Search
  • Follow NativePlanet
Share
होम » स्थल » दीमापुर » आकर्षण
  • 01सीथेकीमा ग्राम

    सीथेकीमा ग्राम

    सीथेकीमा गांव दीमापुर के बाहरी इलाके में स्थित है और ट्रिपल फॉल्‍स के लिए प्रसिद्ध है। आप शहर के मध्य से इस जगह पर एक सुंदर सड़क से होते हुये ड्राइव करके लगभग एक घंटे में पहुंच सकते हैं। जैसा कि नाम से पता चलता है कि यहां एक साथ तीन झरने गिरते हैं, जो एक...

    + अधिक पढ़ें
  • 02मेदजीफेमा

    मेदजीफेमा

    मेदजिफेमा दीमापुर के पास एक लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण है। यह दीमापुर जिले का उप-विभाजन है। इससे पहले, मेदजीफेमा 'घासपानी' के रूप में जाना जाता था, जिसका मतलब है 'पौधे से पानी'। मेदजिफेमा एक खूबसूरत स्थान पर स्थित है, और यह न तो पहाड़ियों और न ही घाटियों पर है।...

    + अधिक पढ़ें
  • 03शिव मंदिर

    शिव मंदिर

    कैसे शिव मंदिर का अस्तित्व दीमापुर में आया, इसकी एक रोचक कहानी है। वर्ष 1961 में, सिंग्रीजन से एक ग्रामीण, रंगपहर संरक्षित वन चला गया था, जहां उसने चाकू को पैना करने के लिए एक बड़े पत्थर का इस्तेमाल किया था। जब वह चाकू पैना कर रहा था, किसी तरह का तरल पदार्थ पत्थर...

    + अधिक पढ़ें
  • 04ग्रीन पार्क

    ग्रीन पार्क दीमापुर में एक रमणीय मनोरंजनात्मक जगह है, जहाँ प्रकृति अधिक मात्रा में अपनी छटा बिखेरती है। यह बाहर रहने और परिवार और दोस्तों के साथ एक अच्छा समय बिताने के लिए एक सुखद जगह है। ग्रीन पार्क नाम इस बात का प्रतीक है कि जगह हरियाली से भरी है और इस प्रकार...

    + अधिक पढ़ें
  • 05दीफूपर

    दीफूपर

    यदि आप नगालैंड की वास्तविक झलक केवल एक गाँव में प्राप्त करना चाहते हैं तो, दीमापुर के बाहरी इलाके में दीफूपर गांव की यात्रा कर सकते हैं। यह गांव शहर के मध्य से लगभग 7 किलोमीटर की दूरी पर है और यहाँ लगभग 14000 की आबादी है। छोटा नागालैंड इस जगह के सबसे पुराने गांव...

    + अधिक पढ़ें
  • 06कछारी खंडहर

    पुरातत्त्वविदों ने यह सिद्ध कर दिया है कि दीमापुर कछारी  राज्य की प्राचीन राजधानी थी। यह महापाषाण युग के महत्वपूर्ण स्थलों में से एक है। जगह, जहां राज्य के अवशेष पाये जा सकते हैं, उसे कछारी खंडहर के रूप में जाना जाता है, दीमापुर का यह स्‍थान जरूर घूमना...

    + अधिक पढ़ें
  • 07प्राणी उद्यान

    जगह के वनस्पतियों और जीवों का अनुभव किये बिना, एक नई जगह की यात्रा काफी अधूरी हो सकती है। दीमापुर में प्राणी उद्यान, प्रकृति से लोगों को पुनः जोड़ता है और बड़े पैमाने पर उत्तर पूर्वी क्षेत्र और राज्य के समृद्ध वनस्पतियों और जीव के बारे में शिक्षित कराता है। पार्क एक...

    + अधिक पढ़ें
  • 08दीमापुर आओ बैपटिस्ट चर्च

    दीमापुर आओ बैपटिस्ट चर्च

    दीमापुर के दिल में स्थित दीमापुर आओ बैप्टिस्ट चर्च है, जो इस जगह पर आने वाले यात्रियों के लिए अवश्य घूमने वाली जगह है। चर्च दीमापुर में और उसके आसपास 5000 आओ परिवारों का एक समागम है और यहाँ 15000 बपतिस्मा सदस्य हैं, जिनकी वजह से यह भारत में सबसे बड़ा बैपटिस्ट चर्च...

