» »ये हैं अमीरों के शौक की चीज, लेकिन आप भी आजमायें अपना हाथ

ये हैं अमीरों के शौक की चीज, लेकिन आप भी आजमायें अपना हाथ

By: Namrata Shatsri

दुनियाभर मे घुड़सवारी परिवहन का सबसे प्राचीन माध्‍यम रहा है और अब यह मनोरंजन और खेल का हिस्‍सा बन गया है। इसे इक्‍यूट्राएनिज्‍म के नाम से जाना जाता है। ठीक तरह से घुड़सवारी करने के लिए उचित कौशल की जरूरत होती है। इस काम के लिए घोड़ा और घुड़सवार दोनों का ही प्रशिक्षित होना बहुत जरूरी है।

राजस्थान का राजसी ठाट-बाठ तो बहुत देख लिया..अब घूमे राजस्थान के नेशनल पार्क

कभी परिवहन का प्रमुख साधन रहा ये अब लग्‍जरियस एक्‍टिविटी बन चुकी है। अमीर लोगों के बीच घुड़सवारी बहुत लोकप्रिय है। हालांकि, हर किसी को अपनी जिंदगी में एक बार तो घुड़सवारी का मज़ा लेना ही चाहिए।

जयपुर के महलनुमा संग्रहालय में राजस्थान का इतिहास!

अगर आप घुड़सवारी का शौक रखते हैं और इस बार छुट्टियों में इसका मज़ा लेना चाहते हैं तो आज हम आपको बता रहे हैं कि किन जगहों पर आपकी ये चाहत पूरी हो सकती है।

पहलगाम, जम्‍मू और कश्‍मीर

पहलगाम, जम्‍मू और कश्‍मीर

कश्‍मीर एक बेहद ही खूबसूरत जगह है। यहां पर आकर आपको इसके प्राकृतिक सौंदर्य पर विश्‍वास ही नहीं होगा। हरे-भरे मैदान, बर्फ से ढकी पहाडियां और वन्‍जीव इस जगह को खास बनाते हैं। इसके अलावा यहां पर सर्दी के मौसम में आप एडवेंचर स्‍पोर्ट्स जैसे स्कींग, एंगलिंग और घुड़सवारी कर सकते हैं। पहलगाम में घुड़सवारी ज्‍यादा की जाती है।

श्रीनगर से 88 किमी दूर स्थित पहलगाम एक खूबसूरत हिल स्‍टेशन है जिसे आप हॉर्स राइड के ज़रिए निहार सकते हैं। पहलगाम के सुहावने मौसम में घूमना वाकई में बहुत अच्‍छा लगता है।

Pc: Mike Prince

युमथांग घाटी, सिक्किम

युमथांग घाटी, सिक्किम

फूलों की घाटी सिक्किम में घुड़सवारी का मज़ा दोगुना हो जाता है। सिक्किम की युमथांग घाटी, को फूलों की घाटी भी कहा जाता है क्‍योंकि यहां पर शिंग्‍बा रोडोडेंड्रॉन अभ्‍यारण्‍य है। यहां पर आपको रोडोडेंड्रॉन फूलों की 24 से ज्‍यादा प्रजातियां देखने को मिलेंगीं।

युमथांग घाटी, आने का सबसे सही समय फरवरी और जून के मध्‍य में है। इस समय इस पूरी घाटी में हर जगह फूलों की चादर बिछ जाती है।

Pc: soumyajit pramanick

माथेरन, महाराष्‍ट्र

माथेरन, महाराष्‍ट्र

महाराष्‍ट्र के रायगढ़ जिले में स्थित खूबसूरत हिल स्‍टेशन है माथेरन जोकि शहर के प्रदूषण और भीड़ से काफी दूर है। सालभर माथेरन का मौसम सुहावना रहता है। मॉनसून के दौरान तो इस जगह की खूबसूरती कई गुना बढ़ जाती है। माथेरन को एशिया का सबसे छोटा हिल स्‍टेशन कहा जाता है।

माथेरन में 38 व्‍यूप्‍वाइंट हैं और यहां से नेरल गांव का मनोरम दृश्‍य दिखाई देता है। माथेरन की पहाड़ियों पर घुड़सवारी का मज़ा ले सकते हैं। अगर आपको ट्रैकिंग और नेचर वॉक पसंद नहीं है तो ये आपके लिए बेहतर विकल्‍प है।Pc: Anuradha Sengupta

दीघा, पश्चिम बंगाल

दीघा, पश्चिम बंगाल

पश्चिम बंगाल का शांत समुद्री शहर है दीघा जोकि कोलकाता शहर से 183 किमी दूर है। यहां पर सबसे बढ़िया सीफूड और फिश मिलती है। दीघा बीच पर कई दुकाने भी हैं जहां पर कई तरह की चीज़ें मिलती हैं।

दीघा बीच के तट पर घुड़सवारी का अपना ही एक अलग मज़ा है। यहां पर घुड़सवारी के लिए आप मोल-भाव भी कर सकते हैं।
Pc:Rajarshi MITRA

उदयपुर, राजस्‍थान

उदयपुर, राजस्‍थान

सिटी ऑफ़ लेक्स के नाम से प्रसिद्ध उदयपुर भारत के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है।उदयपुर में आप सिटी पैलेस, गुल महल, जग मंदिर आदि भी देख सकते हैं। इसके अलावा उदयपुर की खूबसूरत झीलें जैसे पिछोला झील और फतेह सागर झील आदि भी प्रसिद्ध है।

उदयपुर में कई स्‍थानीय सेवाओं द्वारा रॉयल घुड़सवारी की सुविधा दी जाती है। यहां पर घुड़सवारी कर आप खुद को किसी राजा से कम नहीं महसूस करेंगें। इनमें से किसी भी एक जगह पर घुड़सवारी कर सकते हैं।

Pc:Don't just "click" pictures;

Please Wait while comments are loading...