» »कुल्लू की वादियों में ले मजा भृगु ट्रेक का

कुल्लू की वादियों में ले मजा भृगु ट्रेक का

Written By: Goldi

भृगु ट्रेक कुल्लू घाटी में स्थित है। जिसे रोहतांग पास से होते हुए आसानी से पूरा किया जा सकता है। यह ट्रेकिंग 26 किमी की है जिसे चार से पांच दिन में पूरा किया जा सकता है। इस ट्रेकिंग की शुरुआत गुलाबा से होती है जोकि मनाली से 22 किमी की दूरी पर स्थित है। गुलाबा समुद्र तल से लगभग 8,500 फीट ऊपर है,इस ट्रेकिंग के दौरान आप हिमाचल की खूबसूरत वादियों के मनोरम नजारों से रूबरू होंगे। इस ट्रेकिंग के दौरान आप गोवरीशंकर मंदिर, त्रिपुरा सुंदरी मंदिर आदि के दर्शन भी कर सकते हैं।

आप ट्रेकिंग के दौरान भृगु झील के खूबसूरत नजारे भी देख सकते हैं। यह ट्रेकिंग थोड़ी सी खतरनाक भी है क्यों की आपको ट्रेकिंग के दौरान कहीं खड़ी चड़ाई करनी होगी, तो कहीं घुमावदार पहाड़ियों पर चलना होगा।जैसे जैसे आप ऊपर पहुंचेंगे आपको हिमाचल के उतने ही खूबसूरत नजारे नजर आयेंगे।

क्षेत्र: - हिमाचल
अवधि: - 4 दिन
ग्रेड: - आसान
अधिकतम ऊंचाई: - 14,000 फीट
अनुमानित ट्रेकिंग कि.मी .: - 26 किलोमीटर

पहला दिन-मनाली से गुलाबा शिविर

पहला दिन-मनाली से गुलाबा शिविर

पहले दिन ट्रेकर्स मनाली पहुँचने के बाद जीप या कार से गुलाबा पहुंच सकते हैं...गुलाबा मनाली से 22 किमी की दूरी पर स्थित है इस दूरी को 1 घंटे में पूरा किया जा सकता है। दोपहर तक गुलाबा पहुँचने के बाद ट्रेकर्स गुलाबा शिविर तक की ट्रेकिंग शुरू कर सकते हैं, जोकि तीन किमी है। गुलाबा शिविर पहुँचने के बाद ट्रेकर्स कैम्प में आराम कर सकते हैं।

दूसरा दिन- गुलाबा से रोला खोली

दूसरा दिन- गुलाबा से रोला खोली

ट्रेकिंग- 7 घंटे
समय- 5 घंटे
दूसरे दिन की ट्रेकिंग में डेढ़ घंटे करीबन एक खड़ी चढ़ाई होगी, जोकि घने जंगलो से होकर गुजरती है। उसके बाद पहाड़ी चढ़ाई है...ट्रेकर्स दोपहर तक रोला खोली पहुंच सकते हैं..जिसके बाद वहां कैम्प लगाकर आराम कर सकते हैं। रोला खोली पहुँचने के बाद ट्रेकर्स हनुमान टिब्बा और सात पहाड़ियों की चोटी को भी निहार सकते हैं।

तीसरा दिन-रोला खोली को भृगु झील तक पांडु रोपा

तीसरा दिन-रोला खोली को भृगु झील तक पांडु रोपा

ऊंचाई: भूगू झील 14,000 फीट,पांडु रोपा 11,800 फीट पर
ट्रेकिंग 10 किमी ट्रेक,
समय लगभग 8 घंटे
अगले दिन की ट्रेकिंग की शुरुआत नाश्ता करने के बाद रोला खोली से भृगु झील की होती है...भृगु झील तक 4 किमी तक चड़ाई है..यह एन अंडाकार झील है जो अमूमन पूरे साल ही ही जमी रहती है।भृगु झील में कुछ देर घूमने फिरने के बाद ट्रेकर्स आगे पांडू रापा की ट्रेकिंग शुरू कर सकते हैं...यह ट्रेकिंग पूरा होने में करीब 6 घंटे का समय लगता है। पांडू रोपा पहुँचने पर ट्रेकर्स यहां खाना खाकर कैम्प में आराम कर सकते हैं।

चौथा दिन- पांडू रोपा से वसिष्ठ-मनाली

चौथा दिन- पांडू रोपा से वसिष्ठ-मनाली

ऊंचाई: 6,900 फीट पर वशिष्ठ और मनाली में 6,700 फीट
ट्रेकिंग-8 किमी
समय- लगभग 7 घंटे
चौथे दिन की ट्रेकिंग की शुरुआत होती है पांडू रोपा से जो चावलों के खेतो और सेबो के बगीचों से होते हुए वसिष्ठ में जाकर खत्म होती है। वसिष्ठ में गर्म पानी के कुंड भी है, जहां ट्रेकर्स चाहे तो स्नान भी कर सकते हैं...वसिष्ठ में थोड़ा आराम करने के बाद ट्रेकर्स मनाली के लिए रवाना हो सकते हैं। वसिष्ठ से मनाली तक पहुँचने में करीब 30 मिनट का समय लगता है।

कैसे पहुंचे

कैसे पहुंचे

हवाईजहाज से
मनाली का नजदीकी एयरपोर्ट भुंतर,जोकि मनाली से 52 किमी की दूरी पर स्थित है। पर्यटक भुंतर से टैक्सी या बस से मनाली पहुंच सकते हैं। इस एयरपोर्ट से दिल्ली व् अन्य जगहों के लिए हवाई सेवा उपलब्ध है।

सड़क द्वारा

दिल्ली से मनाली आईएसबीटी से आसानी से पहुंच सकते हैं, यहां से मनाली की बसें हर आधा घंटे पर उपलब्ध रहती हैं। दिल्ली से वोलवो की निजी बसें सुबह 5 बजे से 6 बजे के बीच दिल्ली छोड़ती हैं। अंतिम सरकारी बस आईएसबीटी कश्मीरी गेट से 8.30 बजे प्रस्थान करते हैं।

ट्रेकिंग के दौरान जरूरी चीजे

ट्रेकिंग के दौरान जरूरी चीजे

कॉटन मोज़े
ऊनी मोज़े
दो जोड़ी जूते
बैग पैक
ट्रैक पेंट
टोर्च लाइट
जैकेट
सनग्लास
कैप
सन्सक्रीम
ऊनी दस्ताने
वाल्किंग स्टिक

Please Wait while comments are loading...