नासिक का गुमशुदा किला, जिससे अधिकांश पर्यटक हैं अनजान


भारत के महाराष्ट्र राज्य स्थित नासिक एक प्रसिद्ध तीर्थ नगरी है, जो अपने धार्मिक स्थलों और मंदिरों के लिए काफी ज्यादा प्रसिद्ध है। समय के साथ-साथ यह शहर पर्यटन के लिहाज से काफी ज्यादा उभर कर सामने आया है, यहां अब न सिर्फ देश बल्कि विश्व भर के पर्यटकों का आगमन होता है। इस स्थल को पौराणिक काल से भी जोड़ कर देखा जाता है, माना जाता है कि 14 वर्ष के वनवास के दौरान भगवान राम अपनी पत्नी सीता के साथ यहां पधारे थे। यही वजह है कि इसे राज्य के सबसे महत्वपूर्ण सांस्कृतिक स्थलों में गिना जाता है।

इस शहर का इतिहास कई वर्षों पुराना बताया जाता है, जिसके साक्ष्य आज भी यहां देखे जा सकते हैं। शहर के अतीत की जड़ों को समझने के लिए आप यहां मौजूद प्राचीन संरचनाओं का भ्रमण कर सकते हैं। आप यहां के कावनई फोर्ट को देख सकते हैं, जो इतिहास के कई पहलुओं को अपने अंदर समेटे हुए है, जानिए पर्यटन के लिहाज से यह किला आपको किस प्रकार आनंदित कर सकता है।

ऐतिहासिक कावनई किला

PC-Ccmarathe

नासिक के इगतपुरी क्षेत्र के अंतर्गत कावनई गांव में स्थित कावनई फोर्ट एक प्राचीन पहाड़ी किला है, जिसका संबंध मुगल काल से बताया जाता है। माना जाता है इस किले को मुगलों ने बनवाया था। इतिहास बताता है कि इस किले पर हैदराबाद के निजामों का अधिकार हो गया था, जिसके बाद यह किला 19वीं शताब्दी के दौरान अंग्रेजों के अधीन आया। हालांकि पहाड़ी पर बनाया गया यह किला अब खंडहर मात्र रह गया है, जिसके अधिकांश हिस्से समय की मार तले दब चुके हैं।

चूंकि यह प्राकृतिक परिवेश के मध्य बसा है, इसलिए यहां पर्यटकों का आवागमन लगा रहता है। खासकर यहां वीकेंड पर ट्रेकिंग करते हुए ट्रैवलर देखे जा सकते हैं । चट्टानी रास्तों से होते हुए इस किले तक आसानी से पहुंचा जा सकता है। लगभग एक घंटे की ट्रेकिंग के बाद आप यहां पहुंच सकते हैं।

क्यों आएं कावनई किला ?

PC-Ccmarathe

कावनई किले का सफर कई उद्देश्यों को पूरा करने के लिए किया जा सकता है। एक प्रकृति प्रेमी, एडवेंचर के शौकीन और इतिहास में दिलचस्पी रखने वालों के लिए यहां बहुत कुछ उपलब्ध है। चुंकि यह किला ऊंचाई पर स्थित है, इसलिए यह वीकेंड ट्रेकर्स का पसंदीदा स्थल है, जहां एक रोमांच भरी ट्रेकिंग का आनंद लिया जा सकता है।

अगर आप नासिक की भीड़भाड़ से अलग किसी शांत और एकांत जगह की तलाश में हैं, तो कावनई आपके लिए एक आदर्श स्थल है, जहां आप एक क्वालिटी समय बिता सकते हैं। पहाड़ी के ऊपर से आप आसपास के प्राकृतिक नजारों का आनंद भी ले सकते हैं। और अगर आप इतिहास में ज्यादा दिलचस्पी रखते हैं, तो किले का भ्रमण भी कर सकते हैं।

आने का सही समय

PC- Ccmarathe

गर्मियों और तेज मॉनसून वाले महीनों को छोड़कर आप कावनई किले का भ्रमण किसी भी समय कर सकते हैं। गर्मियों में यह स्थल काफी गर्म रहता है, इसलिए आप इस दौरान यहां का प्लान न बनाएं। वैसे यहां आने आदर्श समय अक्टूबर से लेकर मार्च के मध्य माना जाता है। इस दौरान यहां का मौसम और वातावरण अनुकूल बना रहता है।

कैसे करें प्रवेश

कावनई आप परिवहन के तीनों साधनों के माध्यम से पहुंच सकते हैं। यहां का निकटवर्ती हवाई अड्डा 45 कि.मी दूर नासिक एयरपोर्ट है, यहां से आप टैक्सी या कैब के जरिए कावनई तक पहुंच सकते हैं। रेल सेवा के लिए आप नासिक रेलवे स्टेशन का सहारा ले सकते हैं। नासिक, रेल मार्गों द्वारा भारत के बड़े शहरों से जुड़ा हुआ है।

अगर आप चाहें तो यहां सड़क मार्गों से भी यहां पहुंच सकते हैं। बेहतर सड़क परिवहन के द्वारा नासिक राज्य के छोटे-बड़े शहरों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है।

Read More About: travel tourism maharashtra nashik
Have a great day!
Read more...

English Summary

Located in the Kavnai village under the Igatpuri area of ​​Nashik, Kavnai Fort is an ancient hill fort, which is said to have been associated with the Mughal period. This fort built on the hill which is now left as ruin only. It is situated in the midst of natural surroundings, so tourists are come to visit this fort and for near surroundings. Trekking is the best option to vsit this hill place.