» »भारत का सबसे पुराना पेड़, जो अपने आप में एक जंगल, जिसे देख विदेशी भी रह गये हैरान

भारत का सबसे पुराना पेड़, जो अपने आप में एक जंगल, जिसे देख विदेशी भी रह गये हैरान

Written By: Goldi

जिस तरह खाना हमारे जीवन में बेहद महत्वपूर्ण है, ठीक उसी प्रकार पेड़ हमारे जीवन में बेहद जरूरी है...अनंतकाल से पेड़ हमारे जीवन का बेहद महत्वपूर्ण हिस्सा बने हुए हैं। इन पेड़ों से ना सिर्फ हमें फल फूल आदि मिलते हैं, बल्कि हमे धूप से भी बचाते हैं, साथ ही इनसे पर्यावरण भी संतुलित रहता है।

जहां आज लोग शहरीकरण के चलते पेड़ों को काट-काटकर ऊँची ऊँची बिल्डिंग बनाकर पैसे कमाने में लगे में हुए हैं..वहीं कोलकाता में एक ऐसा पेड़ है..जोकि अपने आप में जंगल है, यह पेड़ करीबन  255 वर्ष पुराना है..यह और भारत के सबसे पुराने पेड़ों में से है..दरअसल हम बात कर रहेद ग्रेट बनयान ट्री की....

कीजिये दर्शन कोलकाता के भव्य आकर्षण स्थलों का

अगर आपने अभी तक इस पेड़ के बारे में नहीं सुना है, तो आज हम आपको अपने लेख के जरिये इस पेड़ के बारे में कुछ दिलचस्प बातें बताने जा रहे हैं

कहां है ये पेड़?

कहां है ये पेड़?

ये पेड़ कोलकाता के पास आचार्य जगदीश चंद्र बोस बोटानिकल गार्डन में मौजूद है। तस्वीर में आप देख सकते हैं कि ये पेड़ किसी जंगल से कम नहीं लग रहा है।PC:Biswarup Ganguly

कितने वर्गमीटर में फैला है?

कितने वर्गमीटर में फैला है?

ये बरगद का पेड़ दुनिया का सबसे चौड़ा पेड़ है जो 14400 वर्ग मीटर में फैला है।PC:Biswarup Ganguly

255वर्ष पुराना

255वर्ष पुराना

ये पेड़ 255 साल का है और इसको देख कर लगता है कि ये कोई पेड़ नहीं बल्कि पूरा जंगल ही है। अगर आप दूर से देखेंगे तो ये पेड़ एक जंगल की तरह लगेगा। दरअसल, इस बरगद की 2800 से ज्यादा जटाएं जड़ का रूप ले चुकी हैं।PC:Biswarup Ganguly

द ग्रेट बनयान ट्री के नाम से है प्रसिद्ध

द ग्रेट बनयान ट्री के नाम से है प्रसिद्ध

इसे द ग्रेट बनयान ट्री के नाम से जाना जाता है और इसकी कैनोपी 3,511 एरियल प्रोप जड़ों से बनी हुई है, जिसके चलते ये एक नहीं बल्कि अलग-अलग कई पेड़ जैसा लगता है।PC: Abhi7300

10,000 लोग एक साथ खड़ें हो सकते है

10,000 लोग एक साथ खड़ें हो सकते है

‘ द ग्रेट बेनियन ' इतना विशाल पेड़ है जिसके नीचे दो नही चार नही बल्कि पूरे 10,000 लोग एक साथ खड़ें हो सकते है।
PC:Biswarup Ganguly

प्रोप पेड़ की जड़े

प्रोप पेड़ की जड़े

1850 में जब इस प्रोप पेड़ की जड़े लगभग 89 थी और घेराव लगभग 240 मीटर था।प्रोप जड़े वो जड़े होती है जो टहनीयों से निकलती है और मिट्टी में अपनी पकड़ बना लेती हैं और पेड़ को मजबूती देती हैं।PC:Biswarup Ganguly

87 पक्षीयों की प्रजातियां

87 पक्षीयों की प्रजातियां

इस पेड़ पर 87 पक्षीयों की प्रजातियां रहती हैं। इसके अलावा बंदर और गिलहरीया भी बड़ी सख्या में पाए जाते हैं। भारत सरकार ने द ग्रेट बेनियन का एक पोस्ट स्टेंम भी जारी किया है।PC:Biswarup Ganguly

13 लोग करते हैं पेड़ की रखवाली

13 लोग करते हैं पेड़ की रखवाली

यह पेड़ इतना विशाल है कि, इस पेड़ की रखवाली के लिए 13 लोगो को रखा गया है।PC:Biswarup Ganguly

द ग्रेट बनयान ट्री

द ग्रेट बनयान ट्री

द ग्रेट बनयान ट्री की कुछ खास तस्वीरें

PC:Biswarup Ganguly

द ग्रेट बनयान ट्री

द ग्रेट बनयान ट्री

द ग्रेट बनयान ट्री की कुछ खास तस्वीरें
PC: McKay Savage

द ग्रेट बनयान ट्री

द ग्रेट बनयान ट्री

द ग्रेट बनयान ट्री की कुछ खास तस्वीरें
PC:Rupam Das

द ग्रेट बनयान ट्री

द ग्रेट बनयान ट्री

द ग्रेट बनयान ट्री की कुछ खास तस्वीरेंPC: Kararkadeep

द ग्रेट बनयान ट्री

द ग्रेट बनयान ट्री

द ग्रेट बनयान ट्री की कुछ खास तस्वीरेंPC: Ankur8100

द ग्रेट बनयान ट्री

द ग्रेट बनयान ट्री

द ग्रेट बनयान ट्री की कुछ खास तस्वीरें..PC:Biswarup Ganguly

Please Wait while comments are loading...