    + अधिक पढ़ें
  • 09चुमुकेदिमा गांव

    चुमुकेदिमा गांव

    दीमापुर के निकट एक प्राचीन गांव है, जिसका नाम चुमुकेदिमा गांव है और इसे अब एक अवश्य घूमने वाले पर्यटक आकर्षण के रूप में बढ़ावा दिया जा रहा है। कई झरने यहां की खूबसूरत पहाड़ियों को सजाते हैं। दीमापुर शहर से 14 किलोमीटर की दूरी पर स्थित, चुमुकेदिमा गांव, नागा हिल्स की...

    + अधिक पढ़ें
  • 10रुज़ाफेमा

    रुज़ाफेमा

    खरीदारी के बिना छुट्टी एक संतोषजनक या एक पूरी यात्रा कभी नहीं हो सकती है। दीमापुर पर्यटक को खरीदारी गंतव्य के रूप में भी निराश नहीं करता है। नागाओं की पारंपरिक कलाकृतियों को ढूंढ़ने वाले लोगों के लिए रुज़ाफेमा विशेष रूप से एक खरिदारी का स्वर्ग है। दीमापुर-कोहिमा...

    + अधिक पढ़ें
  • 11निचुगार्ड

    निचुगार्ड

    निचुगार्ड गाँव दीमापुर शहर से लगभग 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। आज इस जगह को चुमुकेदिमा के नाम से जाना जाता है और यह अपनी जैव विविधता के लिए जाना जाता है। यदि आप नागालैंड के सच्चे स्वाद का अनुभव करना चाहते हैं, तो आपको इस जगह की यात्रा अवश्य करनी चाहिए।

    ...
    + अधिक पढ़ें
  • 12दीज्फे हस्तशिल्प गांव

    जैसा कि नाम से पता चलता है, दीज्फे हस्तशिल्प गांव एक हस्तशिल्प और हथकरघा का गांव है। टेन्‍यीमेई समुदाय गांव के प्राथमिक निवासी हैं, जो अपने उत्कृष्ट शिल्प कौशल के लिए जाने जाते हैं। क्राफ्ट विलेज अपनी दक्ष लकड़ी की नक्काशी, बांस के काम और हस्तशिल्प और हथकरघा के...

    + अधिक पढ़ें
  • 13नागालैंड विज्ञान केन्द्र

    नागालैंड विज्ञान केन्द्र अपनी नवीनता और उत्तम प्रसंग पार्क के माध्यम से 'क्रिया में विज्ञान' के विचार को बढ़ावा देता है। विज्ञान केंद्र राज्य सरकार की ओर से विज्ञान को दिलचस्प, चपल और अनौपचारिक बनाने के लिए एक पहल के रूप में शुरू किया गया था। नागालैंड विज्ञान...

    + अधिक पढ़ें
  • 14कुकी डोलोंग गांव

    कुकी डोलोंग गांव

    जैसा कि नाम संकेत करता है उत्तरी पूर्व में गांव प्राचीनतम जनजातियों में से कुकी जनजाति द्वारा बसाया गया, यह जगह दीमापुर से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है और मेदजीफेमा तहसील, दीमापुर जिले के अंतर्गत आती है। यहाँ, आपको कुकी संस्कृति, उनकी सम्रद्ध और जीवंत परंपरा और...

    + अधिक पढ़ें
One Way
Return
From (Departure City)
To (Destination City)
Depart On
21 Feb,Thu
Return On
22 Feb,Fri
Travellers
1 Traveller(s)

Add Passenger

  • Adults(12+ YEARS)
    1
  • Childrens(2-12 YEARS)
    0
  • Infants(0-2 YEARS)
    0
Cabin Class
Economy

Choose a class

  • Economy
  • Business Class
  • Premium Economy
Check In
21 Feb,Thu
Check Out
22 Feb,Fri
Guests and Rooms
1 Person, 1 Room
Room 1
  • Guests
    2
Pickup Location
Drop Location
Depart On
21 Feb,Thu
Return On
22 Feb,Fri
  • Today
    Dimapur
    23 OC
    74 OF
    UV Index: 9
    Partly cloudy
  • Tomorrow
    Dimapur
    16 OC
    60 OF
    UV Index: 9
    Partly cloudy
  • Day After
    Dimapur
    17 OC
    63 OF
    UV Index: 9
    Partly cloudy