India
Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »काफी रहस्यों और आश्चर्यों से भरा है मेहरानगढ़ का किला

काफी रहस्यों और आश्चर्यों से भरा है मेहरानगढ़ का किला

भारत को मंदिरों का देश कहा जाता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि भारत को किलो का भी देश कहा जाता है। यहां पर देश के अलग-अलग हिस्सो में 500 से भी ज्यादा किले मौजूद है। इनमें से कई सैकड़ों-हजारों साल पुराने तो कईयों के निर्माण के बारे में कोई साक्ष्य या कोई प्रमाण ही नहीं है। इनमें से कुछ को तो रहस्यमई किले का प्रमाण भी दिया जा चुका है।

अब हम बात करने जा रहे हैं एक ऐसे ही किले के बारे में, जो राजस्थान के ब्लू सिटी जोधपुर में स्थित है। जी हां, हम बात कर रहे हैं मेहरानगढ़ किले की, जो अपने आप में काफी रहस्यमई भी माना जाता है। यह भारत का एकमात्र ऐसा किला है जिसकी चोटी पर से ही पूरा पाकिस्तान दिखता है।

mehrangarh fort

15 वी शताब्दी में इस किले की नींव राव जोधा ने रखी थी, लेकिन इसका निर्माण कार्य महाराजा जसवंत सिंह ने पूरा करवाया था। 125 मीटर की ऊंचाई पर बना यह किला जोधपुर शहर के ठीक बीचो-बीच स्थित है। इसे मेहरानगढ़ दुर्ग या मेहरानगढ़ फोर्ट के नाम से भी जाना जाता है।

द्वार पर नुकीली कीलों का उपयोग

मेहरानगढ़ किले को भारत के सबसे समृद्धशाली अतीत का प्रतीक माना जाता है और यह सबसे प्राचीनतम किलों में से एक है। इस किले में काफी ऊंची-ऊंची और मोटी-मोटी दीवारें है, जो इसे काफी विशाल बनाती है। वैसे तो इस किले में 7 द्वार है लेकिन माना जाता है कि इस किले में 8वां द्वार भी है जो काफी रहस्यों से भरा हुआ है। किले के पहले द्वार पर हाथियों के हमले से बचने के लिए नुकीली कीलें लगवाई गई थी।

mehrangarh fort

काफी भव्य है मेहरानगढ़ का किला

इस किले में अंदर प्रवेश करते ही आपको कई भव्य महल, नक्काशीदार दरवाजे और जालीदार खिड़कियां देखने को मिलेंगी। इसमें मोती महल, फूल महल और शीश महल बेहद खास है। इस किले के पास में ही एक चामुंडा माता का मंदिर है, जिसे साल 1460 ईस्वी में राव जोधा ने बनवाया था।

mehrangarh fort

शापित है मेहरानगढ़ का किला

मेहरानगढ़ किले को लेकर कहा जाता है कि इसके निर्माण से पहले यहां एक साधु रहा करते थे। जहां वे रहते थे वहां एक पानी का सोता हुआ करता था। जब राजा ने उन्हें वहां से जाने के लिए कहा तो क्रोधित होकर साधु ने शाप देते हुए कहा कि जिस पानी के लिए तुम मुझे यहां से हटा रहे हो, वह पानी सूख जाएगा। तब से लेकर आज तक यहां और आस-पास के इलाकों में पानी की कमी देखी जाती है।

mehrangarh fort

किले में है संग्रहालय और शाही रेस्तरां

इस किले के अंदर एक संग्रहालय भी स्थित है, जहां से आप विभिन्न प्रकार के उत्पादों की खरीदारी कर सकते हैं। इसके अलावा इस किले के अंदर एक शाही रेस्तरां भी मौजूद है, जहां पर आप अपने पार्टनर के साथ कैंडल लाइट डिनर का आनंद भी ले सकते हैं।

कैसे पहुंचें मेहरानगढ़ का किला

मेहरानगढ़ किला पहुंचने के लिए सबसे नजदीकी हवाई अड्डा जोधपुर में स्थित है। वहीं, यहां पहुंचने के लिए सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन जोधपुर जंक्शन है। इसके अलावा यहां पर सड़क मार्ग से भी पहुंचा जा सकता है।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X