोचिये मत हम आपको बताते हैं अल्मोड़ा में कब कहाँ जाएँ बस एक नज़र में।

ब्राइट एन्ड कार्नर

माल रोड पर स्थित जगह इस जगह से सूर्यास्त के दृश्य दिखाई पड़ते हैं। यहाँ पर पास में ही कैंट कैफेटेरिया है जहाँ पर बैठकर हलके फुल्के नाश्ते चोटी से आप बर्फ से ढके हिमालय के अद्भुत दृश्यों को अपनी आँखों में कैद कर सकते हो।  PC: rajkumar1220

नैना देवी मंदिर

नैना देवी मंदिर की दीवारों पर रची गई मूर्तियां देखने लायक हैं। यह मंदिर धार्मिक महत्ता के साथ साथ अपनी आकर्षक रौनक के लिए भी पर्यटकों के बीच लोकप्रिय है। अल्मोड़ा के मुख्य बाज़ार के बीच में यह मंदिर पड़ता है जो कि बताया जाता है कि सैंकड़ों वर्ष पुराना है। PC:Gautam Dhar

चितई गोलू देवता-

चितई मंदिर अपनी लोकप्रियता का एक जीता-जागता उदाहरण है जो पर्यटकों की आस्थाओं का प्रतिक है।शहर से चौदह किलोमीटर की दूरी पर स्थित इस मंदिर की प्रसिद्धि दूर दूर तक फैली हुयी है ।यहाँ लोग चिट्ठियों के रूप में अर्जी लगाते हैं और मनोकामना पूर्ण होने पर घंटियां लगवाते हैं। PC:Enjoymusic nainital

 

कोसी

अल्मोड़ा से 13 किमी की दूरी पर स्थित कोसी एक बेहद खूबसूरत एक रमणीक स्थल है। पर्यटकों को यहाँ का शांत वातावरण इतना भाता है कि वह घंटों तक यहीं ठहर जाते हैं। PC:Rajarshi MITRA

कसार देवी

कसार देवी मंदिर एक पहाड़ी पर बना है जो कि काफी प्राचीन है। यह मंदिर अल्मोड़ा से तक़रीबन 5 किलोमीटर की दूरी पर है। अगर आप यहाँ आना चाहते हैं तो आपको बतादें कि इसी के कुछ ही दूरी पर एक खूबसूरत पिकनिक स्थल है जो कि 'कालीमठ' के नाम से जाना जाता है। 
PC:Rajeshchaunsali 

बिनरस

बिनरस मंदिर का शांत वातावरण पर्यटकों को खींचे लिए आता है। कहा जाता है कि इस मंदिर का निर्माण चंद्रवंशी राजा कल्याण ने करवाया था। अगर आप भी मन की शांति चाहते हैं तो यहाँ अवश्य आएं। 
PC:rajkumar1220 

जागेश्वर

जागेश्वर मंदिर कलात्मक शैली का बहुत ही खूबसूरत प्राचीन मंदिर है जो कि स्थापत्य कला का बेजोड़ नमूना है। इस मंदिर को द्वादश ज्योर्तिलिंग में एक माना जाता है। इसी के कुछ ही दूरी पर एक खूबसूरत पहाड़ी है जिसे 'हरी झंडी' के नाम से जाना जाता है, साथ ही इस जगह अप अपने दोस्तों और परिवार के साथ पिकनिक का भी लुत्फ उठा सकते हैं। 
PC: Prateek Rungta 

बिनसर वाइल्ड लाइफ-

अल्मोड़ा से तीस किलोमीटर की दूरी इस जगह से तो लगभग सभी लोग परिचित ही होंगे। गजब की हिमालय श्रृंखला दिखती है यहाँ से। 
PC: SudiptoDutta 

