• Follow NativePlanet
Share
» »गुजरात के इस अनोखे मंदिर में होती है मुस्लिम महिला की पूजा, कारण जान रह जायेंगे हैरान

गुजरात के इस अनोखे मंदिर में होती है मुस्लिम महिला की पूजा, कारण जान रह जायेंगे हैरान

Written By:

यूं तो हमने आपको अब तक अपने अर्टिकल के जरिये आपको भारत के कई मंदिरों से रूबरू कराया है, आज इसी क्रम में हम आपको एक ऐसे मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां एक मुस्लिम महिला की पूजा की जाती है। ये मंदिर गुजरात में अहमदाबाद से तकरीबन 40 कीलोमीटर दूर झूलासन नाम के गांव में स्थित है। यहां हिंदू भक्त सालों से उनकी पूजा करते आए हैं और आज भी नवरात्रि के मौके पर यहां काफी भीड़ होती है।

कहां है यह मंदिर?

कहां है यह मंदिर?

यह मंदिर गुजरात के छोटे से गांव झूलासन में स्थिति है, जोकि अपनी इस असामान्य विशेषता के लिए प्रसिद्ध है। इस मंदिर डोला नामक एक मुस्लिम महिला की पूजा की जाती है , स्थानीय लोगो के उसे भगवान का एक रूप मानते हैं।

आखिर क्यों एक मुस्लिम महिला हिंदुयों के लिए बन गयी भगवान ?

आखिर क्यों एक मुस्लिम महिला हिंदुयों के लिए बन गयी भगवान ?

इससे जुड़ी कहानी 250 साल पहले की है जब कुछ उग्र लोगों ने झूलासन गांव पर हमला किया था। तब इस डोला नामक मुस्लिम महिला ने इन बदमाशों का बहादुरी के साथ मुकाबला किया। हालांकि वो इन बदमाशों के आगे ज्यादा टिक नहीं पाई और इस लड़ाई में मारी गई।

स्वीरों में देखें! कनाडा प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो की गुजरात यात्रा

महिला का शरीर बन गया था फूल

महिला का शरीर बन गया था फूल

प्रत्यक्षदर्शी बताते है कि मृत्यु के बाद महिला का शरीर तुरंत फूल में तब्दील हो गया। जिसके बाद इस निडर महिला को श्रद्धांजलि देने के लिए स्थानीय लोगों ने उस स्थान पर मंदिर का निर्माण करवाया, जहां डोला ने अंतिम सांस ली थी। तब से डोला माता की हर किसी के द्वारा पूजी जाने लगी और साथ ही कई लोग खासकर इस मुस्लिम महिला की पूजा करने के लिए इस गांव में आते है।

मंदिर में नहीं है कोई मूर्ति

मंदिर में नहीं है कोई मूर्ति

हालांकि मंदिर के अंदर डोला माता की कोई मूर्ति नहीं है, बल्कि आपको वहां साड़ी में लिपटा एक पत्थर नजर आएगा।

पूजा अर्चना को तरसता भारत का यह भव्य मंदिर

पहली महिला अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स का है यह गांव

पहली महिला अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स का है यह गांव

इसके अलावा, गुजरात के इस छोटे से गांव को पहली महिला अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स के मूल गांव के रूप में भी जाना जाता है। इस मंदिर ने उस वक्त अधिक प्रसिद्धि प्राप्त की जब सुनिता अपने पिता के साथ डोला माता देवी मंदिर के दर्शन करने आई। यहां कई लोग डोला माता से आशीर्वाद प्राप्त करने आते है क्यूंकि उनकी मान्यता है कि डोला माता उनकी इच्छाओं को पूरी करेगी।

250 साल पुराना है ये मंदिर

250 साल पुराना है ये मंदिर

250 साल पुराने डोला माता मंदिर की सार-संभाल बीजेपी नेता द्वारा की जाती है, जो कि इस मंदिर में पूजा करने आता है।

झूलासन गांव में एक भी नहीं मुस्लिम परिवार

झूलासन गांव में एक भी नहीं मुस्लिम परिवार

वहीं एक और हैरत की बात ये भी है कि इस झूलासन गांव में एक भी मुस्लिम परिवार नहीं है।

डॉलर देवी

डॉलर देवी

डोला देवी को डॉलर देवी भी कहा जाता है, क्योंकि गांव के अधिकतर लोग अमेरिका में बसे हुए हैं। 7-8 हजार लोगों वाले इस गांव के तकरीबन 2000 लोग अमेरिका में रहते हैं। इस गांव में पूरे साल ही भक्त विदेश जाने के लिए मन्नते मांगने आते हैं, जिन्हें डोला देवी पूरा भी करती है।

ये हैं अहमदाबाद के आसपास के खूबसूरत हिलस्टेशन

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स