पय्योली - वैभव में घुली-मिली विरासत और समुद्र तटों का एक सूप!

होम » स्थल » पय्योली » अवलोकन

पय्योली, दक्षिणी केरल के कालीकट जिले में एक छोटा सा गांव है। उत्तरी मालाबार तट पर स्थित, रेत और उथले पानी के सुनहरे खिंचाव के साथ यह एक शांत स्थान है। यद्यपि यह अपने समुद्र तटों के कारण जाना जाता है परंतु अन्य स्थलों की मेजबानी के कारण यह एक दर्शनीय स्थल है। यह एथलीट लेजेंड पी.टी उषा का घर है। पय्योली, कालीकट से केवल 30 किमी की दूरी पर है।

स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद

यह जगह अपने अनोखे लेकिन स्वादिष्ट व्यंजनों के लिए प्रसिद्ध है। अच्छी पाककला के साथ सामग्री में मसालों का एक दिलचस्प मिश्रण, लोगों से इस जगह की कहानी कहता है। यहाँ के रेस्तरां और स्टॉल भी देखने की एक जगह हैं। प्रसिद्ध पय्योली चिकन फ्राई (पय्योली कोरी परिचट्टू), खाने के पारखी और गैर-पारखी दोनों को एक बार ज़रूर चखना चाहिए आपका पैसा व्यर्थ नहीं जाएगा। मन को खुश कर देने वाली यह गर्म थाली जिसमें लाल मिर्च और अन्य मसालों का बेहतर तरीके से उपयोग किया जाता है, आपके उदास मूड को फिर से जीवंत कर सकती है। खून की तेज चाल छिपी हुई भावनात्मक जटिलताओं को ज़िंदा कर सकती है और आपको पूरी तरह से एक नया स्वाद और अनुभव दे सकती है। एक ऐसा स्वाद जिसे पय्योली भ्रमण के बाद आप जिंदगी भर याद रखेंगे।

पाम के लहरदार बीच और मंदिर

इस जगह के आकर्षणों में पॉम के पेड़ों की पंक्तिवाला शांत बीच, कुंजली मारक्कार संग्रहालय, वेलियमकालू और त्रिकोट्टूर पेरूमलपुरम मंदिर शामिल हैं। मंदिर के पीठासीन देवता भगवान शिव हैं। त्रिकोट्टूर पेरूमलपुरम मंदिर, पय्योली समुद्र तट के पास स्थित है। यह स्थान, राज्य के अन्य हिस्सों से भली प्रकार जुड़ा हुआ है। मौसम की स्थिति केरल के अन्य भागों के जैसी ही है।

Please Wait while comments are loading...