Search
  • Follow NativePlanet
Share
होम » स्थल » पचमढ़ी » आकर्षण
  • 01अप्सरा विहार

    अप्सरा विहार

    अप्सरा विहार एक छोटा जल प्रपात है जिसके नीचे एक उथला कुंड है। इसे फेयरी पूल (परी कुंड) भी कहा जाता है। सुरक्षित तैराकी, छलांग लगाने और खुले स्थान में प्राकृतिक स्नान के लिए यह एक उचित स्थान है। कुंड गहरा नहीं है अत: बच्चों वाले परिवार के मनोरंजन का अच्छा स्थान है।...

    + अधिक पढ़ें
  • 02क्राइस्ट चर्च

    क्राइस्ट चर्च

    पचमढ़ी में स्थित क्राइस्ट चर्च का निर्माण अंग्रेजों ने वर्ष 1875 में किया था। इस चर्च की वास्तुकला शैली यूरोपीयन शैली की है जिसमें आयरिश, फ्रेंच और ब्रिटिश वास्तुकला शैली के तत्व मिले हुए हैं। चर्च में जो कांच लगाए गए हैं वे बेल्जियम से लाये गए हैं।

    चर्च...

    + अधिक पढ़ें
  • 03हांड़ी खोह

    हांड़ी खोह

    हांड़ी खोह पचमढ़ी वन क्षेत्र के अंदर एक घाटी या दर्रा है। यह 300 मीटर की ऊंचाई से गिरता है और इसके चारों ओर ऊँची नीची चट्टानें हैं। यह एक सुंदर और एकांत स्थान है जहाँ आप केवल मधुमक्खियों का शोर और पानी के प्रवाह की आवाज़ सुन सकते हैं। स्थानीय कहावत के अनुसार पहले...

    + अधिक पढ़ें
  • 04रजत प्रपात

    रजत प्रपात

    रजत प्रपात पचमढ़ी का सबसे बड़ा प्रपात है। इसका नाम रजत प्रपात इसलिए पड़ा क्योंकि जब सूर्य की किरणें पानी पर पड़ती हैं तो यह चांदी की तरह चमकता है। रजत प्रपात का शाब्दिक अर्थ है “चांदी का प्रपात” क्योंकि हिंदी में रजत का अर्थ चांदी और प्रपात का अर्थ है पानी...

    + अधिक पढ़ें
  • 05हार्पर गुफा

    हार्पर गुफा पचमढ़ी में स्थित एक छोटी गुफा है। इस गुफा की दीवारों पर सुंदर प्राचीन चित्र हैं। इसमें एक व्यक्ति को वाद्य यंत्र हार्प (बीन) बजाते हुए दिखाया गया है; इसी आधार पर इसका नाम पड़ा। यह जटा शंकर गुफा के पास स्थित है।

    + अधिक पढ़ें
  • 06लांजी गिरि

    लांजी गिरि

    लांजी गिरि पचमढ़ी में स्थित एक पहाड़ी है। जो लोग साहसिक कार्य करना पसंद करते हैं वे नियमित तौर पर यहाँ आते हैं। यह पहाड़ी ट्रेकिंग और रॉक क्लाईम्बिंग के लिए उचित है। लांजी गिरि पूर्व और पश्चिम दोनों ओर से फैला हुआ है। इसमें एक भूमिगत गलियारा है जो पहाड़ी के पश्चिमी...

    + अधिक पढ़ें
  • 07इरेने पूल

    इरेने पूल एक कुंड है जो स्नान करने के लिए उपयुक्त है। इसका नाम इरेने पूल पड़ा क्योंकि इसका निर्माण इरेने बोस ने किया था। वे ब्रिटिश ऑफिसर जस्टिस विवान बोस की पत्नी थी। पानी एक गुफा में से आता है जो बाद में भूमिगत हो जाता है और बाद में एक वॉटरफॉल बनाता है।  यह...

    + अधिक पढ़ें
  • 08बी फॉल्स

    बी फॉल्स पचमढ़ी का एक सुंदर जलप्रपात है। इसे जमुना प्रपात भी कहा जाता है। यह पचमढ़ी घाटी के लिए पीने के पानी की आपूर्ति करता है। बी फॉल्स एक अद्भुत झरना है जो कलकल ध्वनि के साथ बहता है। यहाँ जल प्रपात के ऊपर और नीचे कुंड है।  वे लोग जो साहसिक कार्य करना पसंद...

    + अधिक पढ़ें
  • 09जटा शंकर गुफाएं

    जटा शंकर गुफाएं

    जटा शंकर गुफा पचमढ़ी की प्राकृतिक गुफाएं हैं। यह शैव परंपरा को मानने वालों के लिए पूजा का एक महत्व पूर्ण स्थान् है। गुफा के अंदर एक बड़ा शिवलिंग है। यह शिवलिंग प्राकृतिक रूप से बना हुआ है। कथा के अनुसार यह वह स्थान है जहाँ शिव ने स्वयं को भस्मासुर से छिपाया था।...

