यों का मजा..तो इन छुट्टियों यहां जरुर जायें
सर्च
 
सर्च
 

ये हैं कर्णाटक का नियाग्रा फॉल..आपने देखा क्या

शिवानसमुद्र वाटरफॉल मंड्या जिले में बेंगलुरु से 130 किमी की दूरी पर स्थित है। इस वाटरफॉल का निर्माण कावेरी नदी द्वारा होता है।

Written by: Goldi
Published: Monday, June 19, 2017, 13:00 [IST]
Share this on your social network:
   Facebook Twitter Google+ Pin it  Comments

उंचे पहाड़ो से पानी गिरते देख कितना अच्छा लगता है..क्या आपने नहीं देखा है वाटरफॉल..तो कोई नहीं क्योंकि आज हम आपको अपने लेख से बताने जा रहे हैं बेंगलुरु से 130 किमी दूर स्थित खूबसूरत जल प्रापत शिवानसमुद्र के बारे मे। यकीन मानिये ऊपर चोटी से बहते हुए आप इस जल प्रापत के दीवाने हो जायेंगे।

जाने, भारत के पांच खूबसूरत झरने

शिवानसमुद्र वाटरफॉल मंड्या जिले में बेंगलुरु से 130 किमी की दूरी पर स्थित है। इस वाटरफॉल का निर्माण कावेरी नदी द्वारा होता है। शिवानसमुद्र एक द्वीप शहर है जो गंगाचुककी और भरचुककी के दो क्षेत्रों में जलप्रपात को विभाजित करता है।

भारत के चर्चित बुक कैफे,जो आपकी शाम को बना देगी और भी सुहाना

इस वॉटरफॉल के पास आप पुराने और प्राचीन मन्दिरों को भी निहार सकते हैं।शिवानसमुद्र एशिया में प्रथम जल विद्युत ऊर्जा स्टेशन का घर है, जोकि वर्ष 1902 में स्थापित हुआ था।

रूट मैप

शुरुआत-बेंगलुरु
डेस्टिनेशन-शिवसंसमुद्र
जाने का उचित समय -जून से सितंबर

कैसे पहुंचे

वायु द्वारा: शिवानसमुद्र का निकटतम हवाई अड्डा बेंगलुरु का केपेगौडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है जो यहां से करीब 167 किमी दूर है।

ट्रेन से:
शिवानसमुद्र का निकटतम प्रमुख रेलवे स्टेशन मैसूर जंक्शन है जो यहां से लगभग 60 किमी दूर है। स्टेशन पूरे राज्य के सभी प्रमुख शहरों और शहरों और देश भर के स्थानों के लिए नियमित रूप से रेलगाड़ियां हैं।

मार्ग से: शिवानसमुद्र तक पहुंचने का सबसे बेहतरीन मार्ग सड़क पर है। कोलेगल सबसे निकटतम शहर है, जो सड़कों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है और नियमित बसें हैं जो बेंगलुरु से शिवानसमुद्र तक चलती हैं।

PC:Hareey3

ड्राइविंग दूरी

ड्राइविंग दूरी बेंगलुरु से शिवानसमुद्र तक कुल ड्राइविंग दूरी लगभग 131 किमी है..इस जगह से बेंगलुरु से तीन रूटों द्वारा पहुंचा जा सकता है:-
रूट 1: बेंगलुरु - तेगुनी - कानकापुरा - मालावली - शिवांसमुद्र एनएच 20 9 ।
रूट 2: बेंगलुरु - बिदादी - रामनगर - चन्नापात्ना - मददुरु - मालवल्ली - शिवनसमुद्र एनएच 275 ।
रूट 3 : बेंगलुरु - नेलमंगाला - सोलूर - कुनीगल - हुलुदुर्गा- मैदुरु - मलवल्ली - शिनायसमुद्र, कुनिगल-माडुर रोड के माध्यम से।PC:Ashwin06k

