Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »फागू से अमृतसर के सफर में तय कर सकते हैं ये खूबसूरत जगहें

फागू से अमृतसर के सफर में तय कर सकते हैं ये खूबसूरत जगहें

छुट्टियों का समय हो तो सबसे पहले हम किसी हिल स्टेशन जाने के बारे में सोचते हैं। लेकिन एक हिल स्टेशन पर अपनी पूरी छुट्टियां बिता देना बहुत बोरिंग हो जाता है और ये बहुत आम भी है। आखिर एक ही जगह कोई कितना घूम पाएगा। लेकिन अगर आपको इस बार अपनी छुट्टियों को रोमांचक और दिलचस्प बनाना है तो फागू से अमृतसर तक का सफर तय करना आपके लिए एक बेहतीरन अनुभव रहेगा। क्योंकि इस सफर के बीच आपको मिलेंगे ऐसे बहुत से खूबसूरत पर्यटन स्थल जहां आपको जाकर अलग ही तरह का एकांत मिलेगा। वैसे बिना कहीं रुके अगर आप फागू से अमृतसर तक का सफर तय करते हैं तो ये लगभग 8 घटें का होगा। वहीं अगर इसके बीच में पड़ने वाले पर्यटन स्थलों से होते हुए जाते हैं तो आपको कुछ दिन लग सकते हैं इन सभी जगहों पर घूमने के लिए। तो चलिए शुरुआत करते हैं फागू से अमृतसर के खूबसबरत सफर की।

फागू

फागू

फागू, राज्य में एकांत बर्फीली पहाड़ियों में से एक है और इसके पीछे का हिस्सा बर्फ से ढके हिमालय के साथ हरे-भरे खेतों के लिए बेहतर जाना जाता है। ये शिमला के खूबसूरत ग्रामीण इलाकों का पता लगाने के लिए आने वाले ट्रेकर्स और फ्लोरा के लिए एक बेहतरीन आधार बनाता है, जो फागू में आसानी से उपलब्ध है। फागु शिमला से लगभग 22 किमी दूर स्थित पहाड़ी स्थल है। हनीमून के लिए ये जगह सबसे अच्छी है क्योंकि उन्हें फागू में देखने और एक्सप्लोर करने के लिए बहुत कुछ मिल सकता है, खासकर सर्दियों के दौरान क्योंकि आसपास का माहौल इस दौरान और भी खूबसूरत लगता है। छोटी चट्टानें और हरी घाटी फागू को फोटोग्राफी के लिए एक आदर्श स्थान बनाते हैं।

शिमला

शिमला

फागू के बाद अब आता है शिमला जो फागू से महज़ 20 किमी की दूरी पर स्थित है। पहाड़ों की आकर्षक रानी 'शिमला' कभी भारत में अंग्रेजों की ग्रीष्मकालीन राजधानी हुआ करती थी। ये खूबसूरत हिल स्टेशन सुंदर हरी घाटियों, बर्फ से ढकी हिमालय पर्वत श्रृंखला, सुंदर पहाड़ियों और शानदार संरचनाओं से घिरा हुआ है, जो औपनिवेशिक युग के दौरान बने हैं। ये सुरम्य शहर अन्य हिल स्टेशनों से बहुत अलग है क्योंकि इसमें सबसे मशहूर मॉल रोड है, जिसमें कई रेस्तरां, क्लब, बार, दुकानें, बेकरी आदि शामिल हैं। इसके अलावा आसपास कई आकर्षण और पर्यटन स्थल हैं जो बर्फ और देवदार वृक्षारोपण के साथ विशाल पहाड़ों और पहाड़ियों के आश्चर्यजनक दृश्य प्रदान करते हैं।

रोपड़

रोपड़

PC: Amrit Plahi

शिमला से करीब 116 किमी दूर पंजाब में स्थित एक है रोपड़ शहर। इस शहर में मोहाली और उससे सटे दूसरे जिले शामिल हैं। रोपड़ एक खूबसूरत शहर है और वर्तमान में, ये पंजाब में लोकप्रिय यात्रा स्थलों के बीच स्थित है। शिवालिक पहाड़ियों से घिरा और सतलुज नदी के तट पर खड़ा, रोपड़ समुद्र तल से 860 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। रोपड़ विभिन्न पर्यटकों के आकर्षण का एक घर है। इसमें चमकौर साहिब, आनंदपुर साहिब, कीरतपुर साहिब, भाखड़ा नांगल बांध जैसे अद्भुत गुरुद्वारे और शहर के भीतर स्थित अद्भुत बाजार हैं। रोपड़ दोनों, पर्यटकों और श्रृद्धालुओं के लिए एक बढ़िया जगह है।

फगवाड़ा

फगवाड़ा

फगवाड़ा पंजाब में स्थित एक छोटा सा शहर है। ये रोपड़ से 82 किमी दूर है। ये शहर मुगल शासक शाहजहां द्वारा एक बाज़ार के रूप में स्थापित किया गया था लेकिन इसे विकसित अहलुवालिया सिख वंश द्वारा किया गया था। ये शहर सिख इतिहास में एक प्रसिद्ध नाम है क्योंकि गुरु हरगोबिंद ने करतारपुर की लड़ाई जीतने के बाद इस जगह का दौरा किया था। दिलचस्प बात ये है कि फगवाड़ा वो जगह है जहां बड़ी संख्या में एनआरआई रहते हैं। फगवाड़ा में पर्यटकों को लुभाने वाले विभिन्न आकर्षण हैं। ब्यास नदी और पुराण गुरुद्वारा फगवाड़ा में स्थित दर्शनीय स्थल हैं।

ब्यास नदी

ब्यास नदी

वहीं फगवाड़ा से 60.5 किमी दूर है ब्यास नदी जो हिमाचल प्रदेश से शुरु होती है और पंजाब में से होकर गुज़रती है। पंजाब में ब्यास नदी के किनारे बहुत से पर्यटन स्थल हैं जिनमें से सबसे मशहूर और पर्यटकों द्वारा सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाले पर्यटन स्थल है, गुरुद्वारा गोइंदवाल साहिब। सिख धर्म की धुरी के रूप में जाना जाने वाला गुरुद्वारा गोइंदवाल साहिब पंजाब के तरनतारन जिले में स्थित है और माना जाता है कि ये सिख धर्म के अनुयायियों के बीच बहुत माना जाता है। यहां जाने पर आपको देश-विदेश से आए पर्यटक और श्रृद्धालु देखने को मिलेंगे।

अमृतसर

अमृतसर

और अब सबसे आखिर में ब्यास से 61.5 किमी दूर आपकी मंज़िल आ ही जाती है, अमृतसर। अमृतसर का नाम सुनते ही बहुत से पर्यटन स्थलों के नाम हमारे ख्याल में आने लगते हैं। लेकिन सबसे पहले जो नाम ज़हन में आते है वो है गोल्डन टैम्पल। गोल्डन टैम्पल, सिखों का गौरव है जो युगों से भारतीयों और विदेशी यात्रियों के बीच आकर्षण का केंद्र रहा है। इसके अलावा यहां ऐतिहासिक जलियावाला बाग और वाघा बॉर्डर भी है जो विषेश रूप से पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र है।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X