बागेश्वर

बागेश्वर में बागनाथ का मंदिर पर्यटकों के बीच खासा लोकप्रिय है। यह सरयू नदी के तट पर बसा है कहा जाता है कि इस मंदिर को 1450 में बनवाया गया था। अगर आप यहाँ की सैर करना चाहते हैं तो आपको बतादें कि यहाँ खाने पीने की उत्तम व्यवस्था है। PC:Chawlaharmeet

कटारमल

कोसी के पास में कटारमल नाम के गांव में प्रसिद्ध सूर्य मंदिर है, कहने वाले ऐसा कहते हैं कि यहाँ पर कोणार्क के सूर्य मंदिर की झलक दिखती है।
PC: Aeroshanks2016 

बैजनाथ

बैजनाथ प्राचीन तत्व के मंदिरों के समूण की एक श्रंखला है। जहाँ भगवान शिव, पार्वती और गणेश के मंदिर दर्शनीय हैं। बताया जाता है कि यह मंदिर 12 वीं 13 वीं शताब्दी के हैं जिसे कत्यूरी वंश के राजाओं ने बनवाया था। इन मंदिरों की कलात्मक शैली और इनकी स्थापत्य कला बेजोड़ है। PC: Spatni2

ट्रैकिंग

अगर आप भी ट्रेकिंग के शौक़ीन हैं तो यहाँ जाना मत भूलियेगा। यहाँ ट्रेकिंग करने का अपना अलग ही मज़ा है। मुक्तेश्वर, लमगड़ा, जालना, शीतलाखेत, मोरनौला आदि जगह आप ट्रेकिंग का मज़ा ले सकते हैं। 
PC:Travelling Slacker 

खरीददारी

 अल्मोड़ा में पर्यटक लाल बाजार से खरीददारी कर सकते हैं..यहां ऊनी कपड़े बेहद सस्ते दामों में सैलानी खरीद सकते हैं..

अल्मोड़ा में कहाँ ठहरें

अल्मोड़ा के होटलों की अधिक जानकारी के लिए बस एक क्लिक करें
Photo Courtesy: Travelling Slacker  

अल्मोड़ा कैसे जाएँ

 रेल मार्ग- निकटतम रेलवे स्टेशन काठगोदाम है, जो अल्मोड़ा से 91 किलोमीटर दूर है। दिल्ली,हावड़ा, बरेली, रामपुर आदि शहरों से यहाँ के लिए नियमित रूप से ट्रेनें चलती हैं। काठगोदाम से अल्मोड़ा के लिए स्थानीय बसें व टेक्सी सेवाएं उपलब्ध हैं।

सड़क मार्ग - समीपवर्ती प्रदेशों से अल्मोड़ा के लिए राज्य परिवहन निगम की सीधी बस सेवाएं उपलब्ध हैं। हल्द्वानी, काठगोदाम और नैनीताल से नियमित बसें अल्मोड़ा जाने के लिए चलती हैं। ये सभी बसे भुवाली होकर जाती हैं। भुवाली से अल्मोड़ा जाने के लिए रामगढ़, मुक्तेश्वर वाला मार्ग भी है। परन्तु अधिकांश लोग गर्म पानी के मार्ग से जाना ही उत्तम समझते हैं। क्योंकि यह मार्ग काफी सुन्दर तथा नजदीकी मार्ग है। 
PC: Rajarshi MITRA 

अल्मोड़ा कब जाएँ

अल्मोड़ा में गर्मियों में भी सुबह शाम हलकी ठंड रहती है, इसलिए गर्मियों के मौसम में भी ऊनी वस्त्र साथ लेकर जाएँ। वैसे बारिश के मौसम को छोड़कर अल्मोड़ा कभी भी जा सकते हैं।

English summary

EVERYBODY HAS A SUMMER HOLIDAY! ALMORA: IN PHOTOS

Almora is one of the most popular Hill Station located in Uttarakhand.urrounded by four hill ranges with temple on top of each peak- goddesses Banari Devi, Kasar Devi, Sayahi Devi and the Sun God, Almora hill station finely preserves its history and magnifies its present with nature and culture.
Please Wait while comments are loading...