एमएम हिल्स  -  भगवान शिव से करनी हो मुलाकात तो यहां आइये

मेल महादेश्‍वरा पहाडि़यों में भगवान शिव का सुंदर मंदिर यात्रा का मुख्‍य आकर्षण है साथ ही साथ यह क्षेत्र  प्रकृति प्रेमियों के लिए भी देखने लायक है। यह तेजस्‍वी मंदिर घने जंगलो में स्थित है। मेल महादेश्‍वरा पहाडि़यों की यात्रा, पर्यटक के शरीर और आत्‍मा को शक्ति प्रदान करती है। जंगलों में बसा एक मंदिर

मेल महादेश्‍वरा पहाडि़यों, चामराजनगर जिले में मैसूर शहर से 140 किमी. की दुरी पर स्थित है। पहाडि़यॉ, समुद्र तल से 3000 फीट की ऊंचाई पर हैं। एमएम हिल्स के अन्य पर्यटक स्थल 

महादेश्‍वरा, पहाडि़यों और जंगलो से घिरा हुआ बहुत रमणीय स्‍थल है। किवदंतियों के अनुसार, महादेश्‍वरा शिव का ही एक अवतार है। स्‍थानीय लोगों का मानना है कि महादेश्‍वरा ने इस पहाड़ी पर तपस्‍या की थी जो कि आज भी मंदिर में बसी शिवलिंग के रूप में जारी है।

मंदिर में आश्‍चर्यजनक तथ्‍य यह है कि यहां बारहमासी जलप्रवाह, रहस्‍यमयी ढ़ंग से बना रहता है जिसकी उत्‍पत्ति भूमि के अन्‍दर से हुई है जो आज दिन भी राज बना हुआ है। मेल महादेश्‍वरा पहाडि़यों के जंगलों में चंदन की लकड़ी और बांस के पेड़ बहुतायत में हैं।यहां के जंगलों में हाथी, धब्‍बेदार हिरन, व तेंदुए की दुर्लभ प्रजातियां देखने को मिलती है। इन पहाडि़यों के कुछ हिस्‍सों में पहले कुख्‍यात अपराधी जैसे वीरप्‍पन आदि छिप जाया करते थे।

कैसे जाएं एमएम हिल्स

मेल महादेश्‍वरा पहाडि़यों तक आप  बंगलौर से मैसूर की ओर चलने वाली बसें पहुंचा देगी।

Please Wait while comments are loading...