Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »सुसाइड से लेके इंजीनियरोंं की संख्या तक सिगरेट से लेके पब और बार सब में नंबर 1 है बैंगलोर

सुसाइड से लेके इंजीनियरोंं की संख्या तक सिगरेट से लेके पब और बार सब में नंबर 1 है बैंगलोर

By Belal Jafri

आजकल किसी से भी पूछिये, कॉलेज खत्म करके कहाँ नौकरी करनी है जवाब मिलेगा बैंगलोर। स्कूल के बच्चों से पूछिये स्कूल के बाद आगे कि पढ़ाई कहां से करनी है जवाब आएगा बैंगलोर। भीड़- भाड़ वाले मॉल, लोगों से खचाखच भरी सड़कें और गगनचुंबी इमारतें, कुछ ऐसा नजारा आपको देखने को मिलेगा बैंगलोर में। कर्नाटक की राजधानी बैंगलोर के बारे में सुना होगा आपने। ये भारत का पांचवा सबसे बड़ा शहर है जिसकी जनसख्या लगभग 1 करोड़ है। Read : ताजमहल का खौफ़नाक रहस्य

आज बैंगलोर भारत की नई पीढ़ी का शहर भी कहा जाता हैं। गौरतलब है कि इस शहर को भारत की सूचना प्रौद्योगिकी यानी आईटी की राजधानी कहते हैं। यहाँ साफ्टवेयर तथा कम्प्यूटर से सम्बन्धित अनेक जानी मानी कंपनियां हैं जहां देश के युवा अच्छे पदों पर नौकरी कर रहे हैं। यदि आकड़ों की मानें तो आज बंगलौर में 51 % से ज़्यादा लोग भारत के विभिन्न हिस्सों से आ कर बसे हैं। Pics : बैंगलोर की कुछ खास तस्वीरें

ज्ञात हो कि बैंगलोर को गार्डन सिटी ऑफ़ इंडिया और अपने सुहावने मौसम के कारण भी जाना जाता है। आज अपने इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको अवगत करेंगे बैंगलोर के कुछ ऐसे रहस्यों से जिसको जानने के बाद आप अपने दांतों तले अंगुली दबा लेँगे। जहां एक तरफ ये रहस्य आपको डराएंगे तो वहीं दूसरी ओर ये रहस्य आपको इस खूबसूरत शहर की तरफ़ आकर्षित करेंगे। तो अब देर किस बात की आइये जानें बैंगलोर के इन खास रहस्यों को।

बैंगलोर में जला देश क पहला बल्ब

बैंगलोर में जला देश क पहला बल्ब

जी हां शायद आपको आश्चर्य हो मगर देश में 1905 के दौरान सबसे पहले बिजली की शुरुआत इसी शहर से हुई। बैंगलोर का सिटी मार्केट वो स्थान था जहां सबसे पहले इलेक्ट्रिक लाइटिंग ने अपनी चमक बिखेरी ।

सबसे ज्यादा पब

सबसे ज्यादा पब

आज पूरे भारत के मुकाबले बैंगलोर में पबों की सर्वाधिक संख्या है जिस कारण आज बैंगलोर को पब कैपिटल ऑफ़ इंडिया के नाम से भी जाना जाता है।

सबसे ज्यादा सिगरेट भी जलती है बैंगलोर में

सबसे ज्यादा सिगरेट भी जलती है बैंगलोर में

जी हां बिल्कुल सही सुना आपने, आज पूरे भारत की अपेक्षा सबसे ज्यादा सिगरेट की भी खपत कर्नाटक की रजधानी बैंगलोर में है।

सबसे ज्यादा कुत्ते और रेबीज के इंजेक्शन भी लगते हैं

सबसे ज्यादा कुत्ते और रेबीज के इंजेक्शन भी लगते हैं

ये बात भी आपको आश्चर्यचकित कर देगी कि आज पूरे भारत के मुकाबले सबसे ज्यादा आवारा कुत्ते बैंगलोर में हैं। बताया जाता है कि यहां प्रति घंटे 12 लोग इन आवारा कुत्तों द्वारा काटे जाते हैं। मजेदार बात ये है कि यहां प्रति 37 व्यक्ति 1 आवारा कुत्ता है।

बैंगलोर में 280 झीलें और टैंक हैं

बैंगलोर में 280 झीलें और टैंक हैं

किसी और शहर के मुकाबले आज बैंगलोर में 280 के आस पास छोटी बड़ी झीलें और टैंक हैं। ज्ञात हो कि आज भारी अतिक्रमण के चलते इन झीलों और टैंकों क पता लगाना एक नामुमकिन सी बात है।

