India
Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »धार्मिक एवं ऐतिहासिक स्थलों का समायोजन है मध्य प्रदेश

धार्मिक एवं ऐतिहासिक स्थलों का समायोजन है मध्य प्रदेश

भारत का दिल कहे जाने वाला मध्य प्रदेश अपने पर्यटन के लिए पूरी दुनिया में जाना जाता है। यहां पर कई ऐतिहासिक स्मारक और धार्मिक स्थल है, पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं। इसके अलावा यहां पर प्रकृति और उसकी खूबसूरती से रूबरू करवाता हुआ कई राष्ट्रीय उद्यान और वन्य जीव अभ्यारण भी है जहां लगभग विलुप्त हो चुकी कई वनस्पतियों और जीवों की प्रजातियां पाई जाती है।

मध्य प्रदेश, देश के बीच में स्थित है। यही कारण है कि भारत के किसी भी हिस्से से यहां पहुंचना बेहद आसान है। अब हम आपको इस आर्टिकल की सहायता से मध्यप्रदेश के उन स्थानों के बारे में बताने जा रहे हैं जहां पर जाकर आपको बेहद खुशी होगी और आप इसे अपनी यात्रा डायरी में समेट कर रख सकेंगे।

खजुराहो

खजुराहो, मध्य प्रदेश का एक बहुत ही खास पर्यटन स्थल है, पूरे विश्व में अपने प्राचीन धरोहरों और मध्यकालीन मंदिरों के लिए जाना जाता है। कामसूत्र की रहस्यमई भूमि खजुराहो हजारों सालों से दुनिया भर के पर्यटकों को खासा आकर्षित करती आ रही है, इसके चलते इसने यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थलों की सूची में अपना स्थान बनाया है। दरअसल, खजुराहो मंदिर मूल रूप से हिंदू और जैन मंदिरों का एक संग्रह है, जिनका निर्माण चंदेल वंश के राजाओं द्वारा करीब 1000 से 1100 साल पहले करवाया गया था।

khajuraho

पचमढ़ी

पचमढ़ी, मध्य प्रदेश का सबसे खूबसूरत हिल स्टेशन है, जो देशी ही नहीं बल्कि विदेशी सैलानियों का भी आकर्षण का केंद्र है। यहां आपको पहाड़, झरने, हरे-भरे जंगल और मनमोहक नजरों के साथ खूबसूरती देखने को मिलेगी। सतपुड़ा की पहाड़ियों में बसा पचमढ़ी मध्य प्रदेश का कश्मीर भी कहा जाता है।

pachmarhi

ग्वालियर

ग्वालियर, अपनी ऐतिहासिक और आकर्षक महलों व मंदिरों के लिए जाना जाता है। इस शहर का निर्माण राजा सूरजसेन ने करवाया था। यहां पर ग्वालियर का किला, जय विलास पैलेस, तेली का मंदिर और तानसेन का मकबरा काफी प्रसिद्ध स्थल है जहां पर्यटकों की काफी भीड़ देखी जाती है।

gwalior

कान्हा राष्ट्रीय उद्यान

कान्हा राष्ट्रीय उद्यान, मध्य भारत का सबसे बड़ा राष्ट्रीय उद्यान है, जो राष्ट्रीय पशु बाघ और कई जंगली जानवरों के आवास के रूप में जाना जाता है। पर्यटकों को इसकी सुंदरता और इसके हरे-भरे जंगल इसकी ओर खींच लाते हैं। इसकी स्थापना साल 1955 में हुई थी।

kanha national park

ओरछा का किला

ओरछा का किला बेतवा नदी के किनारे पर स्थित है जो झांसी से करीब 15 किलोमीटर दूर है। इस किले का निर्माण 16वीं शताब्दी में बुंदेल वंश के राजा रुद्र प्रताप सिंह द्वारा करवाया गया था। इसके किले का मुख्य आकर्षण राजा महल है, जो जटिल वास्तुकला को दर्शाता है। इस महल का शीश महल, फूल बाग, राय प्रवीण महल और जहांगीर महल पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र है। इस किले की एक हिस्से में रामराजा मंदिर है, जो देश का एकमात्र ऐसा मंदिर है जहां पर भगवान राम को राजा के रूप में पूजा जाता है।

raja mahal palace

मांडू

मांडू मध्य प्रदेश का एक ऐसा शहर है जो आपको उत्तराखंड जैसा फील देता है। यहां के प्राकृतिक और ऐतिहासिक दृश्य पर्यटकों को अपनी ओर खूब आकर्षित करते हैं। सुल्तान और रानी रूपमती की अमर प्रेम कहानी यहां के कोने कोने में आपको गूंजती नजर आएगी। यहां पर शिव कैसल, रूपमती महल, बाज बहादुर का महल, रीवा कुंड और दारा खान का मकबरा प्रसिद्ध दर्शनीय स्थलों में से एक है।

rani rupawati fort

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X