यों का मजा..तो इन छुट्टियों यहां जरुर जायें
सर्च
 
सर्च
 

इस जनमाष्टमी दर्शन जाने बाल गोपाल के प्राचीन मंदिरों के बारे में

जन्माष्टमी के दिन पूरे भारत में बेहद हर्षौल्लास का माहौल रहता है...सभी नन्हे से बाल गोपाल के दर्शन करने के लिए भारत के विभिन्न मन्दिरों की ओर रुख करते हैं।

Written by: Goldi
Updated: Monday, August 14, 2017, 15:53 [IST]
Share this on your social network:
   Facebook Twitter Google+ Pin it  Comments

नन्द के घर आनंद भाओ जय कन्हैया लाल की..जन्माष्टमी के दिन आप कहीं भी निकल जाइये आपको गीत के बोल जरुर सुनाई देंगे...जन्माष्टमी के दिन पूरे भारत में बेहद हर्षौल्लास का माहौल रहता है...सभी नन्हे से बाल गोपाल के दर्शन करने के लिए भारत के विभिन्न मन्दिरों की ओर रुख करते हैं।

अगर रोमांच देखना है..मुंबई में जरुर देखे दही हांडी उत्सव

जिसमे सबसे पहला नाम आता है..मथुरा की श्री कृष्ण जन्मभूमि का...जहां श्री कृष्ण का जन्म हुआ था..जन्माष्टमी के अवसर पर मथुरा में लाखो की तादाद में भक्त बल गोपाल के दर्श को पहुंचते है..भारत में कृष्ण जी के कई मंदिर हैं जहां जन्माष्टमी का पर्व बेहद धूमधाम से मनाया जाता है...तो इस जन्माष्टमी जानिये भारत में स्थित श्री कृष्णा के प्राचीन मन्दिरों के बारे में

श्री कृष्ण जन्मभूमि

श्री कृष्ण जन्मभूमि,मथुरा श्री कृष्ण जन्मभूमि, पूरे भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम के लिए शुमार हैं। जन्माष्टमी के अवसर पर इस मंदिर की रौनक तो बस देखते ही बनती है। इस दिन कृष्ण के दीवाने उनकी एक झलक पानें के लिए दूर दूर से दर्शन करने आते हैं। पूरे मंदिर को इस पर्व पर दुल्हन की तरह सजा दिया जाता है, जिसे देख मन प्रफुल्लित हो उठता है। बारह बजते ही इस मंदिर यंहा श्री कृष्ण जन्मोत्शव की धूम तो ही बनती है। PC: wikimedia.org

द्वारकाधीश मंदिर

जैसा कि इस मंदिर के नाम से प्रतीत होता है, यह द्वारका में है और भगवान कृष्ण को समर्पित है। इसको जगत मंदिर भी कहा जाता है। यहां के प्रवेश द्वार को स्वर्ग द्वार और मोक्ष द्वार भी कहते है। यह मंदिर लगभग 2,500 साल पुराना है और इसे जगत मंदिर भी कहा जाता है। यहां आप कृष्णा की पत्नी रुकमणी के भी दर्शन कर सकते हैं।द्वारकाधीश का यह 5 मंज़िला मंदिर 72 पिलरों पर बना हुआ है ।  PC:Scalebelow

इस्कॉन मंदिर

इस्कॉन मंदिर भारत का वह मंदिर है...जहां देशी से ज्यादा विदेशी श्रधालुयों का जमावड़ा रहता है..जन्माष्टमी के अवसर पर यहां लाखो की तादाद में पर्यटक पहुंचते हैं। एशिया का सबसे बड़ा इस्कॉन मंदिर आईटी सिटी बेंगलुरु में स्थित है..इसके साथ ही आप इस्कॉन मंदिर को दिल्ली,मथुरा,मुंबई, पुणे में भी देख सकते हैं। PC: hemant meena

जुगल किशोर मंदिर

यह मंदिर मथुरा में बना है और इसी जगह को भगवान कृष्ण का जन्मस्थान भी माना जाता है। यह मंदिर भगवान कृष्ण के सबसे पुराने और प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है। माना जाता है कि भगवान कृष्ण ने यहीं पर केसी राक्षस का वध किया था और फिर इसी घाट पर स्नान किया था। इसी वजह से इसका नाम केसी घाट मंदिर भी पड़ गया।

वेणु गोपाल मंदिर

यह मंदिर भी दक्षिण भारत के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक माना जाता है। कर्णाटक के मैसूर स्थित इस वेणुगोपाल मंदिर का नजारा बहुत ही अद्भुत है। कृष्ण सागर बांध के समीप बने इस मंदिर भगवान वंशीधर बांसुरी बजाते हुए नजर आते हैं।

गुरुवयूर मंदिर

इसे दक्षिण का द्वारका भी कहा जाता है। केरल में स्थित यह मंदिर पूरे भारत में प्रसिद्ध है। माना जाता है कि इस मंदिर में मौजूद कृष्ण रूप को स्वयं ब्रह्मा ने भी पूजा था। नव विवाहित जोड़े यहां अपने वैवाहिक जीवन की सफलता के लिए आशीर्वाद पाने आते हैं।PC:RanjithSiji

वृन्दावन मंदिर

पौराणिक कथायों की माने तो,नन्द गोपाल ने वृन्दावन में अपना बचपन बिताया था...इन्हीं कहानियों को सुनकर सम्राट अकबर वृन्दावन आये थे, जिसके बाद उन्होंने यहां 4 मंदिर बनवाने की आज्ञा दी। ये मंदिर थे मदन-मोहन, जुगल किशोर,गोपीनाथ और गोविन्द जी।

English summary

incredible-india-top-ten-ancient-shri-krishna-temple-in-india hindi

Janmashtami, is an annual celebration of the birth of the Hindu deity Krishna, the eighth avatar of Vishnu. On this auspicious day let's visit to some of.
Please Wait while comments are loading...