» »क्या आप जनते हैं, जम्मू-कश्मीर के खूबसूरत किलों को?

क्या आप जनते हैं, जम्मू-कश्मीर के खूबसूरत किलों को?

Written By: Goldi

जम्मू कश्मीर की वादियों से कौन वाकिफ नहीं है, लेकिन क्या आप यहां के खूबसूरत किलों से वाकिफ है, जो यहां के परिदृश्य को और भी खूबसूरत बना देते हैं।

जम्मू कश्मीर के ये प्राचीन और ऐतिहासिक किले प्राकृतिक सुंदरता के बीच स्थित हैं। बर्फ से ढके उंचे पहाड़,हरे भरे पहाड़, इन जगहों को एक अलग ही रूप देते हैं।

किसी में भूत और आत्माएं तो कहीं कभी नहीं आ सका दुश्मन ऐसे हैं भारत के ये 30 किले

यहां का हर किला महल उस जगह की विशिष्ट सांस्कृतिक विरासत को दर्शाता हैं।इस लेख में हम आपको जम्मू कश्मीर के कुछ खूबसूरत किलों से रूबरू कराने जा रहे हैं।

बाहू किला

बाहू किला

राजपूत राजा,बाहू लोचन ने इस ऐतिहासिक किले का निर्माण लगभग 3000 साल पहले किया था। यह प्रतिष्ठित किला जम्मू के महान चमत्कारों में से एक है। डोगरा राजवंश द्वारा कई बार बहाल और पुर्नोत्थान किया, बाहू किला जम्मू शहर की तरफ तावी नदी पर स्थित है और इसके पास में खूबसूरत झरनों को देखा जा सकते हैं। किले की सीढ़ियों को रंगीन और जीवंत फूलों से सजाया गया है। पर्यटक इस किले में प्राचीन मंदिर बाहू मंदिर भी देख सकते हैं, जो किले के अंदर स्थित है।Pc: Nvvchar

चिकतन किला

चिकतन किला

जम्मू कश्मीर के कारगिल जिले के चिकतन गांव में स्थित चिकतन किला चिकतन खार के नाम से भी प्रसिद्ध है। चिकतन किले का निर्माण 16वीं शताब्‍दी में हुआ था। ये ऐतिहासिक किला युद्धों में हिस्‍सा लेने वाले योद्धाओं की शक्‍ति और एकता का प्रतीक है। आज यह किले अपनी जर्जर अवस्था में है, लेकिन यह किला अपने समय में काफू खूबसूरत था। इंदु नदी के किनारे स्थित यह किला पहाड़ो से घिरा हुआ है।Pc:officialy page

भीमगढ़ किला

भीमगढ़ किला

रियाशी किले के नाम से प्रसिद्ध भीमगढ़ किला जम्मू कश्मीर के उत्तर पश्चीम भाग में स्थित है। इस जगह का इस्तेमाल डोगरा शासकों ने आपातकाल के दौरान किया गया था। इस किले का निर्माण महाराजा गुलाब सिंह ने पत्थरों से कराया था, इस किले को बनने में करीबन 30 वर्षो से अधिक का वक्त लगा था। इस किले का द्वार राजस्थान राजस्थानी नक्काशी के साथ सजा हुआ है, यहां पर भगवान हनुमान और देवी महाकाली की एक विशाल मूर्ति है। किले में एक मंदिर, एक तालाब और कई कमरे हैं।Pc:Shubham Sharma

रामनगर किला

रामनगर किला

पुराना महल के नाम से प्रसिद्ध रामनगर किला राजा सुचेत सिंह द्वारा वर्ष 1844 में बनवाया गया था।यह किला शीश महल के पास स्थित है,जोकि सती पूजा के लिए विख्यात है, जहां राजा की पत्नी सटी हुईं थी

समुद्र स्तर से 828 मीटर की ऊंचाई पर स्थित प् इस किले इन ऊंचाई पर चढ़कर आप दूर दूर तक फैली हुई हरियाली को देख सकते हैं। पर्यटक इस किले की दीवारों पर लकड़ी की छत और पुष्प डिजाइन और प्लास्टर पेंट से सजाए गए दीवारों को देख सकते हैं। इस किले तक पहुंचने के लिए आपको संकीर्ण पुल से होकर जाना होगा।

Pc:Malikbek

जसमेरगढ़ किला

जसमेरगढ़ किला

हिराणगर के इस प्राचीन किला में आप राजपूत शासन के जस्रोत्ता कबीले के महान इतिहास को देख और जान सकते हैं। हिरनगर शहर की उत्तर-पश्चिम दिशा में समुद्र तल से 308 मीटर की ऊंचाई पर सीमा सड़क पर भारत-पाकिस्तान सीमा की ओर स्थित है। कहा जाता है कि डोगरा साम्राज्य के राजा ध्यान राजा के बेटे राजा हिरा सिंह, के हाथ में जब सत्ता आई थी,तब उन्होंने इस किले का निर्माण किया था। राजा हिरा सिंह इस ऐतिहासिक किले में रहे और 1 9 47 में हीनगर शहर का नाम उसके नाम पर रखा गया।

हरी पर्बत किला

हरी पर्बत किला

श्रीनगर के डल झील के पश्चिम में हरि पर्वत किला स्थित है। इस किले को एक अफगान गर्वनर मुहम्‍मद खान ने 18 वीं सदी में बनवाया था। इसके बाद 1590 ई. में महान मुगल सम्राट अकबर ने इस किले के चारों ओर की दीवारों का निर्माण करवाया था।

इस जगह की यात्रा व सैर के लिए पर्यटकों को इस विभाग से अनुमति लेनी पड़ती है। हरि पर्वत किले के पास कई अन्‍य मुख्‍य आकर्षण जैसे - लाल मंडी स्‍क्‍वायर और शारिका देवी मंदिर भी स्थित हैं।Pc:Shibnaths2

 
Please Wait while comments are loading...