Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »सिक्किम की ये 14 जगहें हैं पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र

सिक्किम की ये 14 जगहें हैं पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र

By Cheenu Verma

PC: Indrajit Das

पहाड़ जिन्हें पसंद होते हैं उनके लिए सिक्किम घूमना किसी जन्नत से कम नहीं। सिक्किम में बहुत से इलाके पहाड़ी है और इनकी ऊंचाई 280 मीटर से 8,585 मीटर तक है। इस राज्य की खूबसूरती इतनी है कि अपनी एक झलक भर दिखा कर किसी का भी दिल मोह सकती है। उत्तर पूर्व के इस राज्य की वैसे तो हर एक जगह देखने लायक है। और बात जब कुछ चुनिंदा जगहों की आती है तो चुनाव करने में मुश्किल होती है। लेकिन आपकी इस मुश्किल को आसान करने हमने चुने हैं सिक्किम के 14 बेहतरीन पर्यटक स्थल जहां जीवन में एक बार जाना तो बनता है।

1. मंगन

1. मंगन

PC: Prabhat114

पूर्वी हिमालय की गोद में बसा मंगन देश के टॉप पर्यटक स्थलों में से एक गिना जाता है। ऐसे पर्यटक, जिन्हें छुट्टियों में किसी दिलचस्प, आकर्षक, शांत और प्राकृतिक जगह की खोज रहती है, ये जगह उनके लिए एक तोहफा है। मंगन में बहुत से पर्यटन स्थल हैं जिनमें से एक है शिंगबा रोडोडेंड्रोन सैंक्चुअरी।

शिंगबा रोडोडेंड्रोन एक पौधा होता है। इस सैंक्चुअरी में करीब 40 प्रकार के रोडोडेंड्रोन हैं। इतना ही नहीं इस सैंचुअरी में कई प्रकार के पहाड़ी जानवर भी देखने को मिल जाएंगे। इसके अलावा मंगन में सिंघिक गांव है, जो मंगन से करीब 12 किमी दूर है। 500 फीट से भी ज़्यादा ऊंचाई पर स्थित इस गांव से कंचनजंगा के नज़ारे लिए जा सकते हैं।

2. गुरूडोंगमर झील

2. गुरूडोंगमर झील

PC: Amit Kumar

ये खूबसूरत और लोकप्रीय झील सिक्किम की पवित्र झीलों में से एक है। सिक्किम के गंगटोक से 190 किमी दूर स्थित ये झील, समुद्र तल से 17800 फीट की ऊंचाई पर है। ये झील देखने में इतनी साफ और सुंदर है कि पर्यटक अपनी ट्रैवल लिस्ट में इसे शामिल किए बिना रह नहीं पाते। पर्यटन के नज़रिये से ये झील देखने लायक है। टूरिस्ट इस झील की खूबसूरती का तुत्फ ले सकें, इस बात का ख्याल रखते हुए विभाग ने इसका रख-रखाव बखूबी किया है।

3. लाचुंग गांव

3. लाचुंग गांव

PC: Narender9

वैसे तो गांव कोई भी हो, हमें अच्छा ही लगता है। लेकिन सिक्किम के लाचुंग गांव की बात ही अलग है। यह तिब्बत से लगते उत्तरी सिक्किम में स्थित है। सिक्किम का ये प्यारा सा गांव, 9,600 फुट की ऊंचाई पर लाचेन व लाचुंग नदियों के संगम पर है। यूं तो ये गांव बहुत सुंदर है लेकिन बर्फ गिरने पर तो यहां की सुन्दरता इस हद तक बढ़ जाती है कि इसे शब्दों में बयान करना ज़रा मुश्किल है। तभी तो यहां दुनिया भर से पर्यटकों का तांता लग रहता है। इतनी ही नहीं, यहां का हथकरघा केंद्र, जहां स्थानीय हस्तशिल्प भी देखी जा सकती है।

4. युमथांग घाटी

4. युमथांग घाटी

सिक्किम के उत्तर में स्थित यूमथांग घाटी है जिसे फूलों की घाटी भी कहा जाता है। इस घाटी की सुंदरता देखेंगे तो आप भी मान जाएंगे कि इसे ये नाम देना बिल्कुल गलत नहीं है। फूल तो हर किसी को पसंद होते हैं। फूलों का गुलदस्ता देखते ही सबका दिल बाग-बाग हो जता है। ऐसे में यहां जब फूलों का पूरा बाग ही देखने को मिल जाए तो बात ही क्या है। यूमथांग घाटी में भारी बर्फबारी के कारण इसे दिसंबर से मार्च तक पर्यटकों के लिए बंद रखा जाता है।

