India
Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »विरासतों की पूँजी औरंगाबाद

विरासतों की पूँजी औरंगाबाद

By Khushnuma

महाराष्ट्र का ऐतिहासिक शहर औरंगाबाद अपने आपमें ख़ास है। प्राचीन में यह शहर फतेहपुर के नाम से जाना जाता था क्यूंकि इस शहर का नाम मलिक अम्बर के बेटे फतेहखान ने रखा था। जब इस शहर पर औरंगज़ेब ने विजय पाई तो इसका नाम औरंगाबाद रख दिया। इस शहर का इतिहास बड़ा ही दिलचस्प है। अगर इस शहर के इतिहास के बारे में आप जानना चाहते हैं तो यहाँ ज़रूर आएं। क्यूंकि जितनी खूबसूरत यहाँ की इमारतें हैं उतना ही दिलचस्प इसका इतिहास है।

तो क्यों न इस वेकेशन महाराष्ट्र के इस ऐतिहासिक शहर की सैर की जाए। जहाँ के दर्शनीय स्थल आपके दिल को जीत लेंगे। औरंगाबाद के दर्शनीय स्थल जहाँ पहुँचके आप इसे भूल नहीं पाएंगे- बीवी का मक़बरा, अद्भुत गुफाएं, पनचक्की, सिध्दार्थ उधान, विश्वविधालय संग्राहलय, हिमायत बाग़, माताश्री कौशल्या पुरवार संग्राहलय, आर्ट गैलरी, खुलदाबाद, म्हैसमाल, पैठण, एलोरा की गुफाएं, घृष्णेश्वर मंदिर, अजंता की गुफाएं, पीतलखोरा गुफाएं आदि।
लॉन्ग वीकेंड सैर करें आमची मुंबई

बीवी का मक़बरा

बीवी का मक़बरा

औरंगाबाद का बीबी का मक़बरा 'दक्षिण का ताज' कहा जाता है। इसे औरंगज़ेब के बेटे ने बनवाया था अपनी माँ रज़िया बेगम के लिए। यह ऐतिहासिक मक़बरा मुग़ल व फ़ारसी कलात्मक शैली का जीता जगता उदाहरण है। इस मकबरे के पास बेहद आकर्षक बाग़ बगीचे हैं। जिनमे रंग बिरंगे फूल, तालाब, फव्वारे आदि दर्शनीय हैं।

Image Courtesy:Aur Rang Abad

अद्भुत गुफाएं

अद्भुत गुफाएं

अद्भुत गुफाएं बेहद आकर्षक स्थल हैं जो औरंगाबाद के दर्शनीय स्थलों में से एक हैं। पहाड़ियों को तराशकर ये गुफाएं बनाई गई हैं। इन गुफाओं के बारे में कहा जाता है कि यह गुफाएं 1600 साल पुरानी हैं।

Image Courtesy:Saniyunus

पनचक्की

पनचक्की

पनचक्की औरंगाबाद के दर्शनीय स्थलों में से एक है। इस चक्की को मलिक अम्बर ने बनवाया था जो आज भी चालू हालत में है।

Image Courtesy:Magnus Manske

सिध्दार्थ उधान

सिध्दार्थ उधान

सिध्दार्थ उधान औरंगाबाद का एक बहुत बड़ा उधान है जहाँ आप हरे भरे बगीचे, झूले, भूल-भुलैया, संगीतमय फव्वारे, मिनी ट्रेन तथा अप्पू हाथी आदि का लुफ्त उठा सकते हैं। इस उधान को 'मिनी अप्पू घर' भी कहा जाता है।

Image Courtesy:Nathan Hughes Hamilton

विश्वविधालयय संग्राहल

विश्वविधालयय संग्राहल

विश्वविधालयय संग्राहल में आप औरंगाबाद के अतीत से जुडी कई सामग्रियों को देख सकते हैं। इस संग्राहलय में दुर्लभ वस्तुएं 17 वीं 18 वीं शताब्दी की अरबी भाषाओँ की पांडुलिपियां आदि दर्शनीय हैं।

Image Courtesy:Drnsreedhar1959

हिमायत बाग

हिमायत बाग


औरंगाबाद के दर्शनीय स्थलों में हिमायत बाग भी आता है। जो अपनी सुंदरता से पर्यकों को दूर से लुभाता रहता है। यह बाग बेहद आकर्षक पिकनिक स्थल है।

Image Courtesy:IXU79

माताश्री कौशल्या पुरवार संग्राहलय

माताश्री कौशल्या पुरवार संग्राहलय


माताश्री कौशल्या पुरवार संग्राहलय में औरंगाबाद के ऐतिहासिक, सांस्कृतिक धरोहर के रूप में नायाब व दुर्लभ निशानियाँ राखी हुई हैं। इस संग्राहलय में बहुत कुछ ख़ास है जो अन्य संग्राहलयों में नहीं।

