Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »अद्भुत : इस शहर की खास मसाज के दीवाने हुए सैलानी

अद्भुत : इस शहर की खास मसाज के दीवाने हुए सैलानी

कोवलम, केरल के तिरुवनंतपुरम जिले का एक खूबसूरत पर्यटन स्थल है, जो अपने आकर्षक समुद्री तटों व खासकर नारियल-ताड़ के वृक्षों के लिए प्रसिद्ध है। कोवलम शब्द का अर्थ होता है 'नारियल के पेड़ों का समूह', इसलिए इस स्थल का नाम कोवलम पड़ा। कोवलम शुरू से ही अपने आरामदायक आश्रय के लिए जाना जाता रहा है, यही वजह है कि यहां अब सैलानियों का आवागमन तेजी से बढ़ना शुरू हुआ है।

आत्मिक व मानसिक शांति के खोजी यहां अब ज्यादा आना पसंद कर रहे हैं। इसलिए सैलानियों को बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के लिए कोवलम एक आकर्षक आयुर्वेदिक मसाज हब बनकर उभरा है।

आयुर्वेद पर्यटन के लिए प्रसिद्ध कोवलम

आयुर्वेद पर्यटन के लिए प्रसिद्ध कोवलम

अपनी प्राकृतिक खूबसूरती के लिए प्रसिद्ध यह तटीय स्थल अब एक प्रसिद्ध आयुर्वेदिक हब बन गया है। जहां की आरामदायक मसाज का आनंद लेने के लिए सैलानी देश-दुनिया से आते हैं। यहां बेहतर आयुर्वेद पद्धती के द्वारा मसाज की जाती है। जिनमें खास जड़ी-बूटियों के साथ नारियल के तेल का प्रयोग किया जाता है। लेकिन यहां अगर आप आएं तो उन्हीं मसाज सेंटर्स में जाएं तो सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त हैं। इससे आपके ज्यादा पैसे बर्बाद नहीं होगें और आपको अच्छी सुविधा की गारंटी मिलेगी। यहां कई ऐसे आयुर्वेद केंद्र खुल गए हैं जो यहां आने वाले पर्यटकों को काफी भा रहे हैं।

एक परफेक्ट मसाज प्रक्रिया

एक परफेक्ट मसाज प्रक्रिया

PC- Fabrice Florin

आयुर्वेद की बेहतर पद्धती के द्वारा यहां मसाज की जाती है। जो न सिर्फ आराम बल्कि शारीरिक रोगों के निवारण के लिए भी खास मानी जाती है। यहां की जाने वाली मसाज हड्डी संबंधी रोगों के लिए काफी फायदेमंद है। मसाज के लिए बेहतर आयुर्वेदिक दवाओं का इस्तेमाल किया जाता है। जिसके लिए अलग-अलग कीमतें निर्धारित की गई हैं। यहां आपको कम से कम 300 रूपए से लेकर 6000 तक घंटे के हिसाब से मसाज मुहैया कराई जाएगी। जिसके लिए अलग-अलग पैकेज बनाए गए हैं। अगर आप सिर्फ नॉर्मल मसाज चाहते हैं तो आपको कम पैसे देने होंगे जबकि मसाज के साथ जुड़ी अन्य थेरेपी के लिए आपको थोड़ा ज्यादा भुगतान करना पड़ेगा ।

पर्यटन के लिहाज के खास गंतव्य

पर्यटन के लिहाज के खास गंतव्य

PC- techbreeze

कोवलम केरल के खास पर्यटन गंतव्यों में आता है, जहां आप शानदार वक्त दोस्तों व परिवार के साथ बिता सकते हैं। यहां के समुद्री तट सैलानियों के मध्य काफी लोकप्रिय हैं। जहां आप वाटर एडवेंचर का रोमांचक अनुभव भी ले सकते हैं। जिनमें काइट बोटिंग और काइटसर्फिंग खास हैं। छुट्टियां बिताने के लिहाज से सैलानी यहां ज्यादा आना पसंद करते हैं। आकर्षक तटों के बीच यहां का नजारा देखने लायक होता है। यहां आपको हर जगह नारियल के वृक्ष दिख जाएंगे, जो इस स्थल को खास बनाने का काम करते हैं। शाम के वक्त यहां समुद्री हवाओं के साथ सैर-सपाटा करना मनोरम एहसास दिलाता है।

