Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »पर्यटन स्थल जो ओडिशा के मलकानगिरी को बनाते हैं खास

पर्यटन स्थल जो ओडिशा के मलकानगिरी को बनाते हैं खास

ओडिशा स्थित मलकानगिरी राज्य का एक महत्वपूर्ण जिला है, जो ओडिशा राज्य के नव गठिन जिलों में गिना जाता है। 1936 में राज्य के गठन के दौरान यह ओडिशा के कोरापुट जिले के अंतर्गत नबरंगपुर उप-मंडल का एक तालुका था। बाद में इसे 1962 में उप-मंडल बनाया गया और आज वर्तमान में यह राज्य का एक स्वतंत्र जिला है। यह राज्य के दक्षिण में स्थित है, जिसकी सीमाएं छत्तीसगढ़ और आंध्र प्रदेश राज्यों का स्पर्श करती हैं।

प्रशासनिक और सांस्कृतिक महत्व के साथ-साथ यह जिला पर्यटन के लिए भी काफी खास माना जाता है। यहां का अधिकांश क्षेत्र प्राकृतिक आकर्षणों से घिरा हुआ है। एक यादगार अवकाश के लिए आप यहां का भ्रमण कर सकते हैं।

बालीमेला बांध/जलाशय

बालीमेला बांध/जलाशय

मलकानगिरी भ्रमण की शुरुआत आप यहां के लोकप्रिय पर्यटन स्थल बालीमेला बांध/जलाशय की सैर से कर सकते हैं। यहां ओडिशा और आंध्र प्रदेश राज्य के सयुक्त सहयोग से एक हाइड्रो-इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट की स्थापना की गई है। चित्रकोंड पर एक बांध का निर्माण भी किया गया है। यह बांध सिलेरू नदी पर बनाया गया है, जो गोदावरी की सहायक नदी है। डैम बनने से यहां एक जलाशय का निर्माण भी हुआ है। इन सब से अलग यह स्थल अपनी प्राकृतिक सौदर्यता के लिए भी प्रसिद्ध है, इसलिए इसे जिले के चुनिंदा पर्यटन स्थलों में गिना जाता है।

यहां अकसर पर्यटक वीकेंड पर मौज मस्ती और सुकून भरा समय बिताने के लिए आते हैं। यहां की हरी-भरी वनस्पतियां इस स्थल को खास बनाने का काम करती है। खासकर मॉनसून के दौरान यहां की खूबसूरती देखने लायक होती है।

अम्माकुंड जलप्रपात

अम्माकुंड जलप्रपात

बालीमेला की सैर के अलावा आप यहां के दूसरे लोकप्रिय पर्यटन स्थल अम्माकुंड जलप्रपात की सैर का प्लान बना सकते हैं। यह पर्यटन स्थल जिला मुख्यालय से लगभग 72 किमी दूरी पर स्थित है। यह एक प्राकृतिक झरना है, जो जिले के चुनिंदा लोकप्रिय टूरिस्ट स्पॉट में गिना जाता है। जल के इस प्रवाह से एक चट्टानी जलाशय का निर्माण होता है। यहां का पानी काफी साफ माना जाता, जहां आप मछलियों को भी देख सकते हैं। यहां मछली पकड़ना वर्जित है। आप यहां का आकर शानदार प्राकृतिक वातावरण का आनंद ले सकते हैं।

सतीगुडा बांध/जलाशय

सतीगुडा बांध/जलाशय

मलकानगिरी के प्राकृतिक आकर्षणों की श्रृंखला में आप यहां के सतीगुडा बांध की सैर का प्लान बना सकते हैं। मुख्य नगर से यह बांध 8 कि.मी की दूरी पर स्थित है। यह जलाशय यहां का आसपास के इलाकों को कृषि योग्य की जल की आपूर्ति करता है। इन सब के अलावा यह एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल भी है, जहां की प्राकृतिक खूबसूरती का आनंद आप सुबह और शाम के दौरान ले सकते हैं।

इस जलाशय में पर्यटकों के लिए बोटिंग की सुविधा भी उपलब्ध है। यह स्थल भारी संख्या में पर्यटकों को अपनी ओर आकृषित करता है। इसके अलावा यह एक पिकनिट स्पॉट भी है, जहां वीकेंड पर पर्यटक मौज मस्ती करने के लिए आते हैं।

भैरवी मंदिर

भैरवी मंदिर

उपरोक्त स्थलों के अलावा आप यहां के प्रसिद्ध भैरवी मंदिर के दर्शन का सौभाग्य भी प्राप्त कर सकते हैं। मलकानगिरी नगर से यह मंदिर मात्र 3 कि.मी की दूरी पर स्थित, जहां आप स्थानीय परिवहन की सहायता से आसानी से पहुंच सकते हैं। देवी का मंदिर यहां की पहाड़ी पर बना है, जहां साल के दौरान हजारों की तादाद में पर्यटकों का आगमन होता है। माना जाता है कि मलकानगिरी के राजा देवी की पूजा करने के यहां आया करते हैं, जिनके महल के अवशेष यहां देखे जा सकते हैं। अपनी यात्रा को धार्मिक बनाने के लिए आप यहां अपने परिवार के साथ आ सकते हैं।

कैसे करें प्रवेश

कैसे करें प्रवेश

मलकानगिरी, ओडिशा का एक प्रसिद्ध जिला है, जहां आप तीनों मार्गों से आ सकते हैं। यहां का निकटवर्ती हवाईअड्डा राजमुंदरी और विशाखापट्टनम एयरपोर्ट है। रेल सेवा के लिए आप टोपोकल रेलवे स्टेशन का सहारा ले सकते हैं। अगर आप चाहें तो यहां सड़क मार्गों से भी पहुंच सकते हैं, मलकानगिरी, बेहतर सड़क मार्गों से राज्य के बड़े शहरों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X