वायसीरीगल लॉज एवं बॉटनिकल गार्डन, शिमला

होम » स्थल » शिमला » आकर्षण » वायसीरीगल लॉज एवं बॉटनिकल गार्डन

वायसीरीगल लॉज और बॉटनिकल गार्डन शिमला के महत्वपूर्ण पर्यटन आकर्षण हैं। इस सुरम्य लॉज की सुन्दर इमारत ओब्ज़र्वेटरी हिल पर स्थित है जो सन् 1888 में पूरी की गई थी। इस यूरोपीय शैली  की इमारत का उपयोग मुख्यतः ब्रिटिश शासन काल के दौरान, भारत की ग्रीष्मकालीन राजधानी में भारत के राष्ट्रपति की यात्रा के दौरान मेजबनी करने के लिए हुआ करता था और इसलिए इसे 'राष्ट्रपति निवास' भी कहा जाने लगा।

प्रो एस. राधाकृष्णन के कार्यकाल के दौरान यह शिक्षा मंत्रालय, भारत सरकार को हस्तांतरित कर दिया गया। देश का पहला अनुसंधान संगठन, ‘इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ एडवांस्ड स्टडी’ 1964 में यहाँ  स्थापित किया गया था। यह एक छह मंजिला इमारत है जो हरे भरे बागानों और लॉन से घिरी हुई है।

इमारत की आंतरिक और बाहरी डिजाइन बहुत लुभावनी हैं और यह नवजागरण वास्तुकला शैली का प्रतिनिधित्व करती है। यह स्मारक 1945 के ‘शिमला सम्मेलन’ और 1947 के ‘शिमला समझौते’ जैसी प्रसिद्ध ऐतिहासिक घटनाओं की गवाह बन चुकी है।

 

Please Wait while comments are loading...