» »आत्मिक शांति के जरुर जायें इन खूबसूरत मठों में

आत्मिक शांति के जरुर जायें इन खूबसूरत मठों में

Written By: Goldi

कभी कभी मन करता है कि, इस भीड़भाड़ भरी दुनिया से कुछ पल सुकून के बिताये जायें। जहां खुद के साथ कुछ टाइम स्पेंड किया जाए। लेकिन कहां?

हर ओर पर्यटकों का जमावड़ा है, अगर आप भी कुछ ऐसा ही सोचते हैं तो हम आपको बताने जा रहें हैं कुछ ऐसी शांत जगहों या कहे मठो के बारे में जहां जाकर आपको आत्मिक शांति भी मिलेगी और आप खुद के साथ कुछ टाइम भी स्पेंड कर सकेंगे।
                        भारत का अंतिम गांव माणा...यहीं से पांडव गये थे स्वर्ग

इन मठों में आपको हर सुख मिलेगी..यूं तो ज्यादातर बौद्ध मठ किसी को अपने यहां सिर्फ तभी रुकने देते हैं, जब वो बौद्ध धर्म अपनाना चाहता हो, या फिर कुछ जानना चाहता हो। लेकिन लेकिन कुछ ऐसे भी मठ हैं, जो अपने यहां एकांत की तलाश में घूम रहे यात्रियों को भी जगह देते हैं।
                                         गोवा घूमे सिर्फ 4000 में....जाने कैसे

इसी क्रम में मै आपको बताने जा रहीं हूं भारत के कुछ ऐसे मठो के बारे में जहां आप कुछ दिन में ही, कमाल के अनुभव के अनुभव के साथ कुछ बेहतरीन यादें अपने साथ ले जायेंगे।

फुग्ताल मठ

फुग्ताल मठ

लुंग्नाक घाटी के पहाड़ों के चट्टानों में खोद कर बनाए हुए फुग्तल मठ मधुमक्खी के छत्ते की तरह प्रतीत होते हैं। इस प्राचीन मठ के ट्रेक पर जाना आपके लिए बहुत ही आसान होगा। इस मठ को अच्छी तरह से जानना और इसके किसी एक प्रार्थना घर में बैठ कर ध्यान लगाना, आपको सारे बेकार विचारों और लोगों से दूर शांति का एहसास कराएगा।

नको मोनास्ट्री

नको मोनास्ट्री

देश के खूबसूरत मठों में से एक नको मोनास्ट्री लाहौल स्पीति की विशाल घाटी के नको गांव में स्थित है। आप आसानी से मठ के गेस्टरूम में रुक सकते हैं। यहां सर्दी हो या गर्मी पर्यटकों का अवागमन लगा रहता है। यहां आप गर्मियों के दौरान कई प्रवासी पक्षियों को निहार सकते हैं। इस मठ में आपको आत्मिक शांति का एहसास होगा।PC:Sumita Roy Dutta

हेमिस मोनास्ट्री

हेमिस मोनास्ट्री

खूबसूरत पहाड़ियों से ढका हुआ हेमिस मठ लद्दाख के सबसे बड़े मठो में से एक है यह लेह से कुछ ही दूरी पर स्थित है। यह जगह उन लोगो के लिए एक डैम परफेक्ट जगह है जो किसी से बातचीत करना पसंद नहीं करते हैं।मठ में रहते हुए कोई भी आसानी से सुबह की प्रार्थना सभा में शामिल हो सकता है, और यकीन मानिए. ये सभा आपको जिंदगी भर याद रहेगी।PC:Mufaddal Abdul Hussain

तबो मोनास्ट्री

तबो मोनास्ट्री

अगर आप एक दम शांत माहौल चाहते हैं तो आपके तबो मोनास्ट्री एकदम उत्तम जगह है। हिमाचल की वादियों में स्थित स्पीति घाटी का यह सबसे महत्वपूर्ण मठ है। इस मठ में आपको कमाल की शांति और आत्मीयता का एहसास होगा, जिसे शब्दों में बयान नहीं किया जा सकता है।
PC: Vikramsolan

रंग्दुम मठ

रंग्दुम मठ

यह मठ जन्स्कर घाटी के रास्ते में स्थित है। ग्दुम गोम्पा पहाड़ी के ऊपर बिलकुल अकेले खड़ी है, और नीचे स्थित एक छोटे से गांव पर नजर रखती है। रंग्दुम की जिंदगी काफी धीमी है। हां रहते हुआ आप तिब्बती बौद्ध धर्म के बारे में भी अच्छी जानकारी पा सकते हैं। साथ ही आप यहां के बच्चो के साथ फुटबॉल और क्रिकेट का भी खेल सकते हैं।PC:Malikbek

थिकसे मोनास्ट्री

थिकसे मोनास्ट्री

थिकसे पूरी शिद्दत के साथ लेह और आसपास के शानदार इलाकों पर अपनी नजर रखता है। जब मौसम बादलों भरा होता है, तो इस मठ से आपको लेह बादलों से पूरी तरह से घिरा हुआ दिखेगा। यहां कि हवा बिलकुल साफ और जादूई है, और भिक्षुओं के साथ यहां रुकना किसी आशिर्वाद से कम नहीं है। इस मठ में एक लाइब्रेरी भी है, जहां आप बौद्ध धर्म की कईं पुरानी किताबें पढ़ सकते हैं।PC:Zain Hashmy

लामायुरु गोम्पा

लामायुरु गोम्पा

लेह से 60 किमी की दूरी पर स्थित लामायुरु गोम्पा को मूनलैंड या चंद्रभूमि भी कहा जाता है। ये नाम, इस जगह के पथरीले इलाके की वजह से दिया गया है। क्योंकि इस इलाके के पथरीले काउंटर्स चांद की धरती की तरह ही दिखते हैं. लामायुरु आपकी जिंदगी का सबसे खूबसूरत और अलौकिक मठों में से एक है। लामायुरु अपने आप में एक खूबसूरत एहसास है।PC: Steve Hicks

Please Wait while comments are loading...