Search
  • Follow NativePlanet
Share
होम » स्थल » औरंगाबाद » आकर्षण
  • 01नौकोंडा पैलेस

    नौकोंडा पैलेस

    वर्तमान में खंडहर में बदल चुके इस म‍हल पर किसी जमाने में निजाम अली खान  का कब्‍जा हुआ करता था।उस दौरान इस महल में 5 भाग हुआ करते थे और प्रत्‍येक का अलग  मतलब हुआ करता था।

    + अधिक पढ़ें
  • 02कनॉट

    कनॉट

    औरगांबाद में शापिंग करने के लिए कनॉट अच्‍छी जगह है। यहां कई प्रकार के सामान मिलते है। कॉटन का सामान यहां ज्‍यादा अच्‍छा और सस्‍ता मिलता है। महिलाएं यहां से साड़ी और शॉल वाजिब दामों में खरीद सकती है।

    यहां मिलने वाले कपडों का पैटर्न अजंता और...

    + अधिक पढ़ें
  • 03शाहगंज मस्जिद

    शाहगंज मस्जिद

    शाहगंज मस्जिद मुस्लिम समुदाय का प्रमुख धार्मि‍क स्‍थल है। इस मस्जिद का निर्माण इंडो- सारासेनिक वास्‍तुकला में किया गया है। इस मस्जिद की आंतरिक सरंचना में 24 खंभे है।

    यह मस्जिद 6 कोणों में बनी हुई है। मस्जिद के आंगन में दो बड़े पानी के टैंक है।...

    + अधिक पढ़ें
  • 04बीबी का मकबरा

    औरंगाबाद से 5 किमी दूर स्थित इस मकबरे को औरंगजेब के बेटे राजकुमार  आजम शाह ने अपनी मां बेगम राबिया की याद में 1678 में बनवाया था।इस मकबरे के वास्‍तुकार का नाम अता उल्‍लाह था जिसने ताजमहल को कॉपी करने की कोशिश की थी लेकिन वह विफल रहा।

    इसके...

    + अधिक पढ़ें
  • 05हिमरो फैक्‍ट्री

    हिमरो फैक्‍ट्री

    हिमरो फैक्‍ट्री यानि हिमरो कपडे को बनाने की जगह।शहर के पुराने भाग में जफर गेट  के पास यह फैक्‍ट्री बनी हुई है।हिमरो कपड़ा रेशम और कॉटन का मिक्‍स होता है जोकि डिजायन और पैटर्न बनाने के काम आता है।

    इस कपडे को अजंता के चित्रों से प्रेरित होकर...

    + अधिक पढ़ें
  • 06सुनहरी महल

    सुनहरी महल

    जनाब औरंगाबाद जाने के बाद सबसे पहले सुनहरी महल जाएं। इस महल की सोने से बनी पेंटिग्‍स बेहद अच्‍छी और काबिले तारीफ है। इस महल का निर्माण मुख्‍य बंदाखंद ने करवाया था जोकि औरंगजेब के काल का था।पूरा महल पत्‍थर और लाइम का बना हुआ है।

    भारतीय...

    + अधिक पढ़ें
  • 07पुरवार म्‍यूजियम

    पुरवार म्‍यूजियम

    यह औरंगाबाद का मशहुर संग्रहालय है। यह छोटा संग्रहालय साराफा रोड़ पर स्थित है। पुरवार म्‍यूजियम एक पुरानी हवेली में बना हुआ है जहां डाक्‍टरों से सम्‍बन्धित सामान की प्रर्दशनी लगी रहती है। डौटर पुरवार का काफी सामान यहां के कलेक्‍शन में लगा हुआ...

