Search
  • Follow NativePlanet
Share
होम » स्थल » बोधगया » आकर्षण
  • 01बोधि वृक्ष

    बोधि वृक्ष

    महाबोधि मन्दिर के बोधि वृक्ष को श्री महा बोधि भी कहते हैं। इस वृक्ष को पवित्र माना जाता है क्योकि बौद्ध धर्मग्रन्थों के अनुसार गौतम बुद्ध को ज्ञान इसी पेड़ के नीचे प्राप्त हुआ था और इस ज्ञान प्राप्ति के बाद बोधि वृक्ष के लिये कृतज्ञता के भाव से उनका हृदय भर गया।...

    + अधिक पढ़ें
  • 02महाबोधि मन्दिर

    महाबोधि मन्दिर एक पवित्र बौद्ध धार्मिक स्थल है क्योंकि यह वही स्थान है जहाँ पर गौतम बुद्ध को ज्ञान प्राप्त हुआ था। पश्चिमी हिस्से में पवित्र बोधि वृक्ष स्थित है। संरचना में द्रविड़ वास्तुकला शैली की झलक दिखती है। राजा अशोक को महाबोधि मन्दिर का संस्थापक माना जाता...

    + अधिक पढ़ें
  • 03विष्णुपद मन्दिर

    गया हिन्दुओं के सबसे महत्वपूर्ण तीर्थ स्थानों में से एक है क्योंकि यहाँ पर विष्णुपद मन्दिर का आशीष है। ऐसा माना जाता है कि इस मन्दिर को 40 सेमी लम्बे भगवान विष्णु के पैरों अर्थात धर्मशिला के चारों ओर बनाया गया था। इसे चाँदी की परत से बने हौज में केन्द्र में...

    + अधिक पढ़ें
  • 04जामा मस्जिद

    जामा मस्जिद

    बोधगया की जामामस्जिद बिहार की सबसे बड़ी मस्जिद है। मुजफ्फरपुर के शाही परिवार ने इसे 180 वर्ष पूर्व बनवाया था। मस्जिद में प्रार्थना के लिये भारी संख्या में लोग इकट्ठा होते हैं और यह बिहार में तबलिग का महान केन्द्र है।

     

     

     

    + अधिक पढ़ें
  • 05बराबर गुफायें

    बराबर गुफायें

    मौर्यकाल युगीन बराबर गुफायें देश की सबसे पुरानी पत्थरों से काटी गई गुफाये हैं जो आज भी विद्यमान हैं। ज्यादातर बराबर गुफाओं में दो कक्ष हैं, जो पूरी तरह से ग्रनाइट से काटे गये हैं और इनकी भीतरी सतह बहुत ही चमकदार होने के कारण आवाज की गूँज बहुत मजेदार होती है। चार...

    + अधिक पढ़ें
  • 06बराबर की पहाड़ियों की गुफायें

    बराबर की पहाड़ियों में चार गुफायें हैं। लोमस ऋषि गुफा में सामने का भाग चाप के आकार का है और इसमें लकड़ी की वास्तुकला भी शामिल है। गुफा के झुकावों के साथ वाले दरवाजे को हाथियों की कतार से सजाया गया है जो कि स्तूप की तरफ जाता है। सुदामा गुफा को 261 ईसा पूर्व मौर्य...

    + अधिक पढ़ें
  • 07दुंगेशवरी गुफा मन्दिर

    दुंगेशवरी गुफा मन्दिर

    खूबसूरत दुंगेशवरी गुफा मन्दिर, जिसे महाकला गुफाओं के नाम से भी जाना जाता है, एक बहुत ही पवित्र और आत्मीय स्थान है। पर्यटक दुंगेशवरी गुफा में शान्ति की तलाश में आते हैं। ये गुफा मन्दिर वही स्थान है जहाँ से बोधगया में ज्ञान प्राप्ति से पूर्व गौतम बुद्ध ने तपस्या की...

    + अधिक पढ़ें
One Way
Return
From (Departure City)
To (Destination City)
Depart On
23 May,Thu
Return On
24 May,Fri
Travellers
1 Traveller(s)

Add Passenger

  • Adults(12+ YEARS)
    1
  • Childrens(2-12 YEARS)
    0
  • Infants(0-2 YEARS)
    0
Cabin Class
Economy

Choose a class

  • Economy
  • Business Class
  • Premium Economy
Check In
23 May,Thu
Check Out
24 May,Fri
Guests and Rooms
1 Person, 1 Room
Room 1
  • Guests
    2
Pickup Location
Drop Location
Depart On
23 May,Thu
Return On
24 May,Fri
  • Today
    Bodhgaya
    38 OC
    100 OF
    UV Index: 9
    Haze
  • Tomorrow
    Bodhgaya
    32 OC
    90 OF
    UV Index: 9
    Sunny
  • Day After
    Bodhgaya
    33 OC
    92 OF
    UV Index: 10
    Sunny