India
Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »पंच केदार में से एक मध्यमहेश्वर मंदिर की पूरी जानकारी

पंच केदार में से एक मध्यमहेश्वर मंदिर की पूरी जानकारी

बद्रीनाथ मंदिर के पास कई तीर्थ और पर्यटन स्थल हैं, उनमें से कुछ ट्रेकिंग और स्कीइंग गंतव्य भी हैं। मध्यमहेश्वर मंदिर भी एसा ही धार्मिक स्थल है जो लोकप्रिय नहीं है, लेकिन इस मंदिर की बहुत मान्यता है।

भगवान शिव को समर्पित प्रसिद्ध मंदिर पंच केदार मे से एक है मध्यमहेश्वर मंदिर। मंदिर 3497 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है और पंच केदार तीर्थ यात्रा सर्किट में दर्शन करने वाला चौथा मंदिर है। अन्य मंदिर जैसे केदारनाथ, तुंगनाथ और कपिलेश्वर, यहां दो और छोटे-छोटे मंदिर है। एक माता पर्वती और दूसरा अर्धनारीश्वर जी का है।

मध्य महेश्वर मंदिर उत्तराखंड में गढ़वाल हिमालय के मनसुना गाँव में स्थित है। शिव के दिव्य रूप माने जाने वाले बैल के नाभि की पूजा इस मंदिर में की जाती है, जिसे हिंदू महाकाव्य महाभारत के नायकों पांडवों द्वारा बनाया गया माना जाता है।

madhmaheshwar

रिज पर स्थित वृद्ध-मदमहेश्वर के नाम से जाना जाने वाला एक और पुराना मंदिर भी है जो कमांडिंग चौखम्बा चोटियों पर सीधे दिखता है।

मधमहेश्वर को रहस्यमय इसलिए माना जाता है क्योंकि इसके दायीं ओर बर्फ से ढके हिमालय है, बाईं ओर हरे-भरे घास के मैदान और घने जंगल हैं।

चरवाहों की झोपड़ियाँ, गाँव के घर, हज़ारों साल पुराना मदमहेश्वर मंदिर और अद्भुत दृश्य इस शहर को पूरा करते हैं। मंदिर की वास्तुकला एक क्लासिक उत्तर भारतीय शैली है।

मुख्य मंदिर के दाहिने ओर संगमरमर से बनी सरस्वती की मूर्ति स्थापित है। इस मंदिर के सभी पुजारी दक्षिण भारत से है और जो लिंग्ययत जाती के जांगमा कहा जाता है जो कर्नाटक राज्य के मैसूर के रहने वाले है।

madhmaheshwar

दर्शन करने का सबसे अच्छा समय

मधमहेश्वर मंदिर जाने का सबसे अच्छा समय माई ,जून ,जुलाई, अगस्त ,सितंबर ,अक्टूबर और नवंबर है।

madhmaheshwar

यहां तक कैसे पहुंचे?

मधमहेश्वर मंदिर तक डायरेक्ट रोड ना होने की वजह से गौरीकुंड से 16 कि चढ़ाई करनी होती है। मंदिर तक पहुंचने के लिए टट्टू और मंचन मिलती है।

सड़क के रास्ते

गौरीकुंड उत्तराखंड के प्रमुख स्थलों साथ सड़क के रास्ते अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। हरिद्वार ऋषिकेश और श्रीनगर के लिए कई बसें उपलब्ध हैं।

ट्रेन के रास्ते

गौरीकुंड से नजदीक ऋषिकेश रेलवे स्टेशन है। वहां से आप कैब ले सकते हैं।

हवाई जहाज के रास्ते

जौली ग्रांट एयरपोर्ट गौरीकुंड से नजदीकी हवाई अड्डा है। इसके बाद आप यहां से कैब या टैक्सी कर सकते हैं।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X