घूमने लायक दर्शनीय स्थल

घूमने लायक दर्शनीय स्थल

PC- Silver Blue

कोवलम में आप अन्य दर्शनीय स्थलों की सैर का आनंद ले सकते हैं। आप कोवलम की वेली पहाड़ियों पर स्थित पद्मनाभस्वामी महल देख सकते हैं। जो अपनी अद्भुत नक्काशी व वास्तुकला के लिए जाना जाता है। इसके अलावा आप शंकुमुघम बीच की सैर कर सकते हैं। जहां का सूर्यास्त और सूर्योदय देखने के लिए पर्यटकों का जमावड़ा लगता है। आप यहां का विहिन्जम लाइटहाउस देख सकते हैं। इसके अलावा वरकला बीच, पद्मनाभस्वामी मंदिर, वेली लगून, श्री चित्र आर्ट गैलरी भी देख सकते हैं।

 कैसे करें प्रवेश

कैसे करें प्रवेश

PC- David Berkowitz

केरल रेल व हवाई मार्गों द्वारा भारत के कई बड़े शहरों से जुड़ा हुआ है। यहां पहुंचने के लिए आप सुविधा अनुसार किसी भी मार्ग का चयन कर सकते हैं। कोवलम से नजदीकी रेलवे स्टेशन तिरुवनंतपुरम है जो लगभग 16 किमी के फासले पर स्थित है। हवाई मार्ग के लिए आप 'त्रिवेंद्रम अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे' का सहारा ले सकते हैं। आप चाहें तो सड़क मार्ग से भी यहां तक पहुंच सकते हैं। केरल राष्ट्रीय राजमार्गों द्वारा दक्षिण भारत के कई बडे़ शहरों से जुड़ा हुआ है।

अन्य घूमने लायक स्थल - पेरियार नेशनल पार्क

अन्य घूमने लायक स्थल - पेरियार नेशनल पार्क

PC- Jean-Pierre Dalbéra

केरल स्थित पेरियार नेशनल पार्क भारत के प्रमुख राष्ट्रीय उद्यानों में से एक है। जो अपने हाथी रिजर्व और बाघ अभयारण्य के लिए जाना जाता है। यह उद्यान लगभग 925 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला हुआ है। जिसे 1982 में एक राष्ट्रीय उद्यान का दर्जा दिया गया । पेरियार राष्ट्रीय उद्यान यहां की इलायची हिल्स के पहाड़ी क्षेत्र के बीच बसा है। यह उद्यान कई जीव -वनस्पतियों का निवास स्थान है। जहां लगभग 35 स्थनधारी जीवों की प्रजातियां हैं। हाथी व बाघों के बाद यहां सांभर, गौर, जंगली सुअर, बडे़ आकार की गिलहरी, जंगली बिल्ली, लंगूर आदि को देखा जा सकता है। साथ ही यह उद्यान 265 पक्षी प्रजातियों का घर भी है।

कोच्चि शहर

कोच्चि शहर

PC- www.david baxendale.com

कोच्चि केरल का एक प्रमुख पर्यटन शहर है। जहां की समुद्री आबोहवा का आनंद उठाने के लिए देश-दुनिया से सैलानी यहां तक का सफर तय करते हैं। बता दें कि कोच्चि को 'पूर्व का वेनिस' कहा जाता है। यह स्थल पहले कोचीन के नाम से जाना जाता था, जहां कभी पुर्तगाली आए थे। यहां 1510 में पुर्तगालियों द्वारा बनाया गया एक सेंट फ्रांसिस चर्च भी है, जो भारत के प्रमुख प्राचीन गिरजाघरों में गिना जाता है। पर्यटन के लिहाज से यह एक खास गंतव्य है, जहां आप दक्षिण भारतीय व्यंजनों के साथ सी-फूड्स का लुत्फ उठा सकते हैं।

Ashtamudi

Ashtamudi

PC- Kerala Tourism

उपरोक्त स्थलों की सैर की बाद अगर आप चाहें तो केरल के अष्टमुडी झील की सैर का आनंद उठा सकते हैं। इस खूबसूरत झील का नाम इसके आठ कोनों की वजह से पड़ा है। झील के किनारों में नारियल व ताड़ के पेड़ों की भरमार है, जो इसे एक खूबसूरत रूप प्रदान करते हैं। आप यहां दोस्तों या परिवार के साथ क्वालिटी टाइम स्पेंड कर सकते हैं। झील भ्रमण के लिए नौका-विहार की सुविधा उपलब्ध है। आप यहां हाउसबोट की सेवा का आनंद उठा सकते हैं। प्राकृतिक खूबसूरती को करीब से निहारने का यह सबसे अच्छा विकल्प है।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X