मशोबरा – पहाड़ों में प्रेसिडेंशियल रिट्रीट

होम » स्थल » मशोबरा » अवलोकन

मशोबरा  शिमला जिले में स्थित एक लोकप्रिय पर्यटक स्‍थल है। पहाड़ियों में एक सुंदर शहर के रूप में, यह जगह अपने सम्मोहित करने वाले दृश्यों और ठंडी जलवायु के लिए आगंतुकों के बीच अच्छी तरह से जाना जाता है। समुद्र स्तर से 2500 मीटर की ऊंचाई पर स्थित, मशोबरा  सिंधु और गंगा नदी के तट पर स्थित है और एशिया के सबसे बड़े वाटरशेड के रूप में माना जाता है।

लेडी माउंटबेटन और लेडी एडविना की जीवनी के अनुसार, मशोबरा  को लार्ड डलहाउज़ी ने 18वीं सदी में स्थापित किया था। यह जगह भारत में केवल दो राष्ट्रपति वासों में से एक के लिए घर है। मशोबरा  की एक विशेषता यहाँ के फल हैं और यह शिमला शहर के फल और सब्जियों के मुख्य आपूर्तिकर्ताओं में से एक के रूप में कार्य करता है।

यह स्‍थान शिमला और रिजर्व वन अभयारण्य और महासू देवता मंदिर जैसे कई पर्यटकों के आकर्षण के आसपास के क्षेत्र में स्थित होने के लिए जाना जाता है। महासू देवता, भगवान शिव का स्थानीय नाम, को समर्पित एक मंदिर भी यहां मौजूद है, जो हर साल कई तीर्थयात्रियों को आकर्षित करता है।

मशोबरा  यात्रा की योजना बना रहे यात्रियों को रिजर्व वन अभयारण्य, जो इस क्षेत्र में पाये जाने वाली दुर्लभ वनस्पतियों और पशुवर्ग को देखने का एक अवसर प्रदान करता है, की ओर अवश्य जाना चाहिए। ट्रैकिंग, शिविर लगाना और पिकनिक मनाना जैसी गतिविधियां हैं, जिनका आगंतुक यहां आनंद ले सकते हैं।

इनके अलावा, शिमला मशोबरा  के आसपास के क्षेत्र में एक और प्रमुख पर्यटक केन्द्र है, जो 10 किमी की दूरी पर स्थित है। लोकप्रिय रूप  से 'पहाड़ियों की रानी'  के रूप में जाना जाने वाली यह जगह हिमाचल राज्य संग्रहालय और पुस्तकालय की यात्रा करने का अवसर भी यात्रियों को उपलब्ध कराता है।

नलडेहरा, वाइल्ड फ्लावर हॉल और कैरिगनानो मशोबरा  के अन्य प्रमुख आकर्षण हैं, जहां हर रोज कई पर्यटक आते हैं। इनके अलावा, महासू मेला इस जगह का एक लोकप्रिय त्योहार है। 'महासू जटारा ' के रूप में जाना जाने वाला यह त्योहार गांव के मुख्य देवता, भगवान महासू के सम्मान में मनाया जाता है। यह एक दो दिवसीय त्योहार है जो प्रत्येक वर्ष मई महीने के तीसरे मंगलवार को दुर्गा देवी मंदिर के सामने मनाया जाता है।

मशोबरा परिवहन के प्रमुख साधनों अर्थात् हवा, सड़क, और रेल के माध्यम से देश से जुड़ा हुआ है। पर्यटक गर्मियों के दौरान, जो अप्रैल से शुरू होकर जून तक रहता है, जब जलवायु सुखद और आरामदायक रहती है, इस गंतव्य की यात्रा कर सकते हैं। यह शहर सर्दियों में कम तापमान के लिये प्रसिद्ध है क्योंकि इस समय तापमान -10 डिग्री सेल्सियस तक गिर जाता है।इसलिये  पर्यटकों को, जो अत्यधिक ठंड के मौसम में सहज नहीं हैं, इस मौसम में मशोबरा  से दूर रहने की सलाह दी जाती है।

Please Wait while comments are loading...