यों का मजा..तो इन छुट्टियों यहां जरुर जायें
सर्च
 
सर्च
 

वे मंदिर जहाँ की खासियत हैं वहाँ की कामुक मूर्तियाँ !

मंदिरों की बाहरी दीवारों पर बनी कामुक मूर्तियों का अपना ही एक अलग महत्व है।

Written by:
Updated: Thursday, December 1, 2016, 15:55 [IST]
Share this on your social network:
   Facebook Twitter Google+ Pin it  Comments

यूँ तो भारत में मंदिरों की कमी नहीं है और हर मंदिरों की कुछ न कुछ अलग खासियत उनसे जुड़ी हुई हैं। कोई अपने विशेष अनुष्ठानों के लिए जाना जाता है तो कोई मंदिर की रचना की वजह से, कोई उनसे जुड़ी पौराणिक कथा के लिए जाने जाते हैं तो कोई उन मंदिरो में अलग से बने किसी खास चीज़ के लिए। इसी तरह अगर आप यहाँ के कई मंदिरों में ऐसी मूर्तियां बनी देख लें जिनमें कामुकता का प्रदर्शन हो रहा हो तो आश्चर्य मत होइएगा। ये भी उन मंदिरों का ही हिस्सा हैं।

[पत्‍थरों पर चित्रित प्‍यार और कामशास्त्र!]

जी हाँ, भारत में कई ऐसे प्राचीन मंदिर हैं जिनमें कई सारी कामुक मूर्तियां पत्थरों में उकेर कर प्रदर्शित की गई हैं। कुछ लोग इसे प्रगतिशीलता के नज़र से देखता हैं तो कोई कामुकता, कुछ लोग इसे अशिष्ट भी समझते हैं। ये तो सत्य है कि ये नक्काशियां बहुत ही बोल्ड हैं जो अपने में कई प्राचीन विचारधाराओं को समेटी हुई हैं, जिन्होंने यौन संबंध को 'आध्यात्मिकता के भावार्थ' तक पहुँचने के लिए बने रास्ते की तरह देखा है।

[खजुराहो मंदिर से जुड़ी दिलचस्प बातें!]

इनमें से ज़्यादातर मंदिर तांत्रिक विद्या की परंपरा का पालन करते हैं, जिनके अनुसार कामुक सुख दिव्य ऊर्जा के रूप में काम करता है और यह भगवान तक पहुँचने के लिए आध्यात्मिक पथ का निर्माण करता है। अगर आपने कभी ऐसे किसी मंदिर का निरिक्षण किया है तो, आप देख पाएंगे की ऐसी मूर्तियां मंदिर के सिर्फ बाहरी दीवारों पर बनी हुई हैं।

[खजुराहो का अंतिम मंदिर!]

कुछ शोधकर्ताओं के अनुसार, इनका मतलब यह है कि किसी भी आदमी को मंदिर में प्रवेश करने से पहले अपनी सारी कामुक इच्छाओं को ख़त्म कर देना चाहिए और वह ऐसा तब ही कर सकता है जब उसने इसका अनुभव कर लिया हो। इसमें तो कोई शक की बात ही नहीं है कि इन मूर्तियों, इन चिन्हों में वो आकर्षण है जो एक यात्री में जूनून पैदा कर सके।

[प्यार की 6 खूबसूरत नायाब निशानियाँ जो अमर प्रेम की कहानियां दोहराती हैं!]

तो चलिए आज हम ऐसे ही कुछ मंदिरों की सैर पर चलते हैं जो मुख्य तौर पर अपनी कामुक मूर्तियों के लिए ही प्रसिद्द हैं!

सूर्य मंदिर, मोढेरा

गुजरात के मोढेरा में स्थापित सूर्य मंदिर कई सदियों पुराना मंदिर है।

Image Courtesy: Bernard Gagnon

सूर्य मंदिर, मोढेरा

मंदिर का निर्माण सोलांकी वंश के राज के समय हुआ था। यह मंदिर सूर्य देवता को समर्पित है,जिनका यहाँ एक खास स्मारकीय महत्व है।

Image Courtesy: Frenil

सूर्य मंदिर, मोढेरा

अलग-अलग मूर्तियों और चिन्हों की नक्काशी इस मंदिर को और भी खूबसूरत बनाती हैं।

Image Courtesy: Bernard Gagnon

सूर्य मंदिर, मोढेरा

मंदिर के बाहरी दीवारों में से एक दीवार में कुछ कामुक, यौन संबंधी मूर्तियां बनी हुई हैं जो तांत्रिक विद्या से सम्बंधित हैं।

Image Courtesy: Vu2sga

खजुराहो मंदिर

खजुराहो मंदिर मुख्य तौर पर भारत के ऐसे मंदिर के रूप में जाना जाता है जिसमें कई सारी कामुक मूर्तियां उकेरी गई हैं, मतलब खजुराहो के मंदिर अपनी कामुक मूर्तियों के लिए ही सबसे ज़्यादा प्रसिद्द हैं।

Image Courtesy: Sumantbarooah

खजुराहो मंदिर

कुछ शोधकर्ताओं के अनुसार इन मूर्तियों द्वारा काम सूत्र की अवधारणाओं को चित्रित किया गया है तो कुछ शोधकर्ताओं के अनुसार, ये तांत्रिक विद्या का यौन व्यवहार द्वारा अभ्यास करने की परंपरा है।

