Search
  • Follow NativePlanet
Share
होम » स्थल» जामनगर

जामनगर – जामों का शहर

46

1540 ई. में जाम रावल ने जामनगर शहर को नवानगर रियासत की राजधानी के रूप में स्थापित किया। यह शहर रणमल झील के इर्द-गिर्द बसा है तथा रंगमती और नागमती नदियों के संगम पर स्थित है। बाद में सन् 1920 में महाराजा कुमार श्री रणजीत सिंहजी ने इस शहर का नवीनीकरण किया और फिर यह जामनगर या “जामों का शहर” के नाम से जाना जाने लगा। 'जाम' शब्द का अर्थ है 'राजा', और इस क्षेत्र पर जड़ेजा राजपूत शासकों का शासन था, जो कृष्ण यादव वंश के वंशधर माने जाते थें। भगवान कृष्ण ने द्वारका में अपना राज्य स्थापित करने के लिए मथुरा से यादवों को यहां पुनर्स्थापित किया, जो जामनगर जिले के अंतर्गत है।

शहर की स्थापना

जाम रावल के पिता जाम लकाजी को बहादुरशाह ने बारह गांवों से सम्मानित किया। बाद में, जाम रावल काठियावाड़ चले गए और नवानगर (नया शहर) नामक शहर की स्थापना की। 1852 में जाम विभाजी के शासन के अधीन, इस शहर ने स्कूलों, अस्पतालों की स्थापना और राजकोट के लिए बनी रेलवे लाइन के कारण बहुत उन्नति की।

महाराजा कुमार श्री रणजीत सिंहजी

जामनगर के महाराजा कुमार श्री रणजीत सिंहजी एक विश्व प्रसिद्ध क्रिकेट शख़्सियत है। इनका जामनगर के विकास में एक बहुत महत्वपूर्ण योगदान रहा है। इन्होंने इस शहर पर 1907 से 1933 तक शासन किया और 1914 में, सर एडवर्ड लुतनिस नामक वास्तुकार की मदद से इस शहर का पुनर्निर्माण किया।

वे यूरोपीय वास्तुकला से बहुत प्रभावित थे और उन्होंने यूरोपीय शैली के अनुसार इस शहर को बनाया। अब दीवारों से भरा शहर और खुला हो गया और ज़्यादातर घर मानकीकृत वास्तुकला शैली में बनाए गए जो इस शहर को एक समान रुप प्रदान करते हैं। जामनगर शहर को भारत के पेरिस का खिताब मिला। विलिंगड़न क्रीसेंट, प्रताप विलास महल, सोलेरियम जैसे कई महत्वपूर्ण स्थल इनके संरक्षण के तहत बनाए गए हैं। इन्हीं के काल दौरान बेदी बंदरगाह का निर्माण हुआ और रेलवे लाइन को भी विकसित किया गया।

यह इसके लिए भी प्रसिद्ध है

बहुत समय पहले, जामनगर मछली पकड़ने के लिए एक छोटे मोती के रूप में प्रसिद्ध था। यह कल भी और आज भी टाई-डाई और बंधानी की परंपरागत तकनीकों का एक प्रसिद्ध केंद्र है, कपड़ा रंगने में बहुत समय लेने वाली दो प्रक्रियाएं। माना जाता है कि पिछले 500 सालों में इस शहर ने इन तकनीकों में महारत हासिल कर ली है।

संस्कृति

काठियावाड़ी भाषा, जो गुजराती की एक बोलचाल की भाषा है व्यापक रूप से हर रोज प्रयोग की जाता है। आबादी का एक छोटा सा हिस्सा कच्छी बोली बोलता है।

पर्यटक आकर्षण

जामनगर में प्राकृतिक उपवनों का और अभयारण्यों का एक विशाल भंडार है। भारत का एक मात्र समुद्री अभयारण्य, मरीन नेशनल पार्क, जामनगर के निकट, पिरोटन द्वीप की प्रवाल – शैलमाला पर स्थित है। खिजादिय पक्षी अभयारण्य, गागा वन्यजीव अभयारण्य और पीटर स्कॉट प्रकृति उपवन जामनगर में देखे जाने वाले कुछ अन्य पारिस्थितिक तंत्र हैं।

