रोमांच से भरपूर है लेह लद्दाख की मारखा घाटी ट्रेकिंग
सर्च
 
सर्च
 

मुन्‍नार - प्राकृतिक सौंदर्य से परिपूर्ण स्‍वर्ग समान स्‍थल

मुन्‍नार एक अविश्‍वसनीय, शानदार और अतिआकर्षक मन को लुभाने वाला हिल स्‍टेशन है जो इडुक्‍की जिले में स्थित है। पहाड़ों के घुमावदार इलाकों से घिरा हुआ यह हिल स्‍टेशन पश्चिमी घाट पर स्थित है। मुन्‍नार नाम का अर्थ होता है तीन नदियां और जो मधुरपुजहा, नल्‍लाथन्‍नी और कुंडाली नदियों के अजीब मिलन स्‍थल वाले क्षेत्र को प्रदर्शित करता है।

मुन्नार तस्वीरें, इको पाइंट,  प्वाइंट एक शांत गूंज
Image source: commons.wikimedia.org
सोशल नेटवर्क पर इसे शेयर करें

सीमा पर स्थित होने के कारण, मुन्‍नार शहर के पड़ोसी राज्‍य जैसे तमिलनाडु से कई सांस्‍कृतिक संबंध हैं। पर्यटन गंतव्‍यों की भारी मांग के बाद, यह हिल स्‍टेशन दुनिया भर में केरल के प्रमुख पर्यटन स्‍थलों के रूप में लोकप्रिय होने लगा है। देश के विभिन्‍न शहरों और अन्‍य बाहरी देशों से आने वाले लाखों पर्यटक और पिकनिक मनाने वाले लोगों के लिए यह हिल स्‍टेशन एक शानदार जगह है जहां वह अपनी छुट्टियां मजे से बिता सकते हैं।

सटीक, सुखद और मनभावन

मुन्‍नार का भी एक इतिहास है, यहां औपनिवेशिक और आधुनिक युग की नींव एक साथ रखी गई थी। जो अंग्रेज, भारत में पहले पहुंचे थे उन्‍हे मुन्‍नार यहां की प्राकृतिक सुंदरता और सुखद जलवायु के कारण पल भर में ही बेहद पसंद आ गया था। इसके बाद यह जगह दक्षिण भारत में ब्रिटिश प्रशासन के लिए गर्मियों के समय का रिर्साट बन गया। बल्कि आज भी मुन्‍नार, गर्मियों के मौसम में सांसें थाम लेने वाला, सुंदर प्राकृतिक दृश्‍यों से भरपूर और प्रेरणादायक परिवेश वाला आर्दश गंतव्‍य स्‍थल है।

मुन्‍नार में वह सब कुछ है जो एक प्रकृति प्रेमी किसी आर्दश प्राकृतिक स्‍थल से उम्‍मीद करता है जैसे - निगाह ठहर जाने वाले चाय के बागान, प्राचीन घाटियां, पहाडि़यों पर वक्राकार घुमाव, स्‍वास्‍थ्‍य को लाभ देने वाली हरी - भरी जमीन, हरी वनस्‍पतियां, जीव और वनस्‍पतियों की नई व अनोखी प्रजातियां, घने जंगल, जंगली अभयारण्‍य, प्राकृतिक खुशबू से भरी हवा, अच्‍छा मौसम और बाकी सबकुछ, जो पर्यटक की छुट्टियां यादगार बना सकता है।

सबसे अच्‍छे पर्यटन स्‍थलों का भ्रमण

मुन्‍नार, उन सभी लोगों के घूमने के लिए कई विकल्‍प प्रदान करता है जो यहां अपनी खास छुट्टियां बिताने आते हैं। मुन्‍नार के पर्यटन स्‍थलों की सैर बहुत सुखद अनुभव प्रदान करने वाली होती है विशेषकर यहां के अच्‍छे और सुखदायक मौसम के कारण। बाइकर्स और ट्रैकर्स इस जगह को एंडवेचर गेम्‍स के लिए स्‍वर्ग मानते है इसीलिए काफी अच्‍छी संख्‍या में बाइकिंग और ट्रैकिंग ट्रेल्‍स के शौकीन लोग मुन्‍नार में आते हैं। पर्यटक यहां के दूर - दूर तक फैले मखमली घास के मैदानों और वृक्षों की कतारों में भी कैजुअली इधर - उधर टहल सकते हैं या विचरण कर सकते हैं। यहां पर चिडि़यों को देखना भी एक बेहद लोकप्रिय गतिविधि है क्‍यूंकि इस क्षेत्र में कई प्रकार की दुर्लभ प्रजातियों का घर भी है।