Image Courtesy: Aotearoa

खजुराहो मंदिर

खैर जो भी है, इन सारे बातों और कई शख्सियतों के विचारों के परे सबसे खास बात यह है कि खजुराहो मंदिर यूनेस्को द्वारा वैश्विक धरोहर की सूचि में शामिल है।

Image Courtesy: Jean-Pierre Dalbéra

खजुराहो मंदिर

खजुराहो मध्य प्रदेश राज्य के सबसे प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है।

Image Courtesy: Wikirapra

भोरमदेव मंदिर

दिलचस्प बात है कि, जो भी मंदिर कामुक साहित्य या प्रेमकाव्य से जुड़ा होते हैं वे ज़्यादातर भगवान शिव जी और देवी शक्ति से ही सम्बंधित होते हैं।

Image Courtesy: Pankaj Oudhia

भोरमदेव मंदिर

यहाँ तक कि तांत्रिक परंपरा भी देवी शक्ति और भगवान शिव जी को भैरव बाबा के रूप में अपने प्रमुख देवी देवता के रूप में पूजते हैं।

Image Courtesy: Uditvd

भोरमदेव मंदिर

जैसा कि ये मूर्तियां मुख्यतः तांत्रिक विद्या से जुड़ी हुई हैं, ये शायद शिव मंदिर में ही मिली होंगी।

Image Courtesy: Ratnesh1948

भोरमदेव मंदिर

भोरमदेव, मन्दिरों का समूह है जहाँ के प्रमुख देवता शिव जी हैं। यहाँ छत्तीसगढ़ के सबसे प्राचीन मंदिरों में से एभी एक है।

Image Courtesy: Ratnesh1948

भोरमदेव मंदिर

भोरमदेव मंदिर को 'मध्यप्रदेश का खजुराहो' भी कहते हैं।

Image Courtesy: Ratnesh1948

रणकपुर मंदिर

क्या आपको पता है, कि कामोत्तेजक नक्काशियां आपको सिर्फ हिन्दू मंदिरों में ही नहीं बल्कि जैन मंदिरों में भी देखने को मिलेंगी! और इसका सुबूत है राजस्थान का रणकपुर मंदिर।

Image Courtesy: Nomo

रणकपुर मंदिर

रणकपुर मंदिर जैन धर्म के सबसे प्राचीन मंदिरों में से एक है, जहाँ आपको यौन संबंधी कई मूर्तियां देखने को मिलेंगी।

Image Courtesy: Paul Asman

रणकपुर मंदिर

रणकपुर की इस भव्य संगमरमर से बनी रचना में प्रेमी और यौन व्यवहारों की भावुक नक्काशियां उकेरी हुई हैं।

Image Courtesy: Paul Asman

रणकपुर मंदिर

रणकपुर मंदिर राजस्थान के पाली जिले में स्थापित है।

Image Courtesy: Paul Asman

विरुपक्षा मंदिर, हम्पी

विरुपक्षा मंदिर, विरासत स्थल हम्पी में स्थित जीवंत मंदिरों में से एक है।

Image Courtesy: Arun Varadarajan

विरुपक्षा मंदिर, हम्पी

यहाँ भगवान शिव जी को विरुपक्षा के रूप में पूजा जाता है। सदियों पुराना यह मंदिर हम्पी के वास्तु चमत्कारों में से एक है।

Image Courtesy: Jean-Pierre Dalbéra

विरुपक्षा मंदिर, हम्पी

मंदिर में की गई खूबसूरत नक्काशियों के अलावा आपको यहाँ मंदिर की बाहरी दीवारों पर कुछ शानदार, आकर्षक और अद्भुत कामुक मूर्तियां भी देखने को मिलेंगी।

Image Courtesy: Jean-Pierre Dalbéra

अजंता और एल्लोरा की गुफ़ाएँ

अजंता एल्लोरा की गुफ़ाएँ खुद में ही एक वास्तुकला के अद्भुत आश्चर्य हैं, ये चट्टानों को काट कर बनाई गई गुफ़ाओं में भारतीय वास्तुकला की उन्नत शैली को प्रदर्शित करते हैं।

Image Courtesy: Dr Murali Mohan Gurram

अजंता और एल्लोरा की गुफ़ाएँ

यहाँ कई सारे आकर्षण हैं, और इन सबके बीच आप कई सारे कामुक नक्काशियों और चित्रों को इस पूरे धरोहर में फैला हुआ देख पाएंगे। भारत के ये कीमती धरोहर महाराष्ट्र में स्थापित हैं।

Image Courtesy: Shreyank Gupta

अजंता और एल्लोरा की गुफ़ाएँ

कामुकता और प्रेम से सम्बंधित ये चीज़ें प्राचीन भारत के कई तर्कसंगत विचारों की ओर इशारा करते हैं।

Image Courtesy: YashiWong

अजंता और एल्लोरा की गुफ़ाएँ

वे इस प्राकृतिक प्रक्रिया को चित्रित करने में बिल्कुल भी शर्मिंदा नहीं थे, बल्कि उन्होंने तो इसे कला के ज़रिये एक नया अर्थ दिया है। सच में ही ऐसे शानदार, जटिल और अद्भुत कला को इन मंदिरों में देखना, उसका साक्षी बनना सबसे शानदार और आपके विशेष अनुभवों में शामिल होगा।

Image Courtesy: Antoine Taveneaux

English summary

Temples in India That Are Famous for Erotic Sculptures!वे मंदिर जहाँ की खासियत हैं वहाँ की कामुक मूर्तियाँ!

Many temples of ancient India have erotic art. Some call it progressive, passionate and some think it is vulgar.
Please Wait while comments are loading...