Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »इस बार गोकर्ण बीच पर लें इन साहसिक एडवेंचर का आनंद

इस बार गोकर्ण बीच पर लें इन साहसिक एडवेंचर का आनंद

कर्नाटक स्थित गोकर्ण राज्य का एक धार्मिक नगर है जो मुख्यत: भगवान शिव को समर्पित महाबलेश्वर मंदिर के लिए जाना जाता है। यहां भोलेनाथ शिवलिंग के रूप में विराजमान हैं। इसके अलावा भी यहां बहुत से हिन्दू मंदिर मौजूद हैं। दूर-दूर से श्रद्धालु यहां अपनी ढेरों इच्छाओं के साथ पहुंचते हैं। यह तो थी गोकर्ण के धार्मिक पहलू की बात, आपको बता दें कि यह नगर अपने समुद्री तटों और विभिन्न एडवेंचर गतिविधियों के लिए भी जाना जाता है।

यहां स्थित गोकर्ण बीच दूर-दराज के सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित करने का काम करता है। यह का लंबा तट देशी-विदेशी पर्यटकों का पसंदीदा स्थल है। यहां की सफेद रेत और एक कतार से लगी हरी-भरी वनस्पतियां को मध्य पर्यटकों को आराम फरमाना बहुत ज्यादा पसंद है। इस लेख के माध्यम से जानिए आप यहां कौन-कौन सी रोमांचक गतिविधियों का आनंद ले सकते हैं।

सर्फिंग का रोमांचक आनंद

सर्फिंग का रोमांचक आनंद

गोकर्ण बीच दक्षिण भारत के सबसे खास समुद्री तटों में गिना जाता है, जहां पर्यटक प्राकृतिक नजारों के साथ-साथ एडवेंचर एक्टिविटी का आनंद लेने आते हैं। आप यहां सर्फिंग का रोमांचक अनुभव ले सकते हैं। क्योंकि यहां की लहरें सर्फस के लिए काफी फ्रेंडली मानी जाती हैं। अगर आप इस एडवेंचर के लिए तैयार नहीं हैं तो यहां ट्रेनिंग की भी व्यवस्था मौजूद हैं।

अनुभवी सर्फर्स की देखरेख में आपको ट्रेनिंग करने का मौका मिलेगा, जिसके बाद आप समुद्री की लरहों के साथ खेलने के लिए पूरी तरह तैयार हो जाएंगे। यहां सर्फर्स को हर तरह की सुविधाएं दी जाती हैं।

ट्रेकिंग के लिए खास

ट्रेकिंग के लिए खास

अबतक आपने जंगल क्षेत्रों में ही ट्रेकिंग के बारे में सुना होगा, लेकिन आपको बता दें कि आप गोकर्ण बीच के रेतीले मार्ग पर भी रोमांचक ट्रेकिंग का अनुभव ले सकते हैं। बालू पर पैदल दूर तक चलना आपके लिए शारीरिक रूप के काफी मददगार साबित होगा। ट्रेकिंग के दौरान आप यहां के कई आकर्षणों को देख सकते हैं। जिसमें हाफ मून, ओम बीच और डॉलफिन प्वाइंट आदि शामिल हैं। बीच पर चलते वक्त आप हरे-भरे पहाड़ और पेड़-पौधों का आनंद भी ले सकते हैं। ट्रेकिंग के दौरान आप यहां का मिरज़ान किला देखना न भूलें।

योगासन

योगासन

योगासन के लिए प्राकृतिक क्षेत्र काफी ज्यादा मायने रखते हैं, खुले स्थल पर आप प्राणायाम और बाकी शारीरिक कसरत बिना किसी एडजेस्टमेंट के आराम से कर सकते हैं। स्वाथ्य की बेहतरी के लिए प्रकृति से नजदीकी काफी फलदायक है। गोकर्ण बीच आपको यह मौका देता है कि आप कुदरत की खुली हवा में खुद को पूरी तरह रिफ्रेशिंग एहसास कराएं। यहां सुबह के दौरान कई कई तरह के योग क्लासेस कराए जाते हैं।

सूर्योदय और सूर्यास्त

सूर्योदय और सूर्यास्त

गोकर्ण समुद्री तट कई तरह के पर्यटन आकर्षण से भरा है, जहां आप विभिन्न एडवेंचर एक्टिविटी के साथ प्राकृतिक नजारों का लुत्फ भी उठा सकते हैं। अगर आप एकांत पसंद करते हैं तो यहां के सूर्योदय और सूर्यास्त का सुकून का एहसास जरूर लें। सुबह की पहली किरणें समुद्र को देवीय बनाने का काम करती हैं, इस दौरान यहां का नजारा देखने लायक होता है।

वहीं शाम होते होते यह समंदर एक रात के लिए शांत हो जाता है। शाम के दौरान यह समुद्री तट सूर्य की मंद रोशनी में अद्भुत रूप पेश करता है। अगर आप फोटोग्राफी के शौकीन हैं तो इन दृश्यों को अपने कैमरे में कैद कर सकते हैं।

कैसे करें प्रवेश

कैसे करें प्रवेश

गोकर्ण, कर्नाटक का एक प्रसिद्ध नगर है जहां आप परिवहन के तीनों साधनों की मदद से पहुचं सकते हैं। यहां का नजदीकी हवाईअड्डा डाबोलिम एयरपोर्ट है, रेल मार्ग के लिए आप गोकर्ण रोड रेलवे स्टेशन का सहारा ले सकते हैं। अगर आप चाहें तो यहां सड़क मार्ग से भी पहुंच सकते हैं, बेहतर सड़क मार्गों के गोकर्ण राज्य के बड़े शहरों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X