» »भारत के स्कॉटलैंड में ये खास चीजें करना कतई ना भूले

भारत के स्कॉटलैंड में ये खास चीजें करना कतई ना भूले

Written By: Goldi

जब भी बात दक्षिण भारत के खूबसूरत हिल स्टेशन होती है, कुर्ग का नाम सबसे ऊपर आता है। कर्नाटक के दक्षिण पश्चिम भाग में पश्चिमी घाट के पास कूर्ग एक पहाड़ पर स्थित जिला है जो समुद्र स्‍तर से लगभग 900 मीटर से 1715 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।कूर्ग को 'भारत का स्‍कॉटलैंड' और 'कर्नाटक का कश्‍मीर' भी कहा जाता है।

यह दक्षिण भारत के लोगों का प्रसिद्ध वीकेंड गेटवे है, दक्षिण कन्‍नड़ के लोग यहां विशेष रूप से वीकेंड मनाने आते है। कोडगु पुरानी दुनिया के आकर्षण का प्रतीक हैं जो बिखरे हुए गांवों और बस्तियों की एक आदर्श क्षेत्र का रूप है। दिल मोह लेने वाले पहाड़ यहां दूर से ही सैलानियों को अपनी ओर खींचते हैं। नज़ारे ऐसे हैं कि मानों जन्नत ज़मीन पर उतर आई हो। शहर की भीड़, धूल और शोर-शराबे से दूर कूर्ग एक शांत और सुंदर जगह है। यहां लोग हसीन वादियों के साथ-साथ अपने मन की शांति के लिए भी आते हैं। फोटोग्राफी के शौकीन लोगों के लिए तो यह परफेक्ट जगह मानी जाती है।

दक्षिण भारत का कश्मीर मदिकेरी

यहां आकर पर्यटक पुराने मंदिरों, ईको पार्क, झरनों और सेंचुरी की खूबसूरती में रम जाते है। अगर आप कूर्ग की सैर पर आएं तो अब्‍बे फॉल्‍स, ईरपु फॉल्‍स, मदीकेरी किला, राजा सीट, नालखंद पैलेस और राजा की गुंबद की सैर करना कतई न भूले। कूर्ग में कई धार्मिक स्‍थल भी है जिनमें भागमंडला, तिब्‍बती गोल्‍डन मंदिर , ओमकारेश्‍वर मंदिर और तालाकावेरी प्रमुख है। इसके अलावा कुछ और भी खास चीजें हैं, जिनका मजा पर्यटक कूर्ग में उठा सकते हैं।

माइक्रोलाइट फ्लाइंग

माइक्रोलाइट फ्लाइंग

कुर्ग भारत की उन बेहद खूबसूरत जगहों में से एक हैं, जहां पर्यटक जी-भरकर एडवेंचर एक्टिविटीज का लुत्फ उठा सकते हैं। आप यहां माइक्रो फाइट फ्लाइंग का मजा लेस कते हैं..जो करीबन 5000 फीट की ऊंचाई अपर उड़ती है..जहां से आप कूर्ग के बेहतरीन और खूबसूरत पहाड़ और हरियाली एरियल व्यू देख सकेंगे। यह एक ऐसा अनुभव है जिसे आप जीवन भर के लिए याद रखना चाहेंगे।

ट्रैकिंग

ट्रैकिंग

कुर्ग में ट्रेकिंग भी की जा सकती है..यहां की हरी भरी पहाड़ियां, चोटियां और तेजी से बहने वाली नदियां, पर्यटकों का मन मोह लेती है। कुर्ग के खास ट्रेकिंग क्षेत्र में लोकप्रिय ट्रेक है- जैसे तडियामंडल, मंडलपट्टी और कोप्पती आदि।PC:Rawbin

रिवर राफ्टिंग

रिवर राफ्टिंग

कुर्ग में रिवर राफ्टिंग को बिल्कुल भी मिस नहीं करना चाहिए..बारापोल के पास से शुरू होती है रिवर राफ्टिंग.. जहाँ पर आप असीमित रोमांचक और साहसिक क्रियाओं का मज़ा ले सकते हैं। राफ्टिंग करने वाले आयोजक राफ्टिंग से पहले पर्यटकों को सभी आवश्यक उपकरण प्रदान करते हैं, जिनमें जीवन जैकेट, हेलमेट और अन्य सभी आवश्यक चीजें शामिल हैं।

फिशिंग

फिशिंग

अगर आपको फिशिंग करने के शौक है, तो आप वल्नूर और भीमेश्वरी कैम्प जा सकते हैं, यह कर्नाटक के पूरे राज्य में सबसे अच्छा मछली पकड़ने के शिविरों में गिने जाते हैं। इन दोनों शिविरों में मछली पकड़ने के लाइसेंस मिलते हैं और ऐसे लोगों के लिए वास्तव में आकर्षक स्पॉट होते हैं जो मछली पकड़ना पसंद करते हैं। इन जलों में मछली की दुर्लभ प्रजातियां होती हैं,जिन्हें अकेव्ल अप देख सकते हैं। जो केवल उद्देश्य देखने के लिए हैं। इन शिविरों में पकड़ी जाने वाली मछली की आम प्रजातियां मारल और महशेर हैं।

कॉफ़ी के बागानों में घूमें

कॉफ़ी के बागानों में घूमें

अगर आप प्रकृति को करीब से निहारना चाहते हैं, तो कूर्ग में मौजूद कॉफ़ी के बागानों के बीच चहलकदमी जरुर करें.. इस दौरान आप उन वहां काम करने वाले लोगो को कॉफ़ी तोड़ते हुए देख सकते हैं।

रॉक क्लाइंबिंग

रॉक क्लाइंबिंग

कर्नाटक में रॉक क्लाइंबर्स के लिए लिए कुर्ग किसी जन्नत से कम नहीं है.. यहां रॉक क्लाइम्बिंग के लिए होनांबना केरे को सबसे अच्छा माना जाता है,इसके अलावा रॉक क्लाइम्बिंग का मजा गवि बेट्टा और मोरी बेट्टा में भी लिया जा सकता है। यहां कई लोकल एडवेंचर ओपेरटर हैं, जो पर्यटकों के लिए रॉक क्लाइम्बिंग को आयोजित करवाते हैं, इस दौरान पर्यटकों की सुरक्षा का भी पूरा ध्यान रखा जाता है।

वाटर रेप्लिंग

वाटर रेप्लिंग

कुर्ग एक ऐसी खूबसूरत जगह है, जो पानी के झरनों से भरपूर है..अगर आप वाटर रेप्लिंग पसंद करते हैं..तो कूर्ग एक बेस्ट प्लेस हो सकती है...वाटर रेप्लिंग के दौरान सुरक्षा मानकों का पूरा ध्यान भी रखा जाता है।