    + अधिक पढ़ें
  • 10धूपगढ़

    धूपगढ़

    धूपगढ़ चोटी सतपुड़ा श्रेणी की सबसे ऊंची चोटी है। यह 1350 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यह न केवल पचमढ़ी का बल्कि मध्य प्रदेश और मध्य भारत का भी सबसे ऊंचा स्थान है। पचमढ़ी में सूर्यास्त का दृश्य देखने के लिए यह एक श्रेष्ठ स्थान है।

    इसके अलावा यह स्थान पिकनिक के लिए...

    + अधिक पढ़ें
  • 11प्रियदर्शिनी प्वाइंट

    प्रियदर्शिनी प्वाइंट

    प्रियदर्शनी प्वाइंट वह स्थान है जहाँ से संपूर्ण पचमढ़ी घाटी का दृश्य देखा जा सकता है। वर्ष 1857 में कैप्टन फोरसिथ ने इसी स्थान से पचमढ़ी की खोज की थी। पहले इसे फोरसिथ प्वाइंट कहा जाता था। इसके खोज के बाद ब्रिटिश लोगों ने पचमढ़ी को हिल स्टेशन के रूप में विकसित किया।...

    + अधिक पढ़ें
  • 12डचेस फॉल्स

    डचेस फॉल्स

    डचेस फॉल्स पचमढ़ी का एक सुंदर जलप्रपात (झरना) है। यह खूबसूरत झरना तीन अलग अलग जलप्रपात बनाता है। इसके आधार तक पहुँचने के लिए आपको 4 किमी. तक पैदल चलना पड़ता है। प्रपात लगभग सौ मीटर की ऊंचाई से गिरता है और गिरते हुए सुंदर कलकल की आवाज़ करता है। यह झरना कई छोटे छोटे...

    + अधिक पढ़ें
  • 13भारत नीर

    भारत नीर

    भारत नीर जिसे डोरोथी डीप भी कहा जाता है, पचमढ़ी की एक आश्रय गुफा है। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने 1930 में यहाँ खुदाई की थी। सर्वे के दौरान वे मध्यकालीन युग से कई बर्तन और वस्तुओं के अवशेष एकत्रित कर सकते हैं। गुफा के अंदर जानवरों के कलात्मक चित्र हैं। यह हमें बीते...

    + अधिक पढ़ें
  • 14पांडव गुफाएं

    पचमढ़ी में स्थित पांडव गुफाएं पांच छोटी पहाड़ियों का समूह हैं। ऐसा विश्वास है कि अपने निष्कासन के दौरान पांडवों ने यहाँ शरण ली थी। इन गुफाओं का आकार छोटा है। तुलनात्मक रूप से बड़ी गुफा जिसमें हवा का पर्याप्त प्रवाह है उसे द्रौपदी कुटी या गुफा कहा जाता है।

    ...
    + अधिक पढ़ें
  • 15बड़ा महादेव गुफाएं

    बड़ा महादेव गुफाएं

    बड़ा महादेव गुफा पचमढ़ी से लगभग 10 किमी. की दूरी पर स्थित है। यह भगवान महादेव या शिव का मंदिर है। यह 60 मीटर लंबी गुफा है। इन गुफाओं में भगवान ब्रह्मा, विष्णु और गणेश के मंदिर है। स्थानीय विश्वास के अनुसार, बड़ा महादेव गुफा वह स्थान है जहाँ भगवान विष्णु ने मोहिनी नाम...

    + अधिक पढ़ें
One Way
Return
From (Departure City)
To (Destination City)
Depart On
23 May,Thu
Return On
24 May,Fri
Travellers
1 Traveller(s)

Add Passenger

  • Adults(12+ YEARS)
    1
  • Childrens(2-12 YEARS)
    0
  • Infants(0-2 YEARS)
    0
Cabin Class
Economy

Choose a class

  • Economy
  • Business Class
  • Premium Economy
Check In
23 May,Thu
Check Out
24 May,Fri
Guests and Rooms
1 Person, 1 Room
Room 1
  • Guests
    2
Pickup Location
Drop Location
Depart On
23 May,Thu
Return On
24 May,Fri
  • Today
    Pachmarhi
    30 OC
    85 OF
    UV Index: 8
    Sunny
  • Tomorrow
    Pachmarhi
    26 OC
    79 OF
    UV Index: 8
    Sunny
  • Day After
    Pachmarhi
    27 OC
    81 OF
    UV Index: 9
    Sunny