Search
  • Follow NativePlanet
Share
होम » स्थल» रानीखेत

रानीखेत - गर्मियों में सर्दी का एहसास

26

व्यापक रूप से 'रानी के मैदान' के रूप में जाना जाने वाला रानीखेत, अल्मोड़ा जिले का एक सुंदर हिल स्टेशन है। लोककथाओं के अनुसार, पद्मिनी, कुमाऊं क्षेत्र की सुंदर रानी रानीखेत आयीं थीं और इस जगह की खूबसूरती की कायल हो गईं। इसलिए, उनके पति राजा सुखहरदेव ने इस जगह पर एक महल का निर्माण कराया और इसे 'रानीखेत' का नाम दिया। हालांकि इस महल के लिए कोई पुरातात्विक साक्ष्य नहीं है, रानीखेत के हर नुक्कड़ और कोने में कहानी अभी भी जिंदा है।

रानीखेत के आस पास की जगह

ब्रिटिश ने 1869 में इस जगह को फिर से खोजा और इसे अपने ग्रीष्मकालीन निवास के रूप में तब्दील कर दिया। उन्होंने यहां ब्रिटिश कुमाऊं रेजिमेंट के मुख्यालय की स्थापना की। वर्तमान में, औपनिवेशिक विरासत को रखते हुए, रानीखेत भारतीय सेना के प्रसिद्ध कुमाऊं रेजीमेंट के मुख्यालय के रूप में कार्य करता है। यह अद्भुत स्थान अपने हरे भरे जंगल और घास के मैदान के लिए एक बड़े पैमाने पर पर्यटनों का अंतर्वाह करता है। आकर्षक हिमालय की बर्फ से ढकी पर्वतमालाओं से घिरा हुआ, यह हिल स्टेशन समुद्र स्तर से 1869 मीटर की ऊंचाई पर कुमाऊं की ऊपरी पहाड़ियों पर बसा है।

नैनीताल से 60 किमी की दूरी पर और अल्मोड़ा शहर से 50 किमी की दूरी पर स्थित, रानीखेत हरे भरे देवदार, ओक और देवदार के जंगलों के बीच में विश्राम करने का अवसर देता है। यात्री तेंदुआ, काकड़, सांभर, तेंदुआ बिल्ली, पहाड़ी बकरी, भारतीय खरगोश, लाल मुख वाला बंदर, पाइन नेवला, सियार, लाल लोमड़ी, लंगूर और साही जैसे जानवरों की विभिन्न प्रजातियों को जंगलों में देख सकते हैं। इसके अलावा, मंदिर, ट्रैकिंग और पर्यटन स्थल सहित रानीखेत में कई पर्यटक आकर्षण हैं।

झूला देवी मंदिर और बिनसर महादेव, दोनों रानीखेत के सबसे प्रमुख मंदिरों में से एक हैं। झूला देवी मंदिर का निर्माण 8वीं सदी में किया गया था। यह मंदिर हिंदू देवी दुर्गा को समर्पित है और कई तीर्थयात्री देवी की प्रार्थना के लिए यहाँ आते हैं। रानीखेत से 15 किमी की दूरी पर स्थित, बिनसर महादेव, हिंदू भगवान शिव को समर्पित है। यह मंदिर देवदार के जंगल से घिरा हुआ है और यहां एक प्राकृतिक जल झरना है।

कुमाऊं रेजिमेंटल सेंटर संग्रहालय और स्मारक एक और अच्छी तरह से जाना जाने वाला पर्यटकों का आकर्षण है। यह रानीखेत के सैनिकों द्वारा दिखायी गई बहादुरी और बलिदान को दर्शाता है। 1978 में, कुमाऊं क्षेत्र की विरासत की रक्षा के लिए एक संग्रहालय भी बनवाया गया था। यहाँ उन सैनिकों के सम्मान में, जिन्होंने देश के लिए अपने जीवन का बलिदान दिया, परेड का आयोजन किया जाता है।

