Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »झारखंड के पाकुर का सौंदर्य

झारखंड के पाकुर का सौंदर्य

By Namrata

झारखंड का पाकुर जिला घने जंगलों, बागों, तालाबों से सजा है। ये राजमहल की पहाडियों के बीच बसा है। झारखंड के इस क्षेत्र के सौंदर्य से पर्यटक अब तक अछूते हैं। पाकुर में पर्यटकों के लिए काफी कुछ है।

पाकुर में अद्भुत प्रकृति और धार्मिक और ऐतिहासिक भवन देख सकते हैं। पहले पाकुर साबिहगंज जिले का उप-विभाग हुआ करता था। ये शहर अपनी शानदार जैव-विविधता और प्राकृतिक सौंदर्य के लिए मशहूर है। एक समय पर ये जगह घने और विशाल जंगलों के लिए प्रसिद्ध थी। पाकुर में पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए कई धामिक और रोमांचित जगहें हैं। आइए जानते हैं इनके बारे में।

सिद्धू कान्‍हा पार्क

सिद्धू कान्‍हा पार्क

P.C: Michel Rathwell

सिद्धू कान्‍हा पार्क को इस कस्‍बे का सबसे अधिक मनोरंजक पार्क कहा जाता है। खूबसूरत पौधे और रास्‍ते, यहां आने वाले लोगों का मन मोह लेते हैं। इस पार्क का सबसे प्रमुख आकर्षण मसरटेल्‍लो टॉवर है जिसे ब्रिटिश काल के दौरान बनाया गया था।

इसे ब्रिटिश शासक पालुर ने अपने साम्राज्‍य को संथल योद्धाओं से बचाने के लिए बनवाया था। संथल योद्धाओं ने अंग्रेजों को भारत से बाहर निकालने के खिलाफ युद्ध छेड़ दिया था। पार्क में कई खेल भी खेल सकते हैं और यहां पर आप अपने परिवार और दोस्‍तों के साथ कुछ समय भी बिता सकते हैं।

हॉट स्प्रिंग

हॉट स्प्रिंग

P.C: Gunnar Ries zwo

पाकुर के हॉट स्प्रिंग को पवित्र स्‍थान माना जाता है और ये सापा होर जनजाति के क्षेत्र का बहुत ही पवित्र स्‍थान है। यहां पर प्राकृतिक फव्‍वारा है जोकि पर्यटकों को आकर्षित करता है। इस झरने के पानी में औषधीय गुण पाए जाते हैं जिनसे कई रोगों का इलाज किया जा सकता है। इस झरने के पानी में डुबकी लगाने से सभी रोग नष्‍ट हो जाते हैं। मकर संक्रांति के अवसर पर देशभर से श्रद्धालु इस झरने में स्‍नान करने आते हैं।

नित्‍याकली मंदिर

नित्‍याकली मंदिर

P.C: Gayatri Malhotra

पाकुर को नित्‍याकली मंदिर के लिए भी जाना जामा है। ये मंदिर उत्‍कृष्‍ट वास्तुशिल्प का अद्भुत उदाहरण है। इस मंदिर में हिंदू देवी मां काली की पूजा होती है और उन्‍हीं की मूर्ति इस मंदिर में स्‍थापित है। इस पूरे कस्‍बे के लोग मां काली की पूजा करते हैं। इस कस्‍बे के केंद्र में बसे पाकुर राजबाड़ी में नित्‍याकली मंदिर स्थित है। ये पवित्र स्‍थान हज़ारों श्रद्धालुओं को अपनी ओर आकर्षित करता है। स्‍थानीय और दुनियाभर के श्रद्धालुओं के बीच ये धार्मिक स्‍थल अत्‍यंत महत्‍व रखता है।

धरनी पहाड़

धरनी पहाड़

P.C: Vinoth Chandar

पाकुर जिले के दक्षिण-पश्चिम में स्थित धरनी पहर धार्मिक महत्‍व रखता है। पर्यटकों के बीच भी ये स्‍थान बहुत मशहूर है। धरनी पहर की चोटि पर स्थित हिंदू देवता भगवान शिव का शानदार मंदिर स्‍थापित है। मंदिर की दीवारों पर पौराणिक तस्‍वीरें और नक्‍काशियां देखने को मिलती हैं। महाशिवरात्रि के अवसर पर धरनी पहर में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ती है।

पाकुर आने का सही समय

पाकुर सर्दी के मौसम में आना सबसे ज्‍यादा बेहतर रहता है। अक्‍टूबर और दिसंबर के महीने में पाकुर का मौसम बहुत सुहावना रहता है। इस दौरान यहां का तापमान 20 से 25 डिग्री सेल्सियस रहता है।

कैसे पहुंचे पाकुर

वायु मार्ग द्वारा: पाकुर में कोई हवाई अड्डा नहीं है। कोलकाता के नेताजी सुभाष एयरपोर्ट से पाकुर 233 किमी दूर है।

रेल मार्ग द्वारा: पाकुर में रेलवे स्‍टेशन स्थित है इसलिए रेल मार्ग से यहां आना सबसे ज्‍यादा बेहतर रहता है। पाकुर रेलवे स्‍टेशन पर देश के कई प्रमुख शहरों से ट्रेनें आती हैं।

सड़क मार्ग द्वारा: इसका नज़दीकी बस स्‍टेशन मालडा है जोकि पाकुर से 52 किमी दूर है।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X