Search
  • Follow NativePlanet
Share
होम » स्थल » माजुली » आकर्षण
  • 01कमलाबाड़ी सतरा

    कमलाबाड़ी सतरा

    कमलाबारी माजुली का एक अहम और प्रतिष्ठित सतरा है। माजुली द्वीप नए वैष्णव धर्म के केन्द्र के रूप में जाना जाता है, जिसे श्रीमंत शंकरदेव ने बढ़ावा दिया था। असमिया में कमला का अर्थ होता है संतरा और बाड़ी का अर्थ होता है बागीचा। कमलाबाड़ी सतरा की स्थापना 1595 में...

    + अधिक पढ़ें
  • 02तेंगापानिया

    तेंगापानिया

    तेंगापानिया, ब्रह्मपुत्र नदी के तट पर स्थित एक प्रख्‍यात पिकनिक स्‍थल है। यह सुंदर पिकनिक स्‍पॉट माजुली के करीब स्थित है और ढाकुआखाना, माचखोआ और दिसानमुख से घिरा हुआ है। तेंगापानिया, हर साल भारी संख्‍या में पर्यटकों को आकर्षित करता है। तेंगापानिया...

    + अधिक पढ़ें
  • 03शमागुरी सात्रा

    शमागुरी सात्रा, माजुली का एक आर्कषण है और असम के वैष्‍णव केंद्रों में से एक है। शमागुरी सात्रा में पर्यटकों को आकर्षित करने वाले दिलचस्‍प मुखौटा शिल्‍प और कलाकृतियों आदि देखने को मिलते है।

    शमागुरी सात्रा को एक महत्‍वपूर्ण कला, संस्‍कृति...

    + अधिक पढ़ें
  • 04बेंगानाती सतरा

    माजुली सतरों के लिए जाना जाता है और बेंगानाती एक प्रमुख सतरा है। यहां कई पुरानी चीजों का विस्तृत संकलन है, जिसका सांस्कृतिक दृष्टि से काफी महत्व है। यहां एक उच्च श्रेणी का कला अभिनय केन्द्र भी है, जिसकी स्थापना श्रीमंत शंकरदेव की सौतेली मां के पोते मुरारीदेव ने...

    + अधिक पढ़ें
  • 05औनियाती सतरा

    औनियाती सतरा माजुली का एक प्रमुख सतरा है। इसकी स्थापना 1653 में निरंजन पाठकदेव ने की थी। यह सतरा पालनाम और अप्सरा नृत्य के लिए जाना जाता है। नवंबर में मनाया जाने वाला पालनाम सतरा का सबसे प्रमुख धार्मिक उत्सव है। सतरा के मुख्य प्रार्थना कक्ष में सुबह से शाम तक...

    + अधिक पढ़ें
  • 06दखिनपत सतरा

    दखिनपत सतरा

    दखिनपत सतरा माजुली का एक प्रसिद्ध सामाजिक-धार्मिक संस्था है। इसकी स्थापना वामशीगोपाल के अनुयायी ने किया था। यह कला और संस्कृति का एक महत्वपूर्ण केन्द्र है और यहां विभिन्न तरह की मूर्ति, पेंटिंग और नृत्य का प्रदर्शन किया जाता है। पहले यह सतरा अहोम वंश के राजाओं के...

    + अधिक पढ़ें
  • 07चेतिया गांव

    चेतिया गांव

    माजुली से 110 किमी दूर स्थित चेतिया गांव उत्तरी लखिमपुर का एक चर्चित पर्यटन स्थल है। माजुली आने वाले पर्यटक चेतिया गांव भी जाते हैं और ब्रह्मपुत्र के बाद अमस की सबसे बड़ी नदी सुबनसिरि की खूबसूरती का आनंद उठाते हैं। यह जगह प्रकृतिप्रेमियों के लिए स्वर्ग है और यहां...

    + अधिक पढ़ें
  • 08बंगालपुखरी

    बंगालपुखरी

    बंगालपुखरी एक प्रसिद्ध जलाशय है, जो जोरहट में ना-अली के पास स्थित है। इस टैंक के निर्माण से एक रोचक घटना जुड़ी है जो जोरहट के लोगों को अब तक याद है।

    1739 में रूपसिंह बंगाल ने अहोम के गवर्नर बदन बरफुकान ही हत्या कर दी। दरअसल बरफुकान एक तानाशाह था और बर्मा...

    + अधिक पढ़ें
  • 09बोंगाउरी

    बोंगाउरी

    माजुली आने वाले पर्यटकों के बीच बोंगाउरी भी एक पसंदीदा जगह है। असम के इतिहास में अहोम वंश का विशेष स्थान है, जिन्होंने यहां 600 साल से ज्यादा समय तक शासन किया। बोंगाउरी में पाए जाने वाले छोटे-छोटे सतरों के बीच आप असम की समृद्ध धरोहरों की झलक देख सकते हैं।

    ...
    + अधिक पढ़ें
One Way
Return
From (Departure City)
To (Destination City)
Depart On
02 Aug,Mon
Return On
03 Aug,Tue
Travellers
1 Traveller(s)

Add Passenger

  • Adults(12+ YEARS)
    1
  • Childrens(2-12 YEARS)
    0
  • Infants(0-2 YEARS)
    0
Cabin Class
Economy

Choose a class

  • Economy
  • Business Class
  • Premium Economy
Check In
02 Aug,Mon
Check Out
03 Aug,Tue
Guests and Rooms
1 Person, 1 Room
Room 1
  • Guests
    2
Pickup Location
Drop Location
Depart On
02 Aug,Mon
Return On
03 Aug,Tue