मझखली रानीखेत-अल्मोड़ा मार्ग पर स्थित एक और लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। यात्री इस जगह से सोन्या चोटियों के लुभावने दृश्यों का आनंद ले सकते हैं। पहाड़ी इलाकों, हरी-भरी घाटियां और शांत जलवायु से समृद्ध, छुट्टियां मनाने वालों के लिए यह एक आदर्श स्थान है। एक अन्य जगह उपट है, जो गोल्फ़ खेलने वालों के लिए स्वर्ग है। 9 गड्ढों वाला गोल्फ कोर्स वर्तमान में देश में सबसे अच्छा गोल्फ कोर्स में गिना जाता है। यह जगह महान हिमालय के करामाती चोटियों के मंत्रमुग्ध कर देने वाले दृश्य को प्रस्तुत करता है।

चौबटिया स्वादिष्ट सेब, आड़ू, प्लम और खुबानी के हरे भरे बागों के लिए प्रसिद्ध है। हरे भरे बागों के अलावा, यह जगह एक लोकप्रिय पिकनिक स्पॉट है, जो नंदा देवी, नीलकंठ, नंदाघुंटी और त्रिशूल के रूप में चोटियों की सुंदर दृश्यों को समेटे हुए है। रानीखेत घूमने की योजना बनाने वाले यात्रियों को रानी झील घूमने का सुझाव दिया जा सकता है, जो कि एक बड़ी कृत्रिम झील है, जिसका विकास छावनी बोर्ड द्वारा वर्षा जल संग्रहण के प्रयोजन के लिए किया गया था। यह केन्द्रीय विद्यालय और कनोसा कॉन्वेंट स्कूल रानीखेत की दो प्राकृतिक लकीरों के बीच विकसित की गई है। समुद्र की सतह से 7500 फुट की ऊंचाई पर स्थित है, लोग झील में नौका विहार का आनंद ले सकते हैं।

पर्यटक सदर बाजार का लुत्फ उठा सकते हैं, जो रानीखेत में खरीददारी का प्रमुख केंद्र है। बाजार क्षेत्र में कई रेस्तरां और होटल हैं। यहां आने वाले लोग संस्कृति से जुड़ी वस्तुओं और विशिष्ट रूप से कढ़ाई वाले कपड़ों की खरीदारी कर सकते हैं। मॉल एक अन्य लोकप्रिय और कम भीड़ वाला बाजार है, जहां यात्री अद्वितीय ट्वीड शॉल, ऊनी शर्ट, जैकेट और कुर्ते खरीद सकते हैं। हस्तनिर्मित ऊनी उत्पाद भी उचित मूल्यों पर बाजार में उपलब्ध हैं।

चौखुटिया एक और विख्यात पर्यटन स्थल है, जो रानीखेत से 54 किमी की दूरी पर स्थित है। नदी रामगंगा के शांत किनारे पर स्थित है, इस जगह का नाम एक कुमाऊंनी शब्द 'चौ-खुट' से व्युत्पन्नन हुआ है, जिसका मतलब चार फुट है। इस जगह के लिये चार फुट को चार मार्गों से संदर्भित किया जाता है। पहला रास्ता रामनगर को जाता है, दूसरा कर्ण प्रयाग, तीसरा रानीखेत और चौथा तड़कताल को जाता है। इस चौथे रास्ते से खीरा नामक जगह पर भी पहुंचा जा सकता है। इसलिए, यह जगह पूरे क्षेत्र के लिए आसान सुगम रास्ते प्रदान करती है।

माउंटेन बाइकिंग और ट्रैकिंग सबसे लोकप्रिय साहसिक खेल हैं, जिनका रानीखेत में आनंद ले सकते हैं। रानीखेत के अन्य आकर्षण द्वारहाट, भालू बांध, ताड़ीखेत, कुमाऊं रेजीमेंट गोल्फ कोर्स, छावनी आशियाना पार्क, सनसेट प्वाइंट और खूंट हैं। यहां सीताखेत, जौरासी और खैराना भी घूमने लायक स्थान हैं।

