• Follow NativePlanet
Share
» »चेन्नई से कर्नाटक की सांस्‍कृतिक राजधानी मैसूर का सफर

चेन्नई से कर्नाटक की सांस्‍कृतिक राजधानी मैसूर का सफर

Posted By: Namrata Shatsri

 कर्नाटक स्थित पर्यटन स्थल 'मैसूर' सालभर देश-दुनिया से आए सैलानियों से भरा रहता है। यह ऐतिहासिक स्थल हिंदू श्रद्धालुओं से लेकर एडवेंचर के शौकिनों के मध्य काफी लोकप्रिय है। बता दें कि कर्नाटक की सांस्कृतिक राजधानी 'मैसूर' अपने प्राचीन महलों व उत्‍कृष्‍ट कला के लिए विश्व भर में जाना जाता है। यह शहर अपने स्‍वीट डिश 'मैसूर पाक' और यहां बनने वाली सैंडल के लिए भी काफी प्रसिद्ध है। ये प्राचीन शहर दक्षिण भारत का दिल कहलाता है। दक्षिण भारत घूमने आए पर्यटक 'मैसूर' जाना ज्यादा पसंद करते हैं। बता दें कि यह शहर, भारत के सबसे स्वच्छ शहरों में गिना जाता है।

दक्षिण भारत के 10 सुप्रसिद्ध तीर्थस्‍थल

मैसूर आने का सही समय

मैसूर आने का सही समय

मैसूर का मौसम पूरी तरह से सवाना उष्णकटिबंधीय है। यहां सालभर मौसम सुहावना रहता है, हालांकि ग्रीष्मकाल के दौरान यहां अधिक गर्मी पड़ती है। अच्छा होगा आप सितंबर से मार्च के बीच यहां आने का प्लान बनाएं, क्‍योंकि इस दौरान मौसम बहुत खुशनुमा रहता है, और पर्यटक इस बीच आराम से घूम सकते हैं।Pc: Amitra Kar

चेन्नई से मैसूर कैसे पहुंचे

चेन्नई से मैसूर कैसे पहुंचे

वायु मार्ग द्वारा : चेन्नई से मैसूर के लिए सीधी फ्लाइट ले सकते हैं।

रेल मार्ग द्वारा : मैसुरू, चेन्नई से रेल मार्ग द्वारा जुड़ा हुआ है। चेन्नई स्‍टेशन से मैसूर के लिए ट्रेन ले सकते हैं। इसमें आपको 8 घंटे का समय लगेगा।

सड़क मार्ग द्वारा : चेन्नई से मैसुरू 480 किमी दूर है। चेन्नई के अलावा अन्‍य शहरों से मैसूर सड़क मार्ग द्वारा अच्‍छी तरह से जुड़ा हुआ है। चेन्नई से मैसुरू के लिए आप कैब भी ले सकते हैं या । चेन्नई से मैसूर के लिए सीधी बसें भी चलती हैं।

अगर आप अपने वाहन से जाने की सोच रहे हैं तो इन रूटों से जा सकते हैं :

पहला रूट : चेन्नई - कांचीपुरम - वेल्‍लोर - बैंगलोर -मैसूर

दूसरा रूट : चेन्नई - तिंदिवनम - कृष्‍णागिरि ‘ बैंगलोर - मैसूर

तीसरा रूट : चेन्नई - कांचीपुरम - चित्तूर - बैंगलोर -मैसूर

हालांकि, पहला रूट छोटा और सुविधाजनक है और अगर आप कम समय में पुहंचना चाहते हैं तो पहला रूट ही लें। मैसूर के सफर में रास्‍ते में आप और भी कई जगहें देख सकते हैं।

कांचीपुरम

कांचीपुरम

वेगावथी नदी के तट पर बसा कांचीपुरम अपने प्राचीन मंदिरों और मंदिरों की दीवारों पर की गई उत्‍कृष्‍ट नक्‍काशी और वास्‍तुकला के लिए प्रसिद्ध है। सभी जानते हैं कि इसके अलाव कांचीपुरम अपनी सिल्‍क की साडियों के लिए भी दुनियाभर में मशहूर है। सदियों से इस गर शहर का धार्मिक महत्‍व कम नहीं हुआ है। आज भी यहां बड़ी संख्‍या में पर्यटक घूमने आते हैं। अगर मैसूर के सफर में कांचीपुरम रूकते हैं तो आपकी धार्मिक यात्रा भी हो जाएगी।Pc: Richard Mortel

