रोमांच से भरपूर है लेह लद्दाख की मारखा घाटी ट्रेकिंग
सर्च
 
सर्च
 

पौधों के कलात्मक आकार,विशाल जूते,समुद्री दृश्यों और कई खूबसूरत नज़ारों का मुख्य केंद्र-हैंगिंग गार्डन

मुम्बई के जलाशय पर बना हुआ आकर्षक हैंगिंग गार्डन!

Written by:
Published: Monday, November 21, 2016, 14:46 [IST]
Share this on your social network:
   Facebook Twitter Google+ Pin it  Comments

चाहे हम जितनी बार भी बाग़ बगीचों, उद्यानों आदि जैसी जगहों की सैर पर चले जाएँ, कभी भी उनकी खूबसूरती, वहां के वातावरण से बोर नहीं होते, ऐसी होती है यहाँ की प्रकृति की खूबसूरती और चमक। ऐसे उद्यान व बाग़ बगीचों की उत्पत्ति सदियों पहले ही हो चुकी थी। आज ऐसे ही कई पुराने और नए उद्यानों के निर्माण में पारंपरिक और आधुनिक तकनीकों को मिलाकर कई दिलचस्प उद्यानों की उत्पत्ति की जा रही है। ऐसे ही कुछ खास उद्यानों और बाग़ बगीचों में से एक है ऊंचाई पर बना मुम्बई का हैंगिंग गार्डन, जो शहर के निवासियों के लिए मनोरंजक और दिल को सुकून पहुँचाने वाली जगहों में से एक है।

[क्या आपको पता है, मुंबई का नाम मुंबई कैसे पड़ा?]

चौपाटी बीच के अलावा यह जगह भी लोगों के आँखों और दिलों को सुकून दिलाती है। यहाँ पर आप पौधों को कलात्मक ढंग से दिए गए विभिन्न रूपों और यहाँ की खूबसूरती में बैठे मरीन चौपाटी बीच के नज़ारे भी ले पाएंगे। फिरोज़शाह मेहता गार्डन जिसे हैंगिंग गार्डन भी कहा जाता है, मुम्बई के मालाबार हिल में स्थित है। यह मुंबई के जलाशयों के ऊपर पानी के प्रदुषण को रोकने के लिए बनाया गया था।

[चलिए चलते हैं पुराने दौर में, मुंबई के महाकाली गुफ़ाओं के ज़रिए!]

चलिए आज हम ऐसे ही रणनीतिक तरीके से बनाये गए इस बाग़ की सैर पर चलते हैं उसके कुछ खूबसूरत और आकर्षक तस्वीरों के साथ।

हैंगिंग गार्डन

आज के समय में मुंबई का हैंगिंग गार्डन,जिसके पास ही कमला नेहरू पार्क स्थित है दोनों साथ मिलकर मुम्बई के मनमोहक पिकनिक स्थल का निर्माण करते हैं।

Image Courtesy: wikimapia

हैंगिंग गार्डन

ताज़ा-ताज़ा समुद्र से आती हवा, बाग़ में चारों तरफ जहाँ नज़र दौड़ाएं फूल ही फूल, साफ़ सुथरा वातावरण और पौधों की कलात्मक ढंग से की गई छंटनी आपको गार्डन की खूबसूरती पर लट्टू कर देंगी और यहाँ की चमक में खोये रखेंगी।

Image Courtesy: Elizabeth K. Joseph

हैंगिंग गार्डन

यहाँ की पिकनिक सिर्फ यहीं तक ही सिमित नहीं है, हैंगिंग गार्डन के विपरीत स्थित कमला नेहरू पार्क भी हमें अपनी ओर आकर्षित कर ले जाता है।

Image Courtesy: Leonora (Ellie) Enking

हैंगिंग गार्डन

कमला नेहरू पार्क बच्चों के लिए बनाया गया पार्क है जिसका नाम देश के सबसे पहले और पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की धर्मपत्नी कमला नेहरू के नाम पर पड़ा।

Image Courtesy: wikimapia

हैंगिंग गार्डन

यहाँ का अशोक चक्र, जूते के आकार में बना वॉच टावर और यहाँ से दिखता चौपाटी बीच का शानदार दृश्य, कमला नेहरू पार्क के मुख्य आकर्षणों में से एक हैं।

Image Courtesy: wikimapia

हैंगिंग गार्डन

पार्क का शू टावर(जूते के आकार में बना टावर), अंग्रेजी कविता से प्रेरित होकर बनाया गया है, 'There Was An Old Women Who Lived in a Shoe'(एक बूढ़ी औरत थी जो जूते में रहती थी)।

Image Courtesy: Nichalp

हैंगिंग गार्डन

इस रचना के अंदर सीढ़ियाँ बनी हुई हैं, जो इस जूते, टावर की सबसे ऊँची जगह पर आपको पहुंचाती है। यह रचना मुख्य तौर पर बच्चों के लिए बनाई गई है जिसके अंदर कुछ सिमित जगह ही उपलब्ध है।

