Search
  • Follow NativePlanet
Share
होम » स्थल » जोधपुर » आकर्षण
  • 01सिद्धनाथ शिव मंदिर

    सिद्धनाथ शिव मंदिर

    सिद्धनाथ शिव मंदिर तखत सागर की पहाड़ियों के बीच स्थित है। मंदिर मार्ग एक कच्चे रास्ते से शुरू होता है जो जोधपुर के फिल्टर हाउस के दाईं ओर से जाता है। इसके बाद इस मंदिर तक पहुंचने के लिये सीढ़ियाँ पड़ती हैं जिन्हें चट्टानों को काटकर बनाया गया है।

    इस मंदिर का...

    + अधिक पढ़ें
  • 02अचलनाथ शिवालय

    अचलनाथ शिवालय

    अचलनाथ शिवालय एक लोकप्रिय धार्मिक केंद्र है जो 1531 ई0 में राव गंगा की रानी, नानक देवी द्वारा निर्मित किया गया था। मंदिर के अंदर शिवलिंग के पास आगंतुक एक जलाशय को देख सकते हैं जिसे 'गंगा बावड़ी' के नाम से जाना जाता है। मंदिर में गर्भगृह, मंडप भवन, और कीर्तन भवन...

    + अधिक पढ़ें
  • 03संतोषी माता मंदिर

    संतोषी माता मंदिर

    संतोषी माता मंदिर, लाल सागर में, जोधपुर शहर से 10 किमी की दूरी पर स्थित है। यह मंदिर हिन्दू देवी संतोषी माता को समर्पित है, जिन्हें भारत में विशेष रूप से महिलाओं द्वारा पूजा जाता है। इस मंदिर को भारत के सभी संतोषी माता मंदिरों के बीच वास्तविक माना जाता है।...

    + अधिक पढ़ें
  • 04खरीददारी करने के स्थान

    जोधपुर खरीदारों के लिए एक रमणीय स्थल है। शहर के खरीदारी के लोकप्रिय क्षेत्र सोजाती गेट, स्टेशन रोड, त्रिपोलिया बाजार, मोची बाजार, नई सड़क, और घण्टा घर हैं। पर्यटक इन बाजारों से स्थानीय हस्तशिल्पों, कपड़ों, मसालों, उपहारों, टाई-डाई साड़ियों, आभूषणों, कढ़ाई वाले...

    + अधिक पढ़ें
  • 05घण्टा घर

    घण्टा घर एक खूबसूरत घड़ी स्तम्भ है जिसे जोधपुर के स्वर्गीय सरदार सिंह द्वारा निर्मित किया गया था। इस टॉवर के पास स्थित सदर बाजार एक लोकप्रिय शॉपिंग क्षेत्र है। पर्यटक राजस्थानी वस्त्रों, मिट्टी की छोटी मूर्तियों, लघु ऊंटों और हाथियों, संगमरमर की जड़ाई वाली वस्तुओं...

    + अधिक पढ़ें
  • 06मेहरानगढ़ किला

    मेहरानगढ़ किला एक बुलंद पहाड़ी पर 150 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यह शानदार किला राव जोधा द्वारा 1459 ई0 में बनाया गया था। यह किला जोधपुर शहर से सड़क मार्ग द्वारा पहुंचा जा सकता है। इस किले के सात गेट हैं जहां आगंतुक दूसरे गेट पर युद्ध के दौरान तोप के गोलों के...

    + अधिक पढ़ें
  • 07महामन्दिर मंदिर

    महामन्दिर मंदिर

    महामन्दिर मंदिर एक वास्तुशिल्प चमत्कार, मंदौर रोड पर जोधपुर से 2 किमी की दूरी पर स्थित है। यह 1812 ई0 में बनाया गया था। यह शांत मंदिर 84 स्तंभों पर खड़ा है और दीवारों को योग के विभिन्न आसन और पारंपरिक रूपांकन से सजाया गया है। मंदिर के परिसर में कई प्राचीन मंदिर...

    + अधिक पढ़ें
  • 08उमेद गार्डन

    उमेद गार्डन

    उमेद गार्डन राजा उमेद सिंह द्वारा बनवाया गया था। ये गार्डन 82 एकड़ जमीन पर फैला है जहां पर्यटक अशोक के पेड़, लॉन, फव्वारे, एक पुस्तकालय और एक चिड़ियाघर को देख सकते हैं। पर्यटक पांच अलग-अलग दिशाओं में स्थित किसी भी द्वार से इस गार्डन में प्रवेश कर सकते हैं। आकर्षक...

