Search
  • Follow NativePlanet
Share
होम » स्थल » नासिक » आकर्षण
  • 01सुला वाइनयार्ड

    सुला वाइनयार्ड

    नासिक में सुला दाख की बाड़ियाँ हैं। जैसे नागपुर संतरे के लिए जाना जाता है वैसे ही नासिक अंगूर के लिए जाना जाता है। नासिक अंगूर के प्रमुख उत्पादकों में से एक के रूप में भारत को एक महत्वपूर्ण स्थान दिलाता है। इस शहर की जलवायु अंगूर की खेती के लिए उपयुक्त है। सुला...

    + अधिक पढ़ें
  • 02रामकुंड

    रामकुंड

    रामकुंड टैंक नासिक के क्षेत्र में मुख्य आकर्षण में से एक है। इसका निर्माण 300 से अधिक साल पहले, 1696 में चितारो खातरकर द्वारा किया गया। यह पवित्र टैंक 12 मी से 27 मी के एक विशाल क्षेत्र पर फैला है।

    किंवदंती है कि भगवान राम और उनकी पत्नी सीता ने वनवास के...

    + अधिक पढ़ें
  • 03सिक्का संग्रहालय

    सिक्का संग्रहालय

    सिक्का संग्रहालय नासिक में एक महान पर्यटन स्थल है। एशिया में यह अपनी तरह का केवल एक ही सिक्का संग्रहालय - जो कि भारतीय न्यूमिज़माटिक अध्ययन रिसर्च संस्थान द्वारा1980 में शुरू किया गया था। यह अंजनेरी की खूबसूरत पहाड़ियों में स्थित है और अपना एक समृद्ध इतिहास रखता...

    + अधिक पढ़ें
  • 04त्रिम्बकेश्वर

    त्रिम्बकेश्वर भारत के सबसे ज्यादा पवित्र माने गए स्थलों में से एक है। ये जगह नासिक के पास स्थित है। ये जगह इसलिए भी ख़ास मानी गयी है की ये उन 12  जगहों में से एक है जहाँ ज्योतिर्लिंग है।

    ऐसा माना जाता है कि अगर व्यक्ति त्रिम्बकेश्वर जाये तो उसे मोक्ष...

    + अधिक पढ़ें
  • 05दूधसागर झरना

    दूधसागर झरना

    दूधसागर झरना महाराष्ट्र राज्य में सबसे अच्छे झरनों में से एक है। नासिक के पास सोमेश्वर में स्थित यह झरना 10 मीटर की गहराई से गिरता हुआ पनोर्मिक असली दृश्य देता है।

    एक लोकप्रिय पिकनिक स्पॉट, यह झरना सबसे ज्यादा मानसून के दौरान देखा जाता है। वहाँ खुदे हुए...

    + अधिक पढ़ें
  • 06कुंभ मेला

    कुंभ मेला

    कुंभ मेला नासिक के क्षेत्र की एक बड़ी घटना है। कुंभ मेला एक लोकप्रिय उत्सव है जिसकी पहचान कई सालों से लोगों में है, यह एक बड़ी धार्मिक सभा है जो कि दुनिया में सबसे बड़ी है।नासिक के पर्यटन विभाग द्वारा इस उत्सव को बढ़ावा दिया गया है, जिससे यह धीरे धीरे नासिक में एक...

    + अधिक पढ़ें
  • 07भागुर

    भागुर

    भागुर भारतीय इतिहास में एक बहुत ही महत्वपूर्ण जगह है। यह प्रतिष्ठित स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर का जन्मस्थान है।

    यहाँ भागुर देवी का मंदिर है जो कि देवलाली शिविर से 3 किमी दूर और यह नासिक से 17 किलोमीटर की दूरी पर है।

    + अधिक पढ़ें
  • 08पांडवलेनी गुफाएं

    पांडवलेनी गुफाएं

    पांडवलेनी गुफाएं, नासिक में स्थित है, जहाँ कोई  भी वास्तुकला प्रेमी प्रसन्न होगा। त्रिवाष्मी  हिल्स के पठार पर बसे, पांडवलेनी गुफाएं 20 से अधिक सदियों पुरानी है। गुफाओं की संख्या चौबीस है और जैन राजाओं द्वारा निर्मित मानी जाती है ।

    जैन संत...

    + अधिक पढ़ें
  • 09कालाराम मंदिर

    कालाराम मंदिर नासिक में एक प्रमुख तीर्थ आकर्षण है। 1794 में गोपिकाबाई पेशवा द्वारा निर्मित, कालाराम मंदिर अपने स्थापत्य शैली में त्रिंबकेश्वर मंदिर जैसा दिखता है।  कुछ मील दूर एक स्थित महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल है। यह पूरी तरह से काला पत्थर से बनाया गया है।

    ...
    + अधिक पढ़ें
  • 10मुक्तिधाम मंदिर

    मुक्तिधाम मंदिर

    मुक्तिधाम मंदिर एक प्रसिद्ध मंदिर नासिक शहर से 8 किमी दूर के आसपास स्थित है। मंदिर खूबसूरती से शुद्ध सफेद रूप में बनाया गया है। यह श्री जयराम भाई बाईटको द्वारा निर्मित किया गया है।

    पवित्र मंदिर की वास्तुकला अलग और अपरंपरागत है। इसकी दीवारों पर भगवद गीता के...

    + अधिक पढ़ें
One Way
Return
From (Departure City)
To (Destination City)
Depart On
21 May,Tue
Return On
22 May,Wed
Travellers
1 Traveller(s)

Add Passenger

  • Adults(12+ YEARS)
    1
  • Childrens(2-12 YEARS)
    0
  • Infants(0-2 YEARS)
    0
Cabin Class
Economy

Choose a class

  • Economy
  • Business Class
  • Premium Economy
Check In
21 May,Tue
Check Out
22 May,Wed
Guests and Rooms
1 Person, 1 Room
Room 1
  • Guests
    2
Pickup Location
Drop Location
Depart On
21 May,Tue
Return On
22 May,Wed
  • Today
    Nashik
    26 OC
    78 OF
    UV Index: 8
    Partly cloudy
  • Tomorrow
    Nashik
    23 OC
    74 OF
    UV Index: 8
    Partly cloudy
  • Day After
    Nashik
    23 OC
    73 OF
    UV Index: 7
    Partly cloudy