Image Courtesy:Niks887

आर्ट गैलरी

आर्ट गैलरी


इस आर्ट गैलेरी में आप अन्य कलाओं को देख सकते हैं अगर आप कला व कलाकृति में दिलचस्पी रखते हैं तो यहाँ अवश्य आएं।

Image Courtesy:Hekerui

दौलताबाद का किला

दौलताबाद का किला

दौलताबाद का किला औरंगाबाद के आकर्षण स्थलों में से एक है। दिल्ली के सुलतान अहमद बिन तुगलक ने जब इसे अपनी राजधानी बनाया था तब इसका नाम दौलताबाद रखा था।

Image Courtesy:Nilesh.shintre

खुलदाबाद

खुलदाबाद

खुलदाबाद एक छोटा सा गांव है जो अपने आकर्षणों के कारण पर्यटकों का लोकप्रिय है। आप यहाँ औरंगज़ेब की मज़ार, जैनुद्दीन शैराजी का मक़बरा, हनुमान मन्दिर 'भद्र मारूति', हनुमान की प्रतिमा आदि को देख सकते हैं।

Image Courtesy:Tervlugt

म्हैसमाल

म्हैसमाल


म्हैसमाल अपने प्राकृतिक सौंदर्य के कारण पर्यटकों को लुभाता रहता है। यहाँ पूरे साल मौसम ठंडा रहता है। यहाँ से आप सूर्योदय और सूर्यास्त का अद्भुत नज़ारा देख सकते हैं।

Image Courtesy:Little Egret

पैठण

पैठण


पैठण को संतों की भूमि कहा जाता है। यह एक व्यापारिक स्थल भी है जो घूमने की दृष्टि से अच्छा है। आप यहाँ बहुत कुछ खरीद सकते हैं।

Image Courtesy:Benjamin Preciado

एलोरा की गुफाएं

एलोरा की गुफाएं


ये भव्य गुफाएं अपनी शिल्पकला, स्थापत्य कला और अपने आकर्षक दृश्यों के कारण विश्वभर में प्रसिध्द है। इन गुफाओं को चट्टानें काटकर बनाया गया है। यहाँ आप अद्भुत मूर्तियों को देख सकते हैं। जिन्हें देख आप आश्चर्यचकित रह जायेंगे।

Image Courtesy:Giles Clark

घृष्णेश्वर मंदिर

घृष्णेश्वर मंदिर

घृष्णेश्वर मंदिर बारह ज्योर्तिलिंगों में से एक है। इस मंदिर को राजा कृष्ण देव ने बनवाया था। यह स्थल धार्मिक आस्था के कारण बेहद लोकप्रिय है।

Image Courtesy:Ankur P

अजंता की गुफाएं

अजंता की गुफाएं


औरंगाबाद के मुख्य आकर्षणों में से एक हैं अजंता की गुफाएं जो अपने कलात्मक मूर्तियों, अद्भुत नक्काशियों, भित्तचित्रों आदि के लिए विश्व प्रसिद्ध हैं। इन गुफाओं को चट्टानें तराशकर बनाया गया है। यह कलात्मक शैली का जीता जागता उदाहरण है।

Image Courtesy:Rashmi.parab

पीतलखोरा गुफाएं

पीतलखोरा गुफाएं


पीतलखोरा गुफाएं अपनी अद्भुत नक्काशियों के कारण विश्व प्रसिध्द है। इन गुफाओं के पास एक अभ्यारण भी है जिसमे आप अनेकों जीव-जंतुओं को देख सकते हैं।

Image Courtesy:Dey.sandip

कैसे जाएँ

कैसे जाएँ

वायु मार्ग द्वारा- औरंगाबाद में एक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है जो देश के सभी प्रमुख शहरों और राज्यों से जुड़ा हुआ है।

रेल मार्ग द्वारा- यहां से 120 किमी. दूर रेलवे स्‍टेशन है जिसे मनमाद रेलवे स्‍टेशन कहा जाता है। यहां से औरंगाबाद तक 900 रू. में प्राइवेट टैक्‍सी से पहुंचा जा सकता है।

सड़क मार्ग द्वारा- बस से आने वाले यात्री राज्‍य के किसी भी शहर से कम दाम में औरंगाबाद यानि सिटी ऑफ गेट तक आ सकते है। शहर में भ्रमण करने के लिए भी कई बसें चलती है जो पर्यटकों को पूरे शहर में घूमा सकती है।

Image Courtesy:Leon Yaakov

कब जाएँ

कब जाएँ


औरंगाबाद की जलवायु बहुत अच्छी है जिस कारण किसी भी मौसम में व्यक्ति यहां जा सकता है।

Image Courtesy:Giles Clark

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X