• Follow NativePlanet
Share
» »भूत-प्रेतों को सच में देखना है तो आएं इंदौर के इन स्थानों पर

भूत-प्रेतों को सच में देखना है तो आएं इंदौर के इन स्थानों पर

इंदौर मध्य प्रदेश के सबसे अधिक आबादी वाला और सबसे बड़ा शहर है। साथ ही यह इंदौर जिला और इंदौर डिवीजन दोनों के मुख्यालय के रूप में भी कार्य करता है। इसके अलावा यह शहर शिक्षा के क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण केंद्र के रूप में भी काम करता है। यह राज्य का पहला ऐसा शहर है जहां भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान और भारतीय प्रबंधन संस्थान दोनों के कैंपस मौजूद हैं।

इसके अलावा यह शहर रेल और सड़क मार्गों के द्वारा राज्य के अन्य छोटे-बड़े शहरों से भी जुडा हुआ है। संपूर्ण दृष्टि से देखें तो इंदौर मध्य प्रदेश का एक बहुत ही विकसित शहर है। समय के साथ यहां कई बदलाव हुए हैं जिस की वजह से शहर की काया पलट हो पाई है। 

लेकिन इस सब के अलावा इस शहर की कुछ सच्चाई ऐसी भी है जिसके विषय में शहर की एक बड़ी आबादी जरूर परिचित होगी। रहस्य की पड़ताल में आज हमारे साथ जानिए इंदौर के उन चुनिंदा स्थानों के बारे में जिन्हें सबसे प्रेतवाधित श्रेणी में रखा गया है।   

एमजी रोड़ की खाली इमारत

एमजी रोड़ की खाली इमारत

इंदौर के मध्य स्थित एमजी रोड़ शहर की सबसे व्यस्त सड़को में शुमार है। इसी व्यस्त सड़क के किनारे एक खाली बिल्डिंग मौजूद है। स्थानीय जानकारों की मानें तो कुछ साल पहले इस खाली बिल्डिग से कुद कर एक महिला ने आत्महत्या कर ली थी। इस घटना को कई दिन बीत जाने के बाद आसपास के लोगों को कुछ अजीबोगरीब हरकतों का आभास इस बिल्डिंग में हुआ। उनका मानना है कि इस खाली पड़ी इमारत में उस महिला की आत्मा भटकती है।

यहां आसपास कुछ घर भी मौजूद है जहां के लोगों का कहना है कि रात के समय यहां से चीखने-चिल्लाने जैसी आवाजें आती हैं। इन सब के अलावा कुछ लोगों का दावा है कि यहां उन्होंने पैरानॉर्मल गतिविधियों का अनुभव किया है। इन सभी घटनाओं के बाद इस बिल्डिंग को चुनिंदा सबसे डरावनी जगहों में शामिल किया गया है।

सुख निवास पैलेस

सुख निवास पैलेस

इंदौर में ही सुख निवास के नाम से एक महल भी मौजूद है, जिसका निर्माण राजा मल्हार राव होलकर ने कराया था। चूंकि मल्हार राव कला-संस्कृति के बड़े प्रेमी थे, इसलिए उन्होंने इस महल के अलावा और भी कई संरचनाओं का निर्माण करवाया। मल्हार राव होलकर मराठा साम्राज्य के एक सामंत थे जो मालवा के प्रथम सूबेदार बने। ये होलकर राजवंश के पहले राजकुमार थे जिन्होंने कई सालों तक मध्य प्रदेश के इंदौर शहर पर राज किया। इसी दौरान इन्होंने सुख निवास नाम से एक महल का निर्माण करवाया था। वर्तमान में यह इंदौर का सबसे लग्जरी पैलेस माना जता है।

लेकिन बहुत ही कम लोग जानते हैं इस पैलेस भी प्रेतवाधित है, जिसे कई कहानियां जुड़ी हुई हैं। रात के दौरान यहां का आसापास का माहौल काफी अनोखा अनुभव कराता है। हालांकि वर्तमान में इस महल से जुड़ी किसी बड़ी प्रेतवाधित घटना के बारे में सटीक कुछ जानकारी नहीं मिलती।

केरल : यहां भगवान को चढ़ाया जाता है जिंदा सांप, मिलती है जहर से मुक्ति

मांडू का जहाज महल

मांडू का जहाज महल

PC-Shrikrishna gokhale

जहाज महल मध्य प्रदेश के मांडू का ऐतिहासिक महल है जो अपनी ऐतिहासिक महत्व के लिए जाना जाता है। दरअसल माडूं में कई छोटे-बड़े महल मौजूद हैं जिनका निर्माण मांडू के राजाओं के शासनकाल के दौरान हुआ। दरअसल मांडू बाज बहादूर और रानी रूपमती के अमर प्रेम कहानी के लिए जाना जाता है। जानकारों का मानना है कि मांडू में खड़ा जहाज महल आज भी दोनों की अधूरी अमर प्रेम कहानी की याद दिलाता है। महल की दीवारें कुछ अलग तरीके का एहसास कराती हैं, ऐसा लगता है कि जैसे ये कुछ संकेत देना चाहती हैं। इसके अलावा यह पूरा इलाका शाम के बाद काफी डरावना हो जाता है। सालों से खड़ी दीवारें रात के अंधेरे में अनजाना अनुभव कराती हैं। इसलिए इस स्थान को भी प्रेतवाधित श्रेणी में रखा गया है।

लाल बाग महल

लाल बाग महल

इसके अलावा इंदौर का लाल बाग महल भी शहर के सबसे प्रेतवाधित स्थानों में गिना जाता है। इस महल का निर्माण शिवाजी राव होल्कर ने करवाया था। जो आज इंदौर की सबसे आलिशान हेरिटेज बिल्डिंग के रूप में जाना जाता है। यहां रोजाना कई देशी-विदेश सैलानी पैलस भ्रमण के लिए आते हैं। उनमें से कई लोगों का मानना है कि यह पैलेस प्रेतवाधित है, यहां किसी प्रेत-आत्मा का साया है। यहां आ चुके सैलानियों ने यहां असामान्य गतिविधियों को घटते देखा है।

इसके अलावा यहां लोगों ने रात के समय चीखने-चिल्लाने जैसी आवाजों को भी सुना है। इस सभी प्रेतवाधित घटनाओं के चलते यहां शाम ढलने के बाद किसी को पैलेस के अंदर जाने की इजाजत नहीं हैं। रात भर के लिए यह महल बंद कर दिया जाता है।

गोमा की फेल और काजी की चाल

गोमा की फेल और काजी की चाल

गोमा की फेल और काजी की चाल में कई प्रेतवाधित गतिविधियों को दर्ज किया गया है। जानकारों के अनुसार यहां फरवरी 2015 में एक कम उम्र की लड़की ने खुद को जलाकर आत्म हत्या कर ली थी। मृत के परिवारों का मानना है कि उनकी बेटी को दो लड़कियों के जलने के लिए राजी किया था। कुछ ऐसा ही मामला गोमा की फेल और काजी की चाल पहले भी घट चुक है।

इन सब घटनाओं के कारण इस जगह को प्रेतवाधित घोषित किया गया है। स्थानीय लोगों ने यहां कई अजीबोगरीब घटानओं की शिकायत की है। ये थे मध्य प्रदेश राज्य के इंदौर शहर के कुछ चुनिंदा सबसे प्रेतवाधित स्थान। अगर आप कुछ रहस्य और रोमांच में रूची रखते हैं तो इन स्थानों की सैर अवश्य जरूर करें।

राजस्थान के मंडोर के आसपास घूमने लायक सबसे खास जगहें

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स