Tap to Read ➤

गोवा की कुछ दिलचस्प कहानियां

गोवा, एक पर्यटन स्थल के रूप में जाना जाता है। गोवा के इतिहास की बात की जाए तो गोवा आजादी के 14 साल बाद एक केंद्र प्रशासित राज्य के रूप में भारत का हिस्सा बना और साल 1987 में यह एक पूर्ण राज्य बना।
ऑपरेशन विजय के तहत 19 दिसंबर 1961 को गोवा भारत का हिस्सा बना और एक केंद्रप्रशासित राज्य के रूप में शामिल हुआ। वहीं, 1987 में 30 मई को गोवा को एक पूर्ण राज्य का दर्जा मिला।
गोवा पर पुर्तगालियों ने 450 साल तक राज किया। इसके अलावा यहां मौर्य वंश, सातवाहन वंश, बदामी शासक, दिल्ली सल्तनत, विजयनगर के शासक के साथ-साथ बीजापुर के आदिलशाह ने भी राज किया।
गोवा, भारत का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। पूरी दुनियाभर में ये अपनी सुंदरता व संस्कृति के लिए जानी जाती है। खासतौर पर ये अपने बीचों के लिए जाना जाता है।
गोवा के बीच
वैसे तो यहां सालभर पर्यटकों की भीड़ लगी रहती है लेकिन क्रिसमस व न्यू ईयर के मौके पर यहां सैलानियों का एक सैलाब सा देखने को मिलता है।
यहां पर आप अंजुना बीच, पालोलेम बीच, बागा बीच, दूधसागर वाटरफॉल जैसी जगहों पर घूम सकते हैं और इसके अलावा धार्मिक स्थल के रूप में मंगेशी मंदिर व सप्तकोटेश्वर मंदिर प्रमुख है।
इसके अलावा यहां आप वाटर स्पोर्ट्स का भी बखूबी आनंद ले सकते हैं। यहां पर बनाना राइड्स, पैरासेलिंग, बंपर राइड, पैराग्लाइडिंग व बोट राइड प्रमुख स्पोर्ट्स है।
गोवा प्रकृति के हरे-भरे स्वभाव को करीब से निहारने के लिए यहां कोटिजाओ अभ्यारण्य, बोंडला अभ्यारण्य, कावल अभ्यारण्य भी है।
गोवा का सी-फूड काफी पसंद किया जाता है। इसके अलावा यहां कई बार व क्लब भी है, जहां यूथ जाना काफी पसंद करते हैं।
गोवा का स्पेशल सी-फूड 
अगली स्टोरी - चेरापूंजी के पर्यटन स्थल
चेरापूंजी का वन क्षेत्र