वेल्‍लोर

वेल्‍लोर

तमिलनाडु का सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्‍थल है वेल्‍लोर जोकि अपने प्राचीन ऐतिहासिक सौंदर्य के लिए मशहूर है। इतिहास प्रेमियों और श्रद्धालुओं के अलावा ये जगह कैंपर्स और प्रकृति प्रेमियो को भी बहुत पसंद है। इस शहर के एक ओर आप इसके मंदिर और प्राचीन इमारतों को देख सकते हैं, वहीं दूसरी आर येलागिरी पर्वत का सौंदर्य आपको मंत्रमुग्ध कर देगा। पिछले कुछ सालों में येल्‍लोर ने सभी तरह के पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित किया है।Pc:Soham Banerjee

बैंगलोर

बैंगलोर

भारत की सिलिकॉन घाटी और गार्डन सिटी के नाम से मशहूर बैंगलोर में बहुत कुछ देखने लायक है। ये शहर पर्यटकों के बीच बहुत लोकप्रिय है। भारत के इस हाई टेक शहर में आपको कई खूबसूरत बिल्‍डिंगें देखने को मिल जाएंगी। साथ ही इस शहर में कई खूबसूरत गार्डन भी हैं। यहां हर पल आपको कुछ नया देखने को मिलेगा। ये शहर कई बहुराष्ट्रीय कंपनियों का हब है। पिछले कुछ सालों में बैगलोर भारत में काफी उभर रहा है।Pc:Bikashrd

मैसूर महल

मैसूर महल

मैसूर में मैसूर महल भी देख सकते हैं जोकि आज भी वोडेयार राजवंश के सदस्‍यों का आधिकारिक आवास है। इस महल को 1897-1912 के बीच इंडो-सारासेनिक शैली में ब्रिटिश आर्किटेक्‍ट हेनरी ईर्विन के नेतृतव में बनवाया गया था। इस महल में चौकोर आकार के खंभे और दरबार हॉल में नक्‍काशी किए गए स्‍तंभ हैं। इस शानदार महल को देखने के लिए हज़ारों पर्यटक यहां आते हैं। अगर आप देश के समृद्ध इतिहास और संस्‍कृति को जानना चाहते हैं तो यहां आ सकते हैं। महल की दीवारों पर की गई खूबसूरत नक्‍काशी आपको अचंभित कर देगी।

Pc: Ramnath Bhat

ललिता महल

ललिता महल

चामुंडी हिल्‍स की तलहटी में बसा ललिता महल दूसरा सबसे बड़ा महल है और इसे वाडियार राजवंश के दौरान सन् 1921 में बनवाया गया था। इसके खूबसूरत आकर्षक को देखने के लिए हर महीने हज़ारों की संख्‍या में पर्यटक यहां आते हैं। प्राचीन वास्‍तुकला और आधुनिक डिज़ाइन का ये उत्‍कृष्‍ट उदाहरण है। आज ये महल वीवीआईपी के‍ लिए फाइव स्‍टार होटल में तब्‍दील कर दिया गया है, हालांकि अब भी आम नागरिक इसे देखने आ सकते हैं।Pc: Sreeraj PS

चामुंडी हिल्स

चामुंडी हिल्स

चामुंडी हिल्स के खूबसूरत वातावरण के बीच चामुंडेश्‍वरी मंदिर भी स्‍थापित है। ये प्राचीन मंदिर मैसूर के राजा के समय का है। पिछले कुछ समय में चामुंडी हिल्स मैसुरू के सौंदर्य का दूसरा नाम बन गया है। इसका शांत वातावरण, धार्मिक और सांस्कृतिक सौंदर्य ही चामुंडी हिल्स के आकर्षण का केंद्र है।

माइसुरु से चामुंडी हिल्स 13 किमी दूर है और यहां पर पर्यटकों को प्रकृति और इतिहास दोनों का संगम देखने को मिलता है। मैसुरू आने पर इस खूबसूरत जगह को देखना ना भूलें।

Pc:Big Eyed Sol

वृंदावन गार्डन

वृंदावन गार्डन

वृंदावन गार्डन अपने प्राकृतिक आकर्षण और म्‍यूजिकल फाउंटेन शो के लिए पर्यटकों के बीच मशहूर है। इस खूबसूरत गार्डन में आप कई रंगों और मनमोहक वातावरण का आनंद ले सकते हैं।Pc: Joe Ravi

सेंट फिलोमेना चर्च

सेंट फिलोमेना चर्च

एशिया के सबसे लंबे गिरजाघरों में से एक है सेंट फिलोमेना चर्च जो कि अपनी उत्‍कृष्‍ट वास्‍तुकला और विक्‍टोरियन गोथिक शैली के कारण हज़ारों पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। ये भारत के सबसे प्राचीन गिरजाघरों में से एक है। यह फिलोमेना के रोमन कैथोलिक चर्च को समर्पित है। इस खूबसूरत चर्च के ग्राउंड के अंदर आकर आपको क्राइस्‍ट सदी की कई खूबसूरत पेंटिंग देखने को मिलेंगी।
Pc: Soham Banerjee

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स