अगुआड़ा का किला निश्चित तौर पर भारत के सबसे उचित रखरखाव वाली धरोहरों में से एक है। सत्रहवीं शताब्दी में डच उपनिवेशवादियों और मराठा शासकों से अपने राज्य को बचाने के लिए पुर्तगालियों द्वारा बनाया गया यह किला लाखों पर्यटकों को आकर्षित करता है।

इससे भी कुछ बेहतर यह है कि अगुआड़ा का किला ओर इसका लाईटहाउस जहाँ से अरब सागर का अद्भुत नज़ारा देखा जा सकता है, अगुआड़ा नामक प्राचीन बीच और पाँच सितारा रिसॉर्ट , ताज विवांता से घिरे हुए है। थोड़ा ज़्यादा खर्च करके ताज विवांता में ठहरने वाले पर्यटक पाँच सितारा रिसॉर्ट के अनुभव के विपरीत और उसमें भारत में छुट्टियों के मिश्रण के साथ, यहाँ के नज़ारों से लेकर खाने तक, एक अनोखा स्थानीय अनुभव ले सकते हैं।

अगुआड़ा का किला और अगुआड़ा बीच भी प्रसिद्ध कैंडोलिम बीच से कुछ ही दूरी पर हैं। शाम होते ही अगुआड़ा किले के आसपास की गलियाँ कबाड़ी बाज़ार में बदल जाती है जहाँ सस्ता और एथनिक सामान तथा कपड़े मिलते हैं।

अगुआड़ा के किले से शेष गोवा तक आसानी से पहुँचा जा सकता है और गोवा आने पर यहाँ ठहरना उचित रहता है। हवाईअड्डे या रेलवे स्टेशन से कार या टैक्सी किराए पर लेकर आप अगुआड़ा तक पहुँच सकते हैं। अपनी गाड़ी से आने पर पर्याप्त मात्रा में लगे हुए साइन बोर्ड अगुआड़ा पहुँचने में आपकी सहायता करेंगें।

Please Wait while comments are loading...