मार्गों का चुनाव

-पहले रूट से शिवानसमुद्र जल प्रापत पहुँचने में आपको तीन घंटे का समय लगेगा।
-वहीं दूसरे रूट से आपको शिवानसमुद्र पहुँचने में लगभग 3.5 घंटे लगेंगे, बेंगलुरु से शिवनसमुद्र तक कुल 138 किलोमीटर की दूरी है।
-रूट नम्बर 3 पर अगर आप लिए कुनील-माडुर रोड लेते हैं तो आप 175 किलोमीटर की दूरी को पूरा करते हुए चार घंटे में शिवानसमुद्र पहुंच सकते हैं।PC: Ashwin06k

शिवानसमुद्र जाते समय रास्ते में देखें- टुरहल्ली वन

कनकपुरा रोड पर स्थित टरहौली वन शहर का एकमात्र जीवित जंगल है। यह वन करिश्मा पहाड़ियों के लिए जाना जाता है,इस वन के अंदर आप एक असीम शांति को एहसास कर सकते हैं। यहाँ की वनस्पति बहुत विरल है और इसमें ज्यादातर नीलगिरी पेड़ हैं,यहां आप मोर और तरह तरह पक्षियों को निहार सकते हैं।

PC:Raghuraj Hegde

इस्कॉन वैकुंटा हिल

कनकपुरा रोड स्थित कृष्ण लीला थीम पार्क एक सुंदर सांस्कृतिक परिसर है, जो वैकुंठ पहाड़ी के ऊपर स्थित है। परिसर पारंपरिक वास्तुकला के साथ-साथ पारंपरिक मंदिर के डिजाइनों का एक मिश्रण है, जिसमें दो मंदिर हैं। इस पहाड़ी से आप बेंगलुरू को साफ़ साफ़ निहार सकते हैं। बता दें यह पार्क अभी बन रहा है..जो जल्द ही बनाकर पूरा हो जायेगा।

श्री आर्ट ऑफ़ लिविंग आश्रम

श्री श्री रवि शंकर द्वारा स्थापित, आर्ट ऑफ लिविंग आश्रम कनकपुरा रोड पर स्थित है। आश्रम 65 एकड़ जमीन में फैल गया है। आर्ट ऑफ जीविंग फाउंडेशन की स्थापना 1 9 86 में शांतिपूर्ण और सदाबहार मैदान के बीच हुई थी। यहां मुख्य आकर्षण कृत्रिम झील, विशाळक्षी मंडप हैं, जो कई योग कार्यक्रमों के साथ केंद्रीय ध्यान केंद्र है।PC: Socialconnectblr

गंतव्य: शिवानसमुद्र

इस जगह कावेरी नदी दो जगहों में विभाजित है, जो एक द्वीप को बनती है...नदी की दोनों शाखाएं गहरी घाटियों के बीच बहती है..जो एक एक खूबसूरत वाटरफॉल का रूप ले लेती है।शिवानसमुद्र को कर्नाटक का नियाग्रा फॉल भी कहा जाता है..PC:Guptarohit994

मद्या रंग

द्वीप के पास रंगनाथ स्वामी का मंदिर स्थित है...जोकि यहां मद्य रंग के रूप में जाना जाता है।कावेरी नदी के तट पर दो और प्रसिद्ध रंगनाथ मंदिर हैं। सबसे पहले एक श्रीरंगपट्टण में है, जिसे आदि रंग के रूप में जाना जाता है और दूसरा तमिलनाडु में श्री रंगम में है और इसे अनंत रंग के नाम से जाना जाता है।PC: Madhavkopalle

सोमेश्वर मंदिर

सोमेश्वर मंदिर रंगनाथ मंदिर से पुरानाहै। माना जाता है कि आदि शंकराचार्य ने इस मंदिर में पूजा अर्चना कर श्री चक्र स्थापित किया है।

PC: Ramkishoremr

तलकाडू

इस जलप्रापत से तलकाडू 35 किमी दूर स्थित है।तलकाडू अपने भव्य मन्दिरों ओए रेगिस्तान के लिए जाना जाता है।आप यहां भगवान शिव को समर्पित वैद्यनाथेश्वर मंदिर को भी देख सकते हैं। PC:Dineshkannambadi

English summary

the-majestic-shivanasamudra-falls-from-bengaluru-hindi

Shivanasamudra is a well known waterfall which is located in the Mandya district. Shivanasamudra translates to Shiva's Sea, which is a segmented waterfall with several parallel streams forming adjacent to each other.
Please Wait while comments are loading...