» »लक्षद्वीप के पानी में रोमांच भरी डुबकी!

लक्षद्वीप के पानी में रोमांच भरी डुबकी!

Written By:

लक्षद्वीप में समुद्रों का जल अब तक काफी शुद्ध है और कुछ पर्यटकों से अभी तक अछूता है। क्रिस्टल की तरह साफ़ पानी, रंगबिरंगी पानी की मुद्राएं और जीवंत व चमचमाती मछलियां, पानी के अंदर के सफ़र को एक जादुई भरी यात्रा बनाती हैं। द्वीप पानी के कई प्रसिद्द खेलों के लिए प्रसिद्द हैं। कयाकिंग से लेकर, स्नोर्केलिंग और स्कूबा डाइविंग जैसे रोमांचक खेलों का मज़ा पर्यटक अपनी लक्षद्वीप की यात्रा में भरपूर ले सकते हैं। स्नोर्कलिंग जैसे पानी के खेल पर्यटकों को लक्षद्वीप के जलीय जीवन से अवगत कराते हैं। बंगाराम द्वीप कम गहरे पानी वाले समुद्र से घिरा हुआ है, जो स्नोर्केलिंग जैसे खेल के लिए बिल्कुल अनुकूल जगह है।

[भारत में मानव दिमाग की अद्भुत उपज हैं ये 4 अनोखे हवाई अड्डे!]

स्नोर्केलिंग ने लक्षद्वीप के कई एडवेंचर खेलों और गतिविधियों में सबसे ज़्यादा लोकप्रियता हासिल की है। लक्षद्वीप में स्नोर्केलिंग पर्यटकों का मनपसंद खेल बनकर उभर रहा है।यह एक खेल होने की वजह से, इसके मज़े लेने के लिए अापकों तैराकी में निपुणता हासिल करने की ज़रूरत भी नहीं होगी। कोई भी इस खेल के मज़े ले सकता है क्यूंकि आप वेट सूट,तैरने वाले पंख, स्नोर्कल ट्यूब में जुड़े डाइविंग मास्क की मदद से खुद ही पानी की सतह पर तैर सकते हैं।

Lakshdweep

स्नोर्कल ट्यूब की मदद से, आपको घंटों तक पानी की सतह में तैरने का मज़ा मिलता है। लक्षद्वीप में स्नोर्केलिंग खेल के मज़े लेने का सही समय है अक्टूबर से मई तक के महीने। मानसून के दौरान स्नोर्केलिंग खेल से परहेज़ करना चाहिए क्यूंकि इस समय समुद्र में उठने वाले उच्च ज्वार का खतरा रहता है।

[भारत में 6 सर्वश्रेष्ठ डॉलफिन गंतव्य स्थान!]

लक्षद्वीप में बंगाराम द्वीप स्नोर्केलिंग के लिए मुख्य जगह है। द्वीप के चारों ओर कम गहराई वाला जल आपको स्नोर्केलिंग के लिए सबसे अच्छा अवसर प्रदान करता है। यहाँ का कदमात द्वीप भी आपको स्नोर्केलिंग का अच्छा अनुभव देने के लिए एक सही विकल्प है। इन द्वीपों के अलावा, लक्षद्वीप में स्थित कई वॉटर स्पोर्ट्स इंस्टिट्यूट भी पर्यटकों को इन खेलों के मज़े लेने का प्रावधान दिलाती हैं। स्कूबा डाइविं के लिए भी सबसे सही समय अक्टूबर से मई के महीने होते हैं। मॉनसून में उच्च ज्वार के आने की वजह से स्कूबा डाइविंग के खेल से परहेज करना चाहिए।

Lakshdweep

स्कूबा डाइविंग जैसे रोमांचक खेल भी लक्षद्वीप में प्रचलित है। कदमात और बंगाराम के द्वीपों में बीच रेसॉर्ट अपने पर्यटकों के लिए ऐसे कई पानी के खेलों का आयोजन करता है। अरब सागर का समृद्ध जलीय जीवन, स्कूबा डाइविंग खेल के ज़रिये पर्यटकों को पूरी तरह अपने में सम्मिलित कर लेता है।

लक्षद्वीप में होटल बुक करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

कदमात आइलैंड रिसॉर्ट में लैकाडाइव्स डाइविंग स्कूल भी है जो स्कूबा डाइविंग में पहली बार हाथ आज़माने वालों को दिशानिर्देश भी देती है। यहाँ के प्रशिक्षकों को अच्छी तरह ट्रेन किया जाता है और यह इन खेलों में माहिर होते हैं। स्कूबा डाइविंग का यह कोर्स 8 दिनों तक लगातार चलता है जिसमें एक दिन सारे निर्देशों को समझाया जाता है और अन्य रातों में अरब सागर में गोता लगाना सिखाया जाता है। इस खेल में लगने वाले ज़रूरी सामान इस इंस्टिट्यूट द्वारा ही दिए जाते हैं। इस खेल में भाग लेने वाले पर्यटकों के लिए तैराकी का थोड़ा ज्ञान होना ज़रूरी है।

Lakshdweep

लक्षद्वीप पहुँचें कैसे?

लक्षद्वीप के द्वीपों में बसे पानी का भीतरी और अनोखा जीवन पर्यटकों को अपनी ओर खींच ले जाता है। यहाँ के रोमांचक पानी के खेल हर बार रोमांच प्रेमियों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं। लक्षद्वीप में कई अन्य पानी के खेलों का भी बोलबाला है,जैसे लैगून फिशिंग,कैनोइंग, याचिंग,पैरासेलिंग और कयाकिंग।

अपने महत्वपूर्ण सुझाव व अनुभव नीचे व्यक्त करें।

Click here to follow us on facebook.

Please Wait while comments are loading...