5. लाचेन गांव

5. लाचेन गांव

लाचेन एक छोटा सा गांव है जो सिक्कम के उत्तर में स्थित है। लाचेन का अर्थ है ‘बड़ा दर्रा'। ये गंगटोक से लगभग 129 किमी दूर और 2750 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। लाचेन में आप झीलों तक और घाटियों की ट्रैकिंग कर सकते हैं। ट्रैकिंग के दौरन आपको संकरे पहाड़ों पर चलना पड़ सकता है जि लाचेन जैसा पर्यटन स्थल आपके लिए काफी रोमांचकारी हो सकता है।

6. थांगू घाटी

6. थांगू घाटी

थांगू घाटी सिक्किम की सबसे खूबसूरत घाटियों में से एक है। ये उत्तर लाचेन से 30 किमी दूर है। ये सुंदर घाटी पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र है। हर रोज़ सैकड़ों सैलानी यहां ट्रैकिंग का आनंद लेने आते हैं। पर्यटन के हिसाब से ये जगह एक अच्छा टूरिस्ट प्लेस सिद्ध होती है। इसके अलावा थांगू के आस-पास ग्रीन लेक, चोपटा घाटी जैसी जगहों पर भी ट्रैकिंग की जा सकती है। मार्च से जून के बीच का समय सबसे अच्छा समय है थांगू घाटी घूमने का।

7. चोपता घाटी

7. चोपता घाटी

PC: soumyajit pramanick

जैसा कि हमने बताया कि चोपता घाटी थांगू घाटी के ही पास है। सिक्किम की ये घाटी पर्यटकों के लिए एक आदर्श स्थल है कैंपिंग और ट्रैकिंग का। बहुत से सैलानी अपने परिवार के साथ छुट्टियां बिताने सिक्किम आते हैं और चोपटा घाटी में कैंपिंग करने का मौका ये कभी नहीं गवाना चाहते, क्योंकि इसकी खूबसूरती है ही ऐसी। बर्फ की चादर में लिपटी ये घाटी किसी स्वर्ग से कम नहीं लगती।

8. चुंगथांग

8. चुंगथांग

उत्तर सिक्किम का एक छोटा सा लेकिन दर्शनीय शहर चुंगनाथ, सिक्किम के बेहतरीन पर्यटन स्थलों में से एक है। ये युमथांग के काफी करीब है और गंगटोक से ये करीब 95 किमी की दूरी पर स्थित है। ये लगभग 1790 मीटर की ऊंचाई पर स्थित एक बहुत ही मनमोहक शहर है।

पर्यटन के लिए ये शहर एक बार देखना तो बनता है। माना जाता है कि चुंगनाथ में सिख गुरु, श्री गुरुनानक देव जी चीन और तिब्बत जाते समय यहां आए थे। इसलिए चुंगनाथ का नाम पंजाबी भाषा के दो नामों ‘चंगा स्थान' को जोड़कर रखा गया है। ‘चंगा स्थान' का अर्थ है, ‘अच्छा स्थान'।

9. सेवन-सिस्टर्स वाटर फॉल्स

9. सेवन-सिस्टर्स वाटर फॉल्स

सिक्किम के गंगटोक-लाचुंग हाईवे पर स्थित सेवन-सिस्टर्स वाटर फॉल्स एक खूबसूरत टूरिस्ट स्पॉट है। गंगटोक से 32 किमी दूर ये झरना सैलानियों को अपनी ओर आर्षित करता है। इस हाईवे से गुज़रने वाले यात्री झरने के करीब भले ही ना जाएं, लेकिन एक बार प्रकृति की इस नायाब सुंदरता को अपनी आंखों और कैमरों में कैद ज़रूर कर लेते हैं।

गंगटोक से यहां पहुंचने के लिए लगभग 40 मिनट का समय लगता है। अगर आप बस या किसी भी पब्लिक ट्रांसपोर्ट से जाते हैं तो आप इसे दिल भर कर नहीं देख पाएंगें। क्योंकि पब्लिक ट्रांसपोर्ट बीच में रुकते नहीं। इसलिए यहां जाने के लिए कार या टू वीलर से जाएं।