मनोरंजन के असंख्‍य किस्‍म के विकल्‍पों के साथ, मुन्‍नार सभी प्रकार के पर्यटकों को जैसे - जो परिवार के साथ अच्‍छा समय बिताना चाहते हैं, वह बच्‍चे जो दिल खोलकर मस्‍ती करना चाहते हैं, हनीमून कपल्‍स, ऊर्जावान युवाओं, एडवेंचरस बाइकर्स और व्‍यक्तिगत बैकपैकर्स आदि को आमंत्रित करता है।

पिकनिक मनाने वालों, बाइकर्स और ट्रैकर्स के लिए एक ही गंतव्‍य स्‍थल

एराविकुलम राष्‍ट्रीय उद्यान, मुन्‍नार के मुख्‍य आकर्षण स्‍थलों में से एक है, जो लुप्‍तप्राय नीलगिरि तहर के लिए घर है। दक्षिण भारत की सबसे ऊंची चोटी, अनामुडी पीक इस नेशनल पार्क के अंदर ही स्थित है। यहां आने वाले पर्यटक, वन विभाग से अनुमति प्राप्‍त करने के बाद 2700 मीटर ऊंची अनामुडी चोटी पर ट्रैकिंग कर सकते हैं। वहीं मुन्‍नार से 13 किमी. की दूरी पर स्थित मट्टुपेट्टी यहां के बांध, झील और इंडो - स्विस पशुधन परियोजना द्वारा चलाई जा रही डेयरी फर्म के कारण प्रसिद्ध है।

मुन्‍नार के आसपास स्थित झरने, पर्यटकों को अपनी चांदी सी बिखरती चमक और हरे - भरे वातावरण के कारण प्रेरित करते हैं। पल्‍लीवसल और चिन्‍नाकनाल ( जो पॉवर हाउस वॉटरफॉल्‍स के नाम अधिक विख्‍यात हैं ) यहां के दो झरने हैं जिन्‍हे देखने की मांग सबसे ज्‍यादा होती है। अनाइरांगल जलाशय मुन्‍नार में एक और प्रमुख स्‍थान है। मुन्‍नार के पहाड़ी इलाकों में चाय बागानों की विरासत को टाटा टी द्वारा चलाए जा रहे चाय संग्रहालय में प्रदर्शित किया जाता है।

इसके अलावा मुन्‍नार के प्रमुख आकर्षणों में पोत्‍तनमेड, आट्टुकल, राजामाला, ईकोप्‍वाइंट, मीनूली और नादूकानी हैं। टॉप स्‍टेशन, मुन्‍नार - कोडीकनाल रोड़ का सबसे ऊंचा प्‍वाइंट है जहां से मनोरम दृश्‍य देखने को मिलते हैं और यहां नीलाक्‍कुरीन्‍जी फूलों का घर भी है जो 12 साल में केवल एक बार ही खिलते हैं।

मुन्नार का मौसम 

मुन्‍नार की पर्वतमालाएं, सुखद मौसम वाली है जहां पर्यटक, साल के किसी भी दौर में भ्रमण के लिए आ सकते हैं।

कैसे पहुंचें मुन्नार 

मुन्‍नार, केरल और तमिलनाडु दोनों राज्‍यों से आसानी से पहुंचा जा सकता है। दक्षिण भारत के सभी भागों से इस बेहतरीन गंतव्‍य स्‍थल के लिए कई टूरिस्‍ट पैकेज भी उपलब्‍ध हैं। पर्यटक यहां आकर अपनी सुविधानुसार रहने के लिए होटल, रिसॉर्ट, होम - स्‍टे और रेस्‍ट हाउस का चयन कर सकते हैं।

 

 

Please Wait while comments are loading...