    + अधिक पढ़ें
  • 09गणेश मंदिर

    गणेश मंदिर

    गणेश मंदिर, रतनन्दा में, जोधपुर शहर से 5 किमी की दूरी पर स्थित है। यह मंदिर हिंदू देवता गणेश, भगवान शिव के पुत्र, को समर्पित है। एक पौराणिक कथा के अनुसार, एक शिक्षक ने रतनन्दा की पहाड़ियों पर देवता की एक विशाल मूर्ति को देखा था। प्रतिमा की ऊंचाई और चौड़ाई क्रमशः 8...

    + अधिक पढ़ें
  • 10गुडा बिश्नोई गांव

    गुडा बिश्नोई गांव

    गुडा बिश्नोई ग्राम, जोधपुर शहर से 25 किमी की दूरी पर स्थित, एक आदिवासी पुरवा है। सुंदर खेजरी पेड़ और गुडा बिश्नोई झील, गांव के सौंदर्य को बढ़ाते हैं। पर्यटक यहां मोर, काले हिरण, हिरण, चिंकारा, सारस और कई प्रवासी पक्षियों को देख सकते हैं। हिंदू देवता विष्णु के...

    + अधिक पढ़ें
  • 11मछिया सफारी पार्क

    मछिया सफारी पार्क

    जोधपुर - जैसलमेर मार्ग पर, जोधपुर शहर से 9 किमी की दूरी पर मछिया सफारी पार्क स्थित है। यह दर्शनीय स्थलों की यात्रा और सैर सपाटे के लिए एक लोकप्रिय जगह है। यह पार्क छिपकलियों, रेगिस्तानी लोमड़ियों, नीले बैलों, नेवलों, खरगोशों, जंगली बिल्लियों, और बंदरों का...

    + अधिक पढ़ें
  • 12मंदौर गार्डन

    मंदौर गार्डन

    मंदौर गार्डन, मंदौर का एक लोकप्रिय आकर्षण है, मारवाड़ राजाओं की पहले राजधानी हुआ करती थी। यह अपने पत्थर के लंबे गलियारों के लिए प्रसिद्ध है, जो देश भर से पर्यटकों को आकर्षित करता है। यहाँ पर आगंतुक जोधपुर के पूर्व शासकों के स्मारकों को भी देख सकते हैं। पारंपरिक...

    + अधिक पढ़ें
  • 13उम्मेद भवन पैलेस संग्रहालय

    उम्मेद भवन पैलेस संग्रहालय

    उम्मेद भवन पैलेस संग्रहालय जोधपुर के शाही परिवार द्वारा इस्तेमाल की गई प्राचीन वस्तुओं की एक विस्तृत श्रृंखला को प्रदर्शित करता है। इस संग्रहालय में हवाई जहाज के मॉडलों, हथियारों, प्राचीन वस्तुओं, घड़ियों, बॉब घड़ियों, बर्तनों, कटलरी, चट्टानों, तस्वीरों और शिकार...

    + अधिक पढ़ें
  • 14उम्मेद भवन पैलेस

    उम्मेद भवन पैलेस का नाम इसके संस्थापक महाराजा उम्मेद सिंह के नाम पर रखा गया है। चित्तर पहाड़ी पर होने के कारण यह सुंदर महल 'चित्तर पैलेस' के रूप में भी जाना जाता है। यह भारत - औपनिवेशिक स्थापत्य शैली और डेको-कला का एक आदर्श उदाहरण है। डेको कला स्थापत्य शैली यहाँ...

    + अधिक पढ़ें
  • 15ओसियन

    ओसियन, जोधपुर से लगभग 65 किमी की दूरी पर स्थित एक प्राचीन शहर है। सदियों से मौजूद कई सुन्दर मंदिरों के लिए यह प्रसिद्ध है। इन मंदिरों को खूबसूरती से निर्मित किया गया है। इनमें से कुछ जैन मंदिर हैं और सचिया माता मंदिर, सूर्य मंदिर, हरिहर मंदिर, पिपाला देवी मंदिर,...

    + अधिक पढ़ें
One Way
Return
From (Departure City)
To (Destination City)
Depart On
29 Nov,Mon
Return On
30 Nov,Tue
Travellers
1 Traveller(s)

Add Passenger

  • Adults(12+ YEARS)
    1
  • Childrens(2-12 YEARS)
    0
  • Infants(0-2 YEARS)
    0
Cabin Class
Economy

Choose a class

  • Economy
  • Business Class
  • Premium Economy
Check In
29 Nov,Mon
Check Out
30 Nov,Tue
Guests and Rooms
1 Person, 1 Room
Room 1
  • Guests
    2
Pickup Location
Drop Location
Depart On
29 Nov,Mon
Return On
30 Nov,Tue