किसी भी शहर में इंजीनियरिंग कॉलेजों की सबसे ज्यादा संख्या

किसी भी शहर में इंजीनियरिंग कॉलेजों की सबसे ज्यादा संख्या

आज बैंगलोर में 77 इंजीनियरिंग कॉलेज हैं जो और किसी भी शहर के अनुपात में कहीं ज्यादा हैं। आपको बता दें कि इन सभी इंजीनियरिंग कॉलेजों में सबसे ज्यादा विश्वेश्वरैया प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय से संबद्ध हैं।

दुनिया में सबसे ज्यादा इंजीनियरों की संख्या का शहर

दुनिया में सबसे ज्यादा इंजीनियरों की संख्या का शहर

आज बैंगलोर को ये भी गौरव प्राप्त है कि पूरे विश्व की तुलना में सबसे ज्यादा इंजीनियर यहीँ वास करते हैं।

सुसाइड कैपिटल ऑफ इंडिया भी बैंगलोर ही है जनाब

सुसाइड कैपिटल ऑफ इंडिया भी बैंगलोर ही है जनाब

ये बात आपको जरूर अचरज में डाल देगी पूरे भारत की तुलना में सबसे ज्यादा फ्रस्ट्रेशन की कंडीशन में बैंगलोर के लोग हैं, और यही लोग कभी ट्रेन के आगे तो कभी पंखें में फांसी का फंदा डाल के दुनिया को अलविदा कह देते हैं। नेशनल क्राइम ब्यूरो की रिपोर्ट के अनुसार यहां हर एक लाख में 35 लोग रोजाना आत्महत्या करते हैं।

 भारत से नोबेल पुरस्कार के लिये वैज्ञानिकों के सार्वाधिक नामांकन

भारत से नोबेल पुरस्कार के लिये वैज्ञानिकों के सार्वाधिक नामांकन

इस बात पर किसी भी बैंगलोर वासी को गर्व करना चाहिए कि अब तक पूरे भारत में नोबेल पुरस्कार के लिये वैज्ञानिकों के सार्वाधिक नामांकन का भी श्रेय बैंगलोर को जाता है।

भगवान शिव और पवनपुत्र हनुमान की सबसे बड़ी मूर्ति

भगवान शिव और पवनपुत्र हनुमान की सबसे बड़ी मूर्ति

क्या आप भगवान शिव और पवनपुत्र हनुमान की बेहद विशाल मूर्ति देखना चाहते हैं ? यदि आपका जवाब हां में है तो आज ही बैंगलोर आएं और इन विशाल मूर्त्तियों के दीदार करें।

देहरादून की तुलना में बैंगलोर अधिक ऊंचाई पर है

देहरादून की तुलना में बैंगलोर अधिक ऊंचाई पर है

ये बात आपको अवश्य ही बैंगलोर की तरफ आकर्षित करेगी साथ हि आपको चौंका भी देगी देहरादून की तुलना में बैंगलोर अधिक ऊंचाई पर है।

बैंगलोर - 920 मीटर

देहरादून - 630 मीटर

कॉमर्शियल और डिफेंस के जहाज़ एक साथ उड़ते हैं

कॉमर्शियल और डिफेंस के जहाज़ एक साथ उड़ते हैं

बैंगलोर का शुमार देश के एकलौते ऐसे शहर से है जहां कॉमर्शियल और डिफेंस के जहाज़ एक साथ एक ही एचएएल की पट्टी पर उड़ा करते थे। आपको बता दें कि 24 मई 2008 में कॉमर्शियल फ्लाइट के लिये यहां नया एयरपोर्ट खोला गया।

शहर जहां फ्लाई ओवर के ऊपर ट्राफिक सिग्नल है

शहर जहां फ्लाई ओवर के ऊपर ट्राफिक सिग्नल है

ये बात अपने आप में बड़ी अनोखी है बैंगलोर ही भारत का वो शहर है जहां भारी भीड़ के चलते फ्लाई ओवर के ऊपर भी ट्राफिक सिग्नल का निर्माण कर दिया गाया है।

बैंगलोर में ही सर्वाधिक मंदिर मस्जिद और चर्च हैं

बैंगलोर में ही सर्वाधिक मंदिर मस्जिद और चर्च हैं

अगर आपको वास्तव में हिंदुस्तान में कहीं कौमी एकता देखनी है तो बैंगलोर आइये यहां आज सार्वाधिक मंदिर मस्जिद और चर्च हैं।

सबसे अधिक यातायात घनत्व भी है बैंगलोर में

सबसे अधिक यातायात घनत्व भी है बैंगलोर में

जी हां बिल्कुल सही सुना आपने पूरे भारत में सबसे अधिक यातायात घनत्व का भी श्रेय कर्नाटक की राजधानी बैंगलोर को जाता है।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X