जामनगर में चार प्रसिद्ध संगमरमर के बने जैन मंदिर हैं: वर्धमान शाह मंदिर, रायसी शाह मंदिर, शेठ मंदिर, और वासुपूज्य स्वामी मंदिर हैं। जामनगर का बाल हनुमान मंदिर बहुत प्रसिद्ध है। इसका नाम 1 अगस्त 1964 से, सबसे लंबे समय तक निरंतर "राम धुन" के जाप के लिए गिनीज बुक ऑफ वल्ड़ रिकॉर्ड्स की सूची में शामिल है। लखौटा मीनार लखौटा झील का एक अन्य पर्यटन स्थल है और इसे जाम रणमलजी के शासनकाल दौरान सूखे से राहत पाने के लिए बनाया गया था।

रणजीतसागर बांध, प्रताप विलास महल, रतन भाई मस्जिद, दरबार गढ़, भिदभनजन मंदिर, खिजादा मंदिर, बोहरा हाजीरा, भुजिओ कोठो, माणिक भाई मुक्तिधाम, रोज़ी बंदरगाह और बेदी बंदरगाह जामनगर में देखे जाने वाले कुछ अन्य स्थान हैं।

जड़ेजा राजपूत जाम तथा प्रसिद्ध क्रिकेटर रणजीतसिंहजी के नाम के साथ जुड़ा, यह जामनगर शहर निश्चित रूप से यात्रा करने के लिए एक अच्छी जगह है।

 

जामनगर इसलिए है प्रसिद्ध

जामनगर मौसम

घूमने का सही मौसम जामनगर

  • Jan
  • Feb
  • Mar
  • Apr
  • May
  • Jun
  • July
  • Aug
  • Sep
  • Oct
  • Nov
  • Dec

कैसे पहुंचें जामनगर

  • सड़क मार्ग
    जामनगर सड़क मार्ग द्वारा गुजरात के सभी शहरों से जुड़ा हुआ है। विभिन्न राज्य परिवहन तथा निजी एसी बसें राजकोट, द्वारका, पोरबंदर, अहमदाबाद, भुज, सूरत और अन्य स्थानों से नियमित रुप से जामनगर के लिए चलती हैं।
    दिशा खोजें
  • ट्रेन द्वारा
    जामनगर रेलवे स्टेशन से अहमदाबाद, दिल्ली, मुंबई, वाराणसी, कोलकाता और गोरखपुर जैसे स्थानों के लिए नियमित ट्रेनों की सेवा उपलब्ध है। सौराष्ट्र एक्सप्रेस और सौराष्ट्र मेल मुंबई और जामनगर के बीच चलने वाली दो लोकप्रिय गाड़ियां हैं।
    दिशा खोजें
  • एयर द्वारा
    जामनगर हवाई अड्ड़ा शहर से लगभग 10 किमी की दूरी पर स्थित है। हर रोज घरेलू विमान सेवाओं की विभिन्न उड़ानें मुंबई और जामनगर के बीच के शहरों के लिए उड़ान भरती हैं।
    दिशा खोजें
One Way
Return
From (Departure City)
To (Destination City)
Depart On
20 Jan,Thu
Return On
21 Jan,Fri
Travellers
1 Traveller(s)

Add Passenger

  • Adults(12+ YEARS)
    1
  • Childrens(2-12 YEARS)
    0
  • Infants(0-2 YEARS)
    0
Cabin Class
Economy

Choose a class

  • Economy
  • Business Class
  • Premium Economy
Check In
20 Jan,Thu
Check Out
21 Jan,Fri
Guests and Rooms
1 Person, 1 Room
Room 1
  • Guests
    2
Pickup Location
Drop Location
Depart On
20 Jan,Thu
Return On
21 Jan,Fri