10. सिंघिक

10. सिंघिक

सिंघिक गांव मंगन से करीब 12 किमी दूर है। 500 फीट से भी ज़्यादा ऊंचाई पर स्थित इस गांव से कंचनजंगा के नज़ारे लिए जा सकते हैं। यहां कुछ ट्रैक्स हैं जिनपर ट्रैकिंग करने में बहुत कम समय लगता है जैसे, झंडी व्यू प्वाइंट और तोषा झील ट्रैक। इसके अलावा पारंपरिक लेप्चा घर और ऐतिहासिक सिंघिक मठ भी पर्यटन दृष्टि से अच्छी जगह है।

सिंघिक घूमने का सबसे सही समय गर्मियों में मार्च से मई के बीच और सर्दियों में सितंबर से अक्टूबर के बीच का है। जुलाई-अगस्त के बीच के समय यहां भारी वर्षा होती है और क्योंकि ये एक पहाड़ी क्षेत्र है, इस समय यहां जाना खतरे से खाली नहीं है।

11. माउंट कटाओ

11. माउंट कटाओ

PC: 123invincible

गंगटोक से लगभग 144 किमी दूर और लाचुंग से करीब 28 किमी दूर, माउंट कटाओ एक बेहतरीन टूरिस्ट स्पॉट है। हालांकि चोटी तक पहुंचने के लिए आपको आर्मी से अनुमति लेनी होगी। जिन्हें साहसिक कार्य और स्पोर्ट्स पसंद है, उनके लिए ये एक आदर्श स्थल है। यहां स्कीइंग, स्नोबोर्डिंग और स्टोन ट्यूबिंग जैसी गतिविधियों में हिस्सा लिया जा सकता है। माउंट कटाओ घूमने का सही समय मार्च से जून के बीच का है लेकिन बर्फ का लुत्फ उठाने के लिए दिसंबर से फरवरी के बीच का समय आदर्श है।

12. फेन्सांग मॉनेस्ट्री

12. फेन्सांग मॉनेस्ट्री

PC: walter callens

शांति और सुकून किसी पसंद नहीं होता, आखिरकार वही ढूंढने तो हम छुट्टियां बिताने बाहर जाते हैं। ऐसे में सिक्किम के फेन्सांग मॉनेस्ट्री से बेहतर कुछ नहीं। फेन्सांग मठ एक धार्मिक स्थल है। पहाड़ों के ऊपर बसा ये मठ, सिक्किम के बड़े मठों में से एक है। यहां आने पर आपको काफी तादाद में साधु संत मिलेंगे। यहां का शांत वातावरण पर्यटकों को खूब लुभाता है। मार्च-मई और अक्टूबर से दिसंबर के बीच का समय फेन्सांग मॉनेस्ट्री घूमने के लिए पर्याप्त है।

13. फोडोंग मॉनेस्ट्री

13. फोडोंग मॉनेस्ट्री

सिक्किम के उत्तर में स्थित फोडोंग मॉनेस्ट्री गंगटोक से 40 किमी के दूरी पर स्थित है। ये बेहद खूबसूरत पर्यटन स्थल अपनी प्राकृतिक सुंदरता और सुहावने मौसम के लिए मशहूर है। ज्यादातर पर्यटक गर्मियों से राहत पाने छुट्टियों में यहां के मौसम का लुत्फ लेने आते हैं। इस सुंदर मठ तक सड़क के रास्ते आसानी से पहुंचा जा सकता है। फोडोंग मॉनेस्ट्री घूमने का सही समय मार्च से मई और अक्टूबर से दिसंबर के बीच का है।

14. कबी लुंगचोक

14. कबी लुंगचोक

PC: Dibyendu Ash

सिक्किम की राजधानी गंगटोक से 17 किमी दूर कबी लुंगचोक, ऐतिहासिक पर्यटन स्थलों में से एक है। यूं तो ये पहले ही बहुत आकर्षक जगह है लेकिन जो बात इसे दूसरे पर्यटन स्थलों से अलग बनाती है वो यहां कई प्रजाति के पक्षियों का वास करना है। इसके अलावा यहां बहुत से झरने भी हैं जिनमें से एक है, सेवन-सिस्टर्स वाटर फॉल्स।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X