» »मणिपाल यूनिवर्सिटी तो सुना होगा, कभी देखा है क्या मणिपाल

मणिपाल यूनिवर्सिटी तो सुना होगा, कभी देखा है क्या मणिपाल

Written By: Goldi

मणिपाल कर्नाटक राज्य के उडुपी जिले में एक छोटा सा शहर है,लेकिन कहीं गुम सा था..इस छोटे से शहर को पहचान मिली यहां स्थित मणिपाल विश्वविद्यालय से। जिस कारण यह जगह युवायों के बीच खासा लोकप्रिय हो गयी।

निकल पड़े बैंगलोर से घूमने कर्णाटक की ऊँची चोटी को

पश्चिम की ओर पश्चिमी घाट के अरब सागर होने के साथ साथ इस शहर के नजारे ओर भी खूबसूरत है। मणिपाल मैंगलोर से करीबन 63 किमी की दूरी पर स्थित है, साथ ही समुद्री तटों से भी।

बैंगलोर से दांडेली का एडवेंचरस ट्रिप

मणिपाल भारत के महानगरीय शहरों में से एक है और एक प्रौद्योगिकी केंद्र भी है। आइये जानते हैं मणिपाल के कुछ बेहद खूबसूरत वीकेंड गेटवे....

अगुम्बे

अगुम्बे

अगुम्बे अपने खतरनाक घाट और घुमावदार सड़कों के लिए प्रख्यात है..अगुंबे बाइकर का एक पसंदीदा गंतव्य हैं। यह पश्चिमी घाट का एक पहाड़ी गांव है, जो अमीर हरी जैव विविधता में शामिल है। यह अपनी प्राकृतिक सुंदरता औरछिपे हुए झरने जैसे कि बरकाणना फॉल्स के लिए जाना जाता है, ओनाक अबी आदि।अगुम्बे मणिपाल से एक घंटे की दूरी पर स्थित है। इस गांव में बाइकिंग के अलावा ट्रैकिंग और सुन्दर नजारों को देखा जा सकता है।

कुद्रेमुख

कुद्रेमुख

कुद्रेमुख का शाब्दिक मतलब कन्नड़ में "घोड़ा का चेहरे", जिसका नाम कर्नाटक के चिकमगलूर जिले में पर्वत श्रृंखला में घोड़ों के आकार का शिखर के कारण है। यह साहसिक प्रेमी के बीच ट्रेकिंग के लिए एक लोकप्रिय स्थान है, साथ ही यह चोटी कर्नाटक की तीसरी सबसे ऊँची चोटियों में से एक है।

कुद्रेमुख मणिपाल से 87 किमी की दूरी पर स्थित है, यहां मणिपाल से करीब 2 घंटे में पहुंचा जा सकता है। ट्रैकिंग के अलावा यहां सैलानी कुद्रेमुख नेशनल पार्क,हनुमान गुंडी आदि देख सकते हैं।

कर्कला

कर्कला

कर्नाटक राज्य के दक्षिणी हिस्से में स्थित कार्कल नगर मूर्ति निर्माण कला में निपुणता के लिए विश्व विख्यात है। यहां के उत्साही मूर्तिकार पत्थरों में जान डालने की क्षमता रखते हैं। उनकी कला का प्रत्यक्ष प्रमाण यहां देखा जा सकता है। मंगलौर से 35 किमी दूर स्थित कार्कल शहर भगवान बाहुबली की विशाल मूर्ति के लिए विशेष रूप से लोकप्रिय है।

चिकमगलूर

चिकमगलूर

कर्नाटक का चिकमगलूर शहर मुल्लयनागिरी पर्वत श्रृंखलाओं की तलहटी में स्थित है। यह शहर अपनी चाय और कॉफी के बागानों के लिए जाना जाता है।सैलानी मुल्लायनगिरि शिखर पर ट्रेक कर सकते हैं, साथ ही भद्र बांध में राफ्टिंग का मजा भी ले सकते हैं और केम्मागुंडी , कलहटी झरने जैसे स्थानों पर घूम सकते हैं। चिकमगलूर मणिपाल से 161 किमी दूर स्थित है..और यहां मणिपाल से 4 घंटे में पहुंचा जा सकता है।

समुद्री तट

समुद्री तट

अगर आप मणिपाल के आसपास समुद्री तट घूमने का सोच विचार कर रहे हैं तो मणिपाल के 20 किमी के अंदर ही कई खूबसूरत समुद्री तट है..जैसे माल्पे बीच,कॉप बीच,हूडे बीच आदि..जहां आप इन समुंद्र के किनारे सनसेट और सनराइज का मजा ले सकते हैं। सिर्फ इतना ही नहीं आप यहां जमकर वाटर स्पोर्ट्स का भी लुत्फ उठा सकते हैं।