देवीकुलम - पुनर्जीवित कर देने वाले परिदृश्य

होम » स्थल » देवीकुलम » अवलोकन

“खुदा के अपने घर” केरल में स्थित पर्वतीय स्थल देवीकुलम अपने सुरम्य प्राकृतिक परिदृश्य के लिए प्रसिद्ध है। मख़मली हरी दूब के मैदानों से घिरी संकरी पहाड़ियों व नुकीली चट्टानों के बीच से गिरते कल-कल की ध्वनि करते झरने आपको सुंदर वातावरण का आनंद देते हैं। देवीकुलम, इडुक्की जिले में मुन्नार से लगभग 7 किमी दूरी पर स्थित है।

प्रकृति प्रेमियों के लिए यह एक पसंदीदा स्थल है क्योंकि वे यहां विभिन्न वनस्पतियों और जीव को देखने का लुत्फ उठाने के साथ-साथ उनका अध्ययन भी कर सकते हैं। ट्राउट मछली पकड़ना यहां की एक और गतिविधि है। देवीकुलम ट्रैकर्स के लिए भी पसंदीदा जगह है और बागानों तथा लाल गोंद के पेड़ों के मध्य भ्रमण वास्तव में एक अद्भुत अनुभव प्रदान करता है।

बैकपैकर्स के लिए एक स्वर्ग

इस स्थान का मुख्य आकर्षण सीता देवी झील है। किंवदंतियों के अनुसार, देवी सीता इसी झील में नहायी थीं। पल्लीवसल प्रपात घूमने लायक एक खूबसूरत जगह है। देवीकुलम की वनस्पतियों एवं वन्य जीवों के बारे में अधिक जानकारी के लिए एक निर्देशित दौरा करना बिल्कुल न भूलें।

देवीकुलम की यात्रा करने पर करीब ही स्थित मुन्नार की यात्रा की योजना भी बनाई जा सकती हैं। यहाँ मौसम, पूरे वर्ष सुखद रहता है। ग्रीष्मकाल, मानसून, और सर्दियां यहां के मुख्य मौसम है। देवीकुलम यात्रा के लिए गर्मियां और मानसून आदर्श मौसम हैं क्योंकि सर्दियों में तापमान में काफी गिरावट आ जाती है।

गर्मियों में जलवायु सुखद रहती है तथा रात में तापमान गिर जाता है। पर्यटक इस जगह मुख्य रूप से प्रकृति से जुड़ने और खुद को पुनऊर्जान्वित करने के लिए आते हैं।

शांत जलवायु आपको गहरे चिंतन में ले जाकर निश्चित रूप से आपको पुनऊर्जान्वित कर देती है तथा जब आप यहां से वापस अपनी दिनचर्या में लौटते हैं तो स्वंय को नई ऊर्जा से भरा पाते हैं।

Please Wait while comments are loading...