कैसे जाएं रानीखेत

रानीखेत अच्छी तरह से वायु, रेल और सड़क मार्ग से देश के अन्य भागों से जुड़ा है।

रानीखेत का मौसम

क्षेत्र में साल भर मध्यम जलवायु बनी रहता है। गर्मी के मौसम में यह खूबसूरत गंतव्य घूमने के लिए आदर्श माना जाता है। यात्री मानसून के दौरान भी यहाँ की यात्रा कर सकते हैं, क्योंकि इस समय यहां का जलवायु खुशनुमा रहता है।

रानीखेत इसलिए है प्रसिद्ध

रानीखेत मौसम

रानीखेत
26oC / 80oF
  • Sunny
  • Wind: NE 6 km/h

घूमने का सही मौसम रानीखेत

  • Jan
  • Feb
  • Mar
  • Apr
  • May
  • Jun
  • July
  • Aug
  • Sep
  • Oct
  • Nov
  • Dec

कैसे पहुंचें रानीखेत

  • सड़क मार्ग
    रानीखेत क्षेत्र के पास के स्थानों से आसान एवं नियमित बस सेवा सेवाएं उपलब्ध हैं। नैनीताल, अल्मोड़ा और बरेली जैसे स्थानों से रानीखेत सड़क मार्ग द्वारा अच्छी् तरह से जुड़ा हुआ है। नई दिल्ली से रानीखेत के लिये टूरिस्ट एवं सरकारी बसें नियमित रूप से मिलती हैं।
    दिशा खोजें
  • ट्रेन द्वारा
    यहाँ का निकटतम रेलवे स्टेशन काठगोदाम रेलवे स्टेशन है जो रानीखेत से 80 किमी की दूरी पर स्थित है। यहां से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के लिये नियमित ट्रेंनें जाती हैं। साथ ही कई अन्य् शहरों से भी यहां के लिये ट्रेनें उपलब्ध हैं। स्टेशन से रानीखेत के लिए प्रीपेड टैक्सियां आसानी से उपलब्ध हैं।
    दिशा खोजें
  • एयर द्वारा
    पंतनगर हवाई अड्डे के पास घरेलू उड़ानें रानीखेत से 119 किमी की दूरी पर स्थित है। इस हवाई अड्डे से दिल्ली के लिए नियमित उड़ानें जाती हैं। इंटरनेशनल एयरबेस के रूप में इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा रानीखेत से 350 किमी की दूरी पर स्थित है। इसके अलावा, यह हवाई अड्डा अच्छी तरह से देश के सभी प्रमुख शहरों से जुड़ा है। पंतनगर हवाई अड्डे से रानीखेत के लिए प्रीपेड टैक्सियां उपलब्ध हैं।
    दिशा खोजें

रानीखेत यात्रा डायरी

One Way
Return
From (Departure City)
To (Destination City)
Depart On
22 May,Wed
Return On
23 May,Thu
Travellers
1 Traveller(s)

Add Passenger

  • Adults(12+ YEARS)
    1
  • Childrens(2-12 YEARS)
    0
  • Infants(0-2 YEARS)
    0
Cabin Class
Economy

Choose a class

  • Economy
  • Business Class
  • Premium Economy
Check In
22 May,Wed
Check Out
23 May,Thu
Guests and Rooms
1 Person, 1 Room
Room 1
  • Guests
    2
Pickup Location
Drop Location
Depart On
22 May,Wed
Return On
23 May,Thu
  • Today
    Ranikhet
    26 OC
    80 OF
    UV Index: 7
    Sunny
  • Tomorrow
    Ranikhet
    20 OC
    67 OF
    UV Index: 7
    Sunny
  • Day After
    Ranikhet
    20 OC
    69 OF
    UV Index: 7
    Partly cloudy