Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »क्या आप पूर्व के खूबसूरत गोल्डन ट्राएंगल के बारे में जानते हैं ?

क्या आप पूर्व के खूबसूरत गोल्डन ट्राएंगल के बारे में जानते हैं ?

By Namrata Shastri

भारत में कई पर्यटन स्‍थल हैं जिनमें से कुछ स्‍थानीय लोगों, कुछ घरेलू पर्यटकों तो कुछ विदेशियों के बीच बहुत लोकप्रिय हैं। हालांकि, यहां पर कुछ ऐसी जगहें भी हैं जहां पर हर तरह के पर्यटक और यात्री घूमने आते हैं और इन स्‍थलों पर ही देश का पर्यटन निर्भर करता है। क्‍या आपने गोल्‍डन ट्राएंगल यानि स्‍वर्ण त्रिकोण के बारे में सुना है ? हम भारत के मशहूर गोल्‍डन ट्राएंगल जिसमें आगरा, जयपुर और दिल्‍ली शामिल है, उसकी बात नहीं कर रहे हैं।

आज इस पोस्‍ट के ज़रिए हम आपको पूर्वोत्तर भारत के गोल्‍डन ट्राएंगल के बारे में बताने जा रहे हैं जिसमें पूर्वी भारत के सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्‍थल जैसे कि भुवनेश्‍वर, कोणार्क और पुरी का नाम शामिल है। ये सभी शहर उड़ीसा राज्‍य में स्थित हैं। इसलिए आपको इन तीनों को एकसाथ देखने में अधिक यात्रा नहीं करनी पड़ेगी। तो चलिए जानते हैं पूर्वोत्तर भारत के गोल्‍डन ट्राएंगल के बारे में। 

कोणार्क

कोणार्क

PC-Raveesh Vyas

कोणार्क को कोणार्क सूर्य मंदिर के लिए भी जाना जाता है। दुनियाभर के पर्यटकों के बीच ये मंदिर बहुत मशहूर है। भगवान सूर्य को समर्पित ये एकमात्र मंदिर 13वीं शताब्‍दी में पूर्व गंगा राजवंश द्वारा बनवाया गया था। हालांकि, बाद में इस पर कई राजवंशों की हुकूमत रही और इनमें से कुछ ने इसे नष्‍ट और नुकसान भी पुहंचाया। विशाल पहियों के साथ रथ के आकार में बने इस मंदिर की स्‍थापत्‍यकला शानदार है। इसे पत्‍थरों को काटकर बनाया गया है। इसे भारत में अद्भुत वास्तुकला के नमूनो में से एक माना जाता है। सूर्य कोणार्क मंदिर का नाम यूनेस्‍को द्वारा विश्‍व धरोहर की सूची में भी शामिल है।

दर्शनीय स्‍थल

दर्शनीय स्‍थल

PC-Kshetrabasi.147

कोणार्क सूर्य मंदिर के अलावा आप यहां रामाचंडी मंदिर, आर्कियोलॉजिकल म्‍यूजियम, कुरुमा, कोणार्क बीच, वैष्‍णव मंदिर और अस्‍त्रंगा देख सकते हैं। कोणार्क में ऐतिहासिक स्‍थलों के आसपास कई खूबसूरत गार्डन और पार्क भी हैं।

भुवनेश्‍वर

भुवनेश्‍वर

PC- Government of Odisha

इसे भारत के मंदिरों का शहर कहा जाता है। भारत के हिंदुओं के बीच भुवनेश्‍वर प्रमुख धार्मिक केंद्र के रूप में प्रसिद्ध है। साल भर दुनियाभर से श्रद्धालु इस नगरी में अपने पाप धोने आते हैं। इस शहर का इतिहास हजारों साल पुराना है और यहां पर आकपो कई ऐतिहासिक स्‍थल भी देखने को मिल जाएंगें। यहां पर गुफाओं से लेकर मंदिरों और पार्क से लेकर झीलों तक बहुत कुछ देखने को है। इसे पूर्वोत्तर भारत का सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्‍थल माना जाता है। क्‍या आप भारत के इतिहास और संस्‍कृति से समृद्ध इस प्राचीन शहर को नहीं देखना चाहेंगें ?

दर्शनीय स्‍थल

दर्शनीय स्‍थल

PC- Subhashish Panigrahi

मंदिरों का शहर होने के कारण यहां पर अधिकतम पर्यटन स्‍थलों में प्राचीन मंदिर जैसे लिंगराज मंदिर, राजा रानी मंदिर, मुक्‍तेश्‍वर मंदिर, अनंता वासुदेव मंदिर और राम मंदिर आदि शामिल है। मंदिरों के अलावा यहां पर नंदनकनन जूलॉजिकल पार्क, उदयगिरि और खांडगिरि गुफा, डेरास बांध और बिंदुसागर वॉटर टैंक देख सकते हैं।

पुरी

पुरी

PC- Djrusty

भारत का धार्मिक शहर है पुरी जोकि प्रमुख धार्मिक केंद्र है। ये हिंदू धर्म की चार धाम यात्रा में से एक तीर्थस्‍थान है। ये शहर जगन्‍नाथ मंदिर के लिए सबसे ज्‍यादा प्रसिद्ध है और यहां पर हर साल जगन्‍नाथ रथ यात्रा निकलती है जिसमें शामिल होने दुनियाभर से श्रद्धालु आजे हैं। पुरी अनेक धार्मिक स्‍थलों का गढ़ है। हिंदू मान्‍यताओं के अनुसार इस मंदिर का अस्‍तित्‍व वैदिक काल से है। मंदिरों के अलावा पुरी में आप कई प्राकृतिक स्‍थल भी देख सकते हैं जोकि हर तरह के पर्यटकों को आकर्षित करते हैं। पक्षी प्रेमियों को भी यहां बहुत आनंद आता है।

दर्शनीय स्‍थल

दर्शनीय स्‍थल

PC- Sambit 1982

जगन्‍नाथ पुरी मंदिर के अलावा यहां पर और भी कई खूबसूरत जगहें जैसे पुरी बीच, लोकनाथ मंदिर, पंच तीर्थ की पवित्र नदी, गुंडिचा मंदिर, गांधी पार्क और जिला संग्रहालय हैं। जगन्‍नाथ पुरी मंदिर के अलावा यहां पर और भी कई खूबसूरत जगहें जैसे पुरी बीच, लोकनाथ मंदिर, पंच तीर्थ की पवित्र नदी, गुंडिचा मंदिर, गांधी पार्क और जिला संग्रहालय हैं।

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Nativeplanet sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Nativeplanet website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more