Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »2017 में पर्यटकों की पहली पसंद बने भारत के ये ट्रैकिंग डेस्टिनेशन..आप भी करें ट्राय

2017 में पर्यटकों की पहली पसंद बने भारत के ये ट्रैकिंग डेस्टिनेशन..आप भी करें ट्राय

By Goldi

बीते कुछ सालों से भारतीय युवायों के बीच ट्रैकिंग काफी लोकप्रिय है...भारत में ट्रैकिंग करना वाकई एक रोमांच है। यहां ट्रैकिंग बर्फीले रेगिस्तान से लेकर उष्णकटिबंधीय वर्षावन ,राजसी हिमालयी चोटियों और विशाल रोलिंग घास से होते हुए पूरी होती है।

पथरीले रास्तों पर ट्रैकिंग के लिए कुछ सॉलिड टिप्स ,जो बनाये चलना आसान

चोटी पर पहुंचकर ट्रेक को खत्म करने के बाद जब आप नीचे झांकते हैं तो वह एकदम भौचक्का करने वाला होता है। ट्रैकिंग खत्म करने के बाद गर्म चाय जो थकान को मिटाती है, वो एक अलग ही एहसास होता है, फिर वहां के स्थानीय लोगो के साथ खाना इस ट्रैकिंग को और यादगार बना देता है। हालांकि, इस दौरान संघर्ष तो काफी होता है, जैसे पसीना, जोड़ों और पैर में दर्द लेकिन ट्रेक खत्म करने की ख़ुशी इन सब को भुला देती है।

एडवेंचर के शौकीनों के लिए किसी तीर्थ से कम नहीं हैं भारत के ये शहर

ट्रैकिंग के दौरान आप खूबसूरत रोमांटिक परिदृश्य से लेकर उबड़खाबड़ मैदान आदि देख सकते हैं..तो आइये जानते हैं भारत के कुछ बेहद ही खूबसूरत ट्रैकिंग रूट्स, जो हमेशा पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं।

चंद्रताल झील ट्रेक

चंद्रताल झील ट्रेक

चंद्रताल झील का मतलब है, चंद्रमा की झील..साथ ही यह झील चन्द्रमा के आकार सी प्रतीत होती है। समुद्र स्तर से 4300 मीटर की ऊंचाई पर स्थित यह झील स्पीती में एक किलोमीटर तक फैली हुई है। यह झील ट्रेकर्स के बीच खासा लोकप्रिय है..जोकि ह्म्ता पास ट्रेक के रास्ते में पड़ती है। साथ ही यह झील कैम्पिंग करने के वालों की पसंदीदा जगहों में शामिल है।

लामयुरु ट्रेक

लामयुरु ट्रेक

लामयुरु लद्दाख क्षेत्र में सबसे पुराने मठों में से है,जो 5000 मीटर से अधिक की ऊंचाई पर स्थित है, जोकि एक में एक रहस्यमय आकर्षण है। इस क्षेत्र में यह ट्रेक काफी लोकप्रिय है...जोकि ज़ांस्कर से शुरू होता है । इस ट्रेक को खत्म होने में करीबन तीन सप्ताह का समय लगता है।
Pc: Ashish2403

चादर ट्रेक

चादर ट्रेक

अगर आप पहाड़ी क्षेत्र और रोलिंग ग्लैड्स में ट्रैकिंग कर चुके हैं और कुछ नया करना चाहते हैं, तो चादर ट्रेक को जरुर ट्राय करें। ज़ांस्कर नदी, जो कि चादर ट्रेक के नाम से भी जाना जाती है। यह एक बेहद ही रोमांचक और चुनौतीपूर्ण ट्रेक है, जो चरम मौसम स्थितियों पर 105 किमी में फैली हुई है।Pc: Sumita Roy Dutta

मारखा घाटी

मारखा घाटी

मारखा घाटी ट्रेक लद्दाख ट्रेकिंग क्षेत्र में सबसे प्रसिद्ध ट्रेक्स में से एक है। इस ट्रेक में, आपको लेह, लद्दाख और ज़ांस्कर घाटी पर्वतमाला के क्षेत्र में हिमालयन ट्रेकिंग का अनुभव मिलता है। मारखा घाटी का ट्रेक लगभग 11,000 फीट से शुरू होता है जोकि 17,000 फीट की ऊंचाई पर पहुंचकर खत्म होता है।
Pc: Balachandran Chandrasekharan

राजमाची

राजमाची

राजमाची किला महाराष्ट्र का पर्यटन स्थल है। इस जगह की सुंदरता रोलिंग पहाड़ियों के साथ अद्वितीय है और इसमें दो ट्रेकिंग ट्रेल्स हैं जिनमें से एक लोनावाला से 15 किमी के साथ और दूसरा कोंदिवडे गांव से 2000 फुट ऊंचा ट्रेक है। यहां से एक सुंदर कोंडाणा गुफाओं के सुदंर दृश्य देखे जा सकते हैं।Pc:Mukundvg1942

कुमार पर्वत

कुमार पर्वत

कुमार पर्वत कूर्ग का सबसे ऊंचा शिखर कर्नाटक राज्य में ट्रैकिंग उत्साही के बीच एक पसंदीदा डेस्टिनेशन है। यह ट्रेक 15 किमी लंबी है,जिसमे आप सुंदर नजारों को देख सकते हैं।

ट्रेक की शुरुआत, मंदिर रोड से होती है जोकि कुक्केसुब्रह्मण्यम के निकट है..इस ट्रेक को पूरा करने में करीबन दो दिन का समय लगता है।

Pc:Unknown

चेम्ब्रा चोटी

चेम्ब्रा चोटी

चेम्बरा पीकसमुद्र तल से 2100 मीटर की ऊंचाई वायनाड में स्थित है। यह केरल राज्य की सबसे ऊंची चोटियों में से एक है। यह ट्रेक आसान है, लेकिन शुरुआत में थोड़ा आपको मुश्किल लग सकता है। इस ट्रेक के जरिये आप वायनाड की खूबसूरती को अच्छे से निहार सकते हैं..यह ट्रेक 9 किमी लंबा है,जिसे एक दिन में आसानी से पूरा किया जा सकता है।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X