    + अधिक पढ़ें
  • 08ग्रिश्नेश्वर मंदिर

    ग्रिश्नेश्वर भी एक ज्योतिर्लिंग है जो भगवान को समर्पित है। इस प्रसिद्ध हिन्दू मंदिर को घुश्मेश्वर के नाम से भी जाना जाता है। ये मंदिर प्रसिद्ध एलोरा गुफाएं के निकट स्थित है।

    इस मंदिर को छत्रपति शिवाजी महाराज के दादा द्वारा 16 वीं सदी में पुनर्निर्मित किया...

    + अधिक पढ़ें
  • 09बानी बेगम पार्क

    बानी बेगम पार्क

    बानी बेगम पार्क बेहद सुंदर स्‍थान है जो शहर से 25 किमी. की दूरी पर स्थित है। इस पार्क के मध्‍य में बानी बेगम नाम की गुंबद भी बनी हुई है बानी बेगम औरंगजेब के पुत्र आजम शाह की बेगम का नाम था।

    इस पार्क में गुंबद, झरने और सुंदर खंभे भी बने है जो मुगल...

    + अधिक पढ़ें
  • 10खौलदाबाद

    खौलदाबाद

    यह जगह मुस्लिम धर्म का पाक स्‍थल है जहां दो मुस्लिम सतों बरहान-उद-दीन और जैन-उद-दीन का निवास था और अब उनका मकबरा भी यहीं बना हुआ है।इस जगह आने के लिए  तीन दरवाजे है-लंगदा,पंगरा और नागरखाना।

    + अधिक पढ़ें
  • 11गुल मंडी

    गुल मंडी

    औरंगाबाद में गुलमंडी भी काफी बड़ा बाजार है जहां कई प्रकार का सामान मिलता है। यहां भ्रमण करके आप विंडो शापिंग के द्वारा भाव भी पता कर सकते है जो शापिंग में लाभदायक होता है।

    यहां भी कनॉट की त‍रह कई कपड़े और सामान का भंडार है बस आपके खरीदने की देर है।

    + अधिक पढ़ें
  • 12पनचक्‍की

    औरंगाबाद में पनचक्‍की यानि पानी की मिल है।शहर में नदी का पानी मिट्टी के पाइप  के माध्यम से लगभग 6 दूर लाया जाता है और स्‍थानीय लोगों के अनाज पीसने के काम में आता  है।

    एक जगह पर यह पानी झरने के रूप में गिरता है।

    + अधिक पढ़ें
  • 13औरंगाबाद गुफाएं

    2 से 7 ई. के बीच बनी यह 10 गुफाएं बौद्ध मूल की है।यह गुफाएं अलग-अलग  दिशा में बनी हुई है जो हिंदू धर्म के तंत्र-मंत्र से प्रेरित हैं।

    सुबह 9 से शाम 7 बजे तक इन गुफाओं मेंभ् रमण किया जा सकता है जिसके लिए भारतीयों को 10 और विदेशियों को 100 रू. चार्ज...

    + अधिक पढ़ें
  • 14किला अरक

    किला अरक

    किला अरक औरंगाबाद का एक प्रमुख आकर्षण है। इस किले के निर्माण का आदेश स्वयं औरंगजेब द्वारा सन 1692  में दिया था।  ये किला आज खंडहर बन चुका है। मगर फिर भी एक समय में इसकी वास्तुकला देखने लायक थी

    इस किले में 4 द्वार है अगर शिलालेखों की माने तो इस...

    + अधिक पढ़ें
One Way
Return
From (Departure City)
To (Destination City)
Depart On
23 Sep,Thu
Return On
24 Sep,Fri
Travellers
1 Traveller(s)

Add Passenger

  • Adults(12+ YEARS)
    1
  • Childrens(2-12 YEARS)
    0
  • Infants(0-2 YEARS)
    0
Cabin Class
Economy

Choose a class

  • Economy
  • Business Class
  • Premium Economy
Check In
23 Sep,Thu
Check Out
24 Sep,Fri
Guests and Rooms
1 Person, 1 Room
Room 1
  • Guests
    2
Pickup Location
Drop Location
Depart On
23 Sep,Thu
Return On
24 Sep,Fri