Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »इन छुट्टियों घूमने मैसूर के आसपास स्थित ऑफबीट स्थलों को

इन छुट्टियों घूमने मैसूर के आसपास स्थित ऑफबीट स्थलों को

By Goldi

दक्षिण भारत में स्थित दूसरा बड़ा शहर मैसूर कर्नाटक की सांस्कृतिक राजधानी कही जाती है। राजधानी बैंगलोर से करीबन 150 किमी की दूरी पर स्थित मैसूर पर्यटकों के बीच अपने मन्दिरों, आलीशान मैसूर महल, और ऐतिहासिक इमारतों के लिए जाना जाता है।

हालंकि स्थानीय लोग और प्रकृति प्रेमी मैसूर से ज्यादा आसपास की प्राकृतिक खूबसूरत जगहों को घूमने की तरजीह प्रदान करते हैं। अब जैसे की गर्मी का मौसम दस्तक दे ही चुका है, तो क्यों ना मैसूर के आसपास स्थित ऑफ बीट डेस्टिनेशन की सैर की जाये, जहां आपके दिमाग और आत्मा दोनों को शांति की प्राप्ति होगी।

अगर आप उन पर्यटकों या फिर घूमने वालों में से हैं, जो कम भीड़-भाड़ वाली जगहों को घूमना पसंद करते हैं, तो यकीनन मैसूर के आसपास सुंदर ग्रीष्मकालीन स्थलों की यह सूची निश्चित रूप से आपके लिए है। तो आइये जानते हैं-

विथिरी

विथिरी

Pc:Ashwin Kumar
केरल के वायनाड जिले में स्थित, विथिरी पर्यटकों की नजरों से दूर एक अनछुया खूबसूरत पर्यटन स्थल है, जोकि हरे-भरे हरियाली, रंगीन खेतों और घने जंगल से परिपूर्ण है। यह जगह स्थानीय पर्यटकों से ज्यादा ऑफ़बीट पर्यटकों के बीच खासा प्रसिद्ध है, जो इस जगह की खूबसूरती के बीच खुद को रिलेक्स करने पहुंचते हैं। पर्यटक इस खास स्थल पर ट्रैकिंग का मजा ले सकते हैं, झील के किनारे अलसा सकते हैं। यदि आप रहस्यों को सुलझाना पसंद करते हैं, तो आप चेन ट्री भी देख सकते हैं, माना जाता है कि, पेड़ पर जनजाति युवक की प्रेतात्मा है, जिसके चलते यहां कई दुर्घटनाएं हुई है।

मैसूर सेविथिरी की दूरी- 150किमी

कुन्नूर

कुन्नूर

Pc:Thangaraj Kumaravel
कुन्नूर अगर आप साफ, ताजी और स्वहच्छ हवा में सांस लेना चाहते हैं तो कुन्नूर आपके लिए बेस्ट जगह है। इस जगह के प्राकृतिक सौंदर्य को देखकर आपका मन खुशी से भर जाएगा। कोयंबटूर से 69 किमी दूर कोयंबटूर पहुंचने में 2 से 3 घंटे का समय लग सकता है। प्रकृति प्रेमियों के लिए कुन्नूृर स्वयर्ग से कम नहीं है। कुन्नूर में लैंब रॉक, डॉल्फि्न नोज़, सिम पार्क, लॉ झरना आदि दर्शनीय स्थल देख सकते हैं।

मैसूर सेकुन्नूर की दूरी- 145 किमी

कोटागिरी

कोटागिरी

Pc: Hari Prasad Sridhar
कोटागिरी,उटी के बेहद नजदीक स्थित है, और इस तमिलनाडु का छुपा हुआ खूबसूरत हिलस्टेशन भी कहा जा सकता है। कोटागिरी का मतलब है "कोटा के पहाड़"। यह जगह बेहद ही खूबसूरत परिदृश्य प्रदान करती है, जो पर्यटकों का मन मोहते हैं। यह हिल स्टेशन, समुद्र तल से 1793 मीटर की शानदार ऊंचाई पर स्थित है, और ट्रैकिंग अभियानों के लिए एक बेहतर स्थान है। यहां इसी तरह के और भी बहुत से ट्रैकिंग स्थल नीलगिरी के कई अन्य भागों में बसे हुए हैं। तथा जहां मानवीय सभ्यता अभी भी नहीं पहुंची हैं।

यदि आप प्रकृति के साथ कुछ क्वालिटी समय बिताना चाहते हैं तो आपको मैसूर से कोटागिरी तक यात्रा जरुर करनी चाहिए। पर्यटकों के यहां घूमने के लिए रंगास्वामी स्तम्भ और शिखर, कोडानाड व्यू प्वाइंट, कैथरीन वाटर फाल्स, आदि शामिल हैं।

मैसूर से कोटागिरी की दूरी- 155किमी

 बीआर हिल्स

बीआर हिल्स

Pc:Shyamal
मैसूर के आसपास के इलाके में स्थित, बीआर हिल्स आमतौर पर वन्यजीव अभयारण्य के लिए जाना जाता है। समृद्ध जंगलों परिपूर्ण शानदार मैदानों के मनोरम दृश्यों को एन्जॉय करने के अलावा पर्यटक यहां कैम्पिंग, शिविर, ट्रेकिंग और फोटोग्राफी आदि का शौक भी पूरा कर सकते हैं । तो क्यों ना इन गर्मियों की छुट्टियों में बीआर हिल्स के खूबसूरत नजारों को घूमा जाये।

मैसूर से बीआर हिल्स की दूरी- 82 किमी

यरकौड

यरकौड

Pc:Riju K

यरकौड तमिलनाडु की शेवारॉय पहाड़ियों में स्थित है तथा पूर्वी घाटों में स्थित एक हिल स्टेशन है। यह 1515 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है तथा यहाँ की प्राकृतिक सुंदरता और खुशनुमा मौसम बहुत से पर्यटकों को आकर्षित करता है। यरकौड स्थानीय तथा विदेशी पर्यटकों में तीव्रता से लोकप्रिय हो रहा है। यरकौड मुख्य रूप से कॉफ़ी, संतरा, कटहल, अमरुद, इलायची और काली मिर्च के पौधों के लिए जाना जाता है।

मैसूर सेयरकौड की दूरी- 250किमी

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X