Image Courtesy: Thomas Galvez

हैंगिंग गार्डन

कमला नेहरू पार्क में बच्चों के खेलने के लिए काफी जगह बनाई गई है, जहाँ झूलने के झूले, स्लाइड्स(फिसलने वाले झूले) आदि बने हुए हैं। यहाँ सिर्फ 12 साल से कम उम्र के बच्चों को खेलने की अनुमति है।

Image Courtesy: A.Savin

हैंगिंग गार्डन

कमला नेहरू पार्क और हैंगिंग गार्डन घूमने के बाद आपकी यहाँ की सैर अभी ख़त्म नहीं होती। अभी तो यहाँ बहुत कुछ है देखने और अपनी आँखों को सुख प्राप्त कराने के लिए और यही खास बातें हैं मालाबार हिल्स की।

Image Courtesy: Ameyamoghe99

हैंगिंग गार्डन

वास्तव में मालाबार हिल्स मुम्बई का एक रिहायशी आवासीय क्षेत्र है जहाँ मुंबई के कई संभ्रांत लोगों की बड़ी-बड़ी कोठियां बनी हुई हैं। यह वह जगह भी है जहाँ धार्मिक मंदिर वालुकेश्वर और बाणगंगा टैंक भी स्थित है।

Image Courtesy: Michael Korcuska

हैंगिंग गार्डन

वालुकेश्वर मंदिर एक प्राचीन शिव मंदिर है जिसकी पौराणिक अद्वितीय कथा लोगों के बीच प्रसिद्द है। कथानुसार भगवान राम और लक्ष्मण जी जब देवी सीता जी की खोज में थे तब वे इस जगह पर आये थे। यहाँ आ भगवान राम जी ने भगवान शिव जी की प्रार्थना करने के लिए लक्ष्मण जी को शिवलिंग लाने का आदेश दिया।

Image Courtesy: wikipedia

हैंगिंग गार्डन

आदेशनुसार लक्ष्मण जी चले तो गए शिवलिंग लाने के लिए पर बहुत देर तक लौटे ही नहीं, इस बीच भगवान राम जी ने खुद से बालू का ही एक शिवलिंग बना लिया। और तब से इस जगह को वालुकेश्वर कहा जाने लगा जिसका मतलब है वह मूर्ति जो बालू से बनाई गई है।

Image Courtesy: Drshenoy

हैंगिंग गार्डन

वालुकेश्वर मंदिर पुर्तगालियों द्वारा किये गए आक्रमण से नष्ट भी हो गया था। बाद में इसका फिर से निर्माण किया गया और आज यह मुम्बई के प्रसिद्द मंदिरों में से एक है। आप वालुकेश्वर मंदिर के दर्शन के बाद यहीं पास में स्थित जैन मंदिर के दर्शन भी कर सकते हैं।

Image Courtesy: Drshenoy

हैंगिंग गार्डन

बाणगंगा टैंक वालुकेश्वर मंदिर के ही परिसर में स्थित जल का एक पवित्र टैंक है। कथाओं के अनुसार भगवान राम जी को यहाँ बहुत ज़ोर की प्यास लगी, पर तब यहाँ पानी का कोई स्रोत उपलब्ध ना था। तब उनहोंने तुरंत ही इस जगह पर अपने धनुष बाण से तीर चला कर पानी के स्रोत की उत्पत्ति की।

Image Courtesy: Oknitop

हैंगिंग गार्डन

यह जल स्रोत गंगा नदी की सहायक नदी मानी जाती है। इसलिए इस जल स्रोत का नाम बाणगंगा पड़ा जिसका मतलब है, वह जल स्रोत जिसकी उत्पत्ति बाण से हुई।

Image Courtesy: wikimedia

हैंगिंग गार्डन

तो यह थी हमारी मालाबार हिल्स की एक छोटी सी यात्रा। अब आप मुम्बई की यात्रा पर जब भी जाएँ, थोड़ा सा समय निकाल कर मुम्बई के इन खूबसूरत जगह, मालाबार हिल्स के इन आकर्षक केंद्रों में ज़रूर जाएँ और अपनी मुम्बई की यात्रा में कुछ खूबसूरत और अद्भुत दृश्यों को जोड़ें। बाकि इसमें कोई शक ही नहीं है कि हैंगिंग गार्डन, कमला नेहरू पार्क और वालकेश्वर मंदिर मुम्बई के प्रमुख आकर्षणों में से एक हैं।

Image Courtesy: Christian Haugen

Read more about: india, maharashtra, mumbai, travel, park, temple, garden, beach
English summary

Plant-Animals, Seascape, the Gaint Shoe & More at Hanging Gardens of Mumbai! पेड़-पौधों के कलात्मक आकार, जूते का विशाल टावर समुद्री दृश्यों, और कई खूबसूरत नज़ारों का मुख्य केंद्र- हैंगिंग गार्डन!

Overlooking the Chowpatty Beach, this garden is a visual delight. You will enjoy the artistically crafted plants and also the views of Marine Drive and Chowpatty Beach.

Related Articles

Please Wait while comments are loading...