India
Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »चिकमगलूर या पांडिचेरी? 2-3 दिनों के लिए बैंगलोर से बेस्ट वीकेंड ट्रिप

चिकमगलूर या पांडिचेरी? 2-3 दिनों के लिए बैंगलोर से बेस्ट वीकेंड ट्रिप

बैंगलोर शहर बड़ा ही खूबसूरत शहर है, जो भारत के सबसे विकसित शहरों में से एक है। यहां के आसपास कई ऐसी जगहें है, जो वीकेंड ट्रिप मनाने के लिए बेस्ट स्थान है। इनमें से ही एक है चिकमगलूर और पांडिचेरी। 2-3 दिन की छुट्टी में इन स्थानों को काफी अच्छे से घूमा जा सकता है। लेकिन अब सवाल ये जाता है कि आखिर इन दोनों जगहों में से बेस्ट कौन सी जगह है?

इस सवाल का जवाब आपको इस आर्टिकल में मिलने वाला है कि आखिर जब आपके पास दो से तीन दिन का समय हो तो सामने दो खास और सबसे सुंदर जगहों जैसा ऑप्शन हो तो कहां जाएं ताकि आप अच्छे से मस्ती कर पाएं। पढ़िए पूरा आर्टिकल...

Chikmagalur

बैंगलोर से चिकमगलूर की ट्रिप

बैंगलोर से चिकमगलूर के बीच की दूरी करीब 250 किमी. है। अगर आप रोड का सफर करना पसंद करते हैं तो आपको इस रास्ते में घूमने के लिए काफी स्थान मिलेंगे, जो आपको यहां की खूूबसूरती की ओर आकर्षित करेंगे। इसके लिए आपको 2-3 दिन का समय लगेगा। अगर आप शनिवार के भोर में निकलते हैं तो लगभग मान के चलिए कि आप रविवार की देर रात या सोमवार की भोर तक बैंगलोर वापस आ जाएंगे।

पहला दिन

इस ट्रिप की शुरुआत करने NH-4 एक बेहतर विकल्प है। बैंगलोर शहर से करीब 32 किमी. दूर आपको नेलमंगला नामक एक स्थान मिलेगा, जो दिखने में बेहद खूबसूरत है। पुराने पेड़ों के लिए जाने जानी वाली हरियाली से भरपूर नेलमंगला में आप बिन्नामंगला का सुंदर पार्क और विश्व शांति आश्रम का आनंद ले सकते हैं। यहां पर आपको ढाबे भी मिल जाएंगे, जहां आप नाश्ता या खाना खा सकते हैं।

Chikmagalur

नेलमंगला से आपको दो हाईवे मिलेंगे- एक NH-48 (बैंगलोर - मैंगलोर) और दूसरा NH-4 (मुंबई - चेन्नई)। NH-48 पर करीब 140 किमी. चलने पर आप शांतिग्राम (झीलों के लिए जाना जाता है) पहुंच जाएंगे और यहां से 15 किमी. दूर हासन (होयसल राजाओं के विरासत के रूप में मशहूर) है। ये दोनों स्थान काफी सुंदर है।

हासन से 13 किमी. दूर शेट्टीहल्ली नामक स्थान है, जो अपने विशेष चर्च के लिए जाना जाता है। हेमवती नदी के बैकवॉटर के किनारे बना ये चर्च मानसून के दिनों में नदी में पानी में डूब जाता है। हासन से करीब 45 किमी. आगे बढ़ने पर मंजराबाद का किला है, जो कर्नाटक के खास पर्यटन स्थलों में शामिल है। 1792 ई. में बने इस किले को टीपू सुल्तान ने बनवाया था। ये किला लाल मिटटी और ग्रेनाइट से बना हुआ है और इसकी ऊंचाई 3240 फीट है। इसके बाद आप कोशिश करें कि रात यही गुजार लें और सुबह जल्दी ही उठकर चिकमगलूर के लिए निकल पड़े।

Chikmagalur

दूसरा दिन

हासन से 40 किमी. दूर बेलूर शहर है, जिसे मंदिरों का शहर या दक्षिण का काशी कहा जाता है। यहां घूमने के बाद करीब 17 किमी. दूर हैलेबिड पहुंचे, जिसे राजस्व, गौरव और खंडहर की भूमि कहा जाता है, जो यहां का सबसे मशहूर पर्यटन स्थल है। फिर यहां से 16 किमी. दूर चिकमगलूर है, जहां प्राकृतिक सुंदरता की भरमार पड़ी है। यहां पर बड़ी संख्या में कहवा के बागान हैं, जिसके चलते इसे 'कॉफी कैपिटल ऑफ कर्नाटक' कहा जाता है। यहां पर आपको वन्यजीव अभयारण्य, झरने और खूबसूरत पहाड़ियां देखने को मिलेगी। इसके अलावा आप यहां ट्रेकिंग का भी आनंद ले सकते हैं।

बैंगलोर से पांडिचेरी की ट्रिप

बैंगलोर से पांडिचेरी के बीच की दूरी करीब 320 किमी. है। अगर आप अपनी इस यात्रा को और भी शानदार बनाना चाहते हैं तो आपको रोड ट्रिप का आनंद लेना चाहिए। इस रास्ते में आपको काफी आकर्षक और मनमोहने वाले स्थान दिखाई देंगे, जहां का भी आप आनंद ले सकते हैं। इसके लिए भी आपको 2-3 दिन का समय लगेगा। पांडिचेरी जाने के लिए आपको तीन ऑप्शन मिलेंगे और तीनों ही रास्ते बेहद रोमांचक वाले हैं।

Pondicherry

रूट-1: बैंगलोर-होसुर-कृष्णागिरि-चेनगम-तिरुवन्नामलाई-तिंदीवनम-पांडिचेरी (320 किमी.)
रूट-2: बैंगलोर-होसुर-अंबुर-वेल्लोर-अरकोट-तिंदीवनम-पांडिचेरी (380 किमी.)
रूट-3: बैंगलोर-होसकोटे-कोलार-चित्तुर-कांचीपुरम-महाबलीपुरम-पांडिचेरी (440 किमी.)

वीकेंड ट्रिप के लिए सबसे अच्छा रूट तिरुवन्नामलाई वाला रूट है। इस रास्ते पर आपको चंदीरा चूडेश्वर मंदिर, कृष्णागिरि बांध, कृष्णागिरि फोर्ट, श्री रामना आश्रम, अरुणाचलेश्वर मंदिर, जिंजी फोर्ट जैसे पर्यटन स्थल मिलेंगे, जिसका आनंद आप अपने वीकेंड ट्रिप के दौरान उठा सकेंगे।

Pondicherry

पांडिचेरी में आप बेहतरीन तटों (प्रोमनेड तट, पैराडाइस तट, सेरेनिटी तट और ऑरोविले तट), श्री अरबिंदो आश्रम (भारत का प्रसिद्ध योग केंद्र), ऑरोविले शहर (प्रात:काल के नाम से मशहूर) का लुत्फ उठा सकते हैं। इसके अलावा यहां पर पांडिचेरी संग्रहालय, जवाहर खिलौना संग्रहालय, बॉटनिकल गार्डन, ऑसटेरी वैटलैंड, भारथिदसन संग्रहालय तथा राष्ट्रीय पार्क जैसे स्थान मौजूद है। पांडिचेरी अपनी अद्भुत वास्तुकला के लिए भी जानी जाती है। इसे भारत का फ्